Top

पानी की कमी से दर्जनों मोर मरे, वन विभाग के पास नहीं बचाने का उपाय

Sanjay Bhatnagar

Sanjay BhatnagarBy Sanjay Bhatnagar

Published on 13 Jun 2016 3:17 PM GMT

पानी की कमी से दर्जनों मोर मरे, वन विभाग के पास नहीं बचाने का उपाय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कन्नौज: कन्नौज में करीब दर्जन भर मोरों की मौत हो गई है। माना जा रहा है, कि इनकी मौत पानी की कमी से हुई है। लेकिन भीषण गर्मी में पशु-पक्षियों की मौत न हो इसके लिए वन विभाग की तरफ से अब तक कोई प्रयास नहीं किया गया है।

peacock die-scarcity of water-forest department खेतोॆं में बिखरे मोरों के पंख

मर रहे हैं मोर

-राष्ट्रीय पक्षी मोर की मौतों का सिलसिला जारी है।

-कन्नौज के छिबरामऊ क्षेत्र में करीब दर्जन भर मोरों के शव बरामद हो चुके हैं।

-स्थानीय लोगों ने मोरों के मरने की खबर वन विभाग को दी।

peacock die-scarcity of water-forest department डीएफओ कन्नौज, आरके सिंह

-वन विभाग की टीम ने मोरों के शवों का पोस्टमॉर्टम करके इनकी मौत की वजह हीट स्ट्रोक बताया।

-फिलहाल वन विभाग सिर्फ 4 मोरों के मरने की पुष्टि कर रहा है।

peacock die-scarcity of water-forest department गर्मी में प्यास से मर गए मोर

हर साल मरते हैं मोर

-वन विभाग की लापरवाही की चलते हर साल मोरों की मौत होती है।

-कन्नौज में पिछले कुछ वर्षों में ही सैकड़ों मोर मर चुके हैं।

-गर्मियों में इन मोरों के लिए पानी की कोई व्यवस्था नहीं होती।

-कन्नौज के ग्रमीण क्षेत्रों में काफी मोर हैं, लेकिन गर्मियों में या तो ये मर जाते हैं,या इन्हें पलायन करना पड़ता है।

Sanjay Bhatnagar

Sanjay Bhatnagar

Writer is a bi-lingual journalist with experience of about three decades in print media before switching over to digital media. He is a political commentator and covered many political events in India and abroad.

Next Story