Top

मरीज के पेट में था दर्द, डॉक्‍टर ने लगा दिया सांप काटने का इंजेक्‍शन, मौत

By

Published on 20 Aug 2016 4:54 AM GMT

मरीज के पेट में था दर्द, डॉक्‍टर ने लगा दिया सांप काटने का इंजेक्‍शन, मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइचः नगर कोतवाली क्षेत्र में जिला हॉस्पिटल में एक मरीज की मौत के बाद हंगामा हो गया। परिजनों का आरोप है कि उसे गलत इंजेक्शन दिया गया जिससे उसकी मौत हुई। परिजन हॉस्पिटल के बाहर हंगामा कर रहे हैं। घटना की जानकारी पर सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी समेत कई थानों की फोर्स हॉस्पिटल में पहुंच गई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टर्माटम के लिए भेजा है।

यह भी पढ़ें... VIDEO: मरीज शिफ्ट कराने को लेकर बिगड़े डॉक्‍टर, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

क्‍या है पूरा मामला

-दरगाह थाना क्षेत्र के गुलामअली पुरा निवासी सूरज(25) पुत्र रामाधार की शुक्रवार को तबियत खराब हुई।

-उसके पेट में अचानक दर्द हुआ तो परिजनों उसे जिला हॉस्पिटल ले गए।

-उसे डाॅक्टर ने देखा तो बताया कि इसके लक्षण से लग रहा है कि इसको सांप ने काटा है।

-इसी के आधार पर इमरजेंसी में तैनात स्टाफ ने युवक को सांप काटने का इंजेक्शन लगा दिया।

-इसके बाद परिवार के लोग उसे लेकर झाड़-फूंक कराने चले गए।

-हालत न ठीक होने पर उसे दोबारा लेकर आएं और फिर से उसे इंजेक्शन लगाया गया। जिसके कुछ देर के बाद उसकी मौत हो गई।

-रात में इलाज के दौरान सूरज की मौत हो गई।

-इसके बाद परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टरों ने उसे सांप कांटने वाला इंजेक्शन लगा दिया जिससे मरीज की जान गई।

-इसके बाद परिजन आक्रोशित हो गए और प्रदर्शन करने लगे।

धरने पर बैठे हॉस्पिटल कर्मचारी

-इस घटना के बाद शनिवार सुबह हॉस्पिटल कर्मचारी भी धरने पर बैठ गए।

-कर्मचारियों का कहना है परिजनों ने उनसे मारपीट की है।

-मौके पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

क्या बोले सीएमएस

-मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ओपी पाण्डेय ने बताया कि गुलाम अली पूरा मोहल्ले के रहने वाले 25 साल के सूरज नाम के युवक को परिजन हॉस्पिटल लेकर आए थे।

-जहां डॉक्टरों ने परिजनों से उसे सांप कटाने की आशंका बताते हुए इंजेक्शन लगाया।

-कुछ देर बाद परिजन उसे झाड़-फूंक कराने के लिए लेकर चले गए। सुबह वो लेकर आये तो वो मृत था।

-जिसके बाद वो हंगामा करने लगे, लापरवाही का आरोप गलत है ।

Next Story