×

अमृतसर रेल हादसा: मरने वालों में ज्यादातर यूपी और बिहार के लोग

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 20 Oct 2018 4:29 AM GMT

अमृतसर रेल हादसा: मरने वालों में ज्यादातर यूपी और बिहार के लोग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार को रावण के पुतला दहन कार्यक्रम के दौरान रेलवे ट्रैक पर खड़ा होकर लोगों को तमाशा देखना भारी पड़ गया। यहां डेमू ट्रेन ट्रैक पर खड़े लोगों को रौंदते हुए आगे बढ़ गई। हादसा उस वक्त हुआ जब लोग अमृतसर के नजदीक चौड़ा बाजार में रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन देख रहे थे।

तभी पठानकोट से अमृतसर के लिए गुजर रही डेमू ट्रेन ट्रैक पर आ गई। लोग कुछ समझ पाते इतनी देर में ट्रेन उन्हें चीरते हुए ट्रैक से गुजर गई। ट्रेन की चपेट में आने से करीब 61 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि 70 से ज्यादा लोग घायल हो गये। उन्हें नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां आज भी उनका इलाज जारी है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मरने वालों में ज्यादातर लोग यूपी और बिहार के है। बताया जा रहा है कि रावण पुतला दहन के दौरान ट्रैक के पास लगभग 300 लोग मौजूद थे।

इस घटना के बाद पंजाब सरकार ने शनिवार को एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।इस दौरान सभी दफ्तर, सरकारी संस्थान और शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

ये भी पढ़ें...अमृतसर रेल हादसा: मनोज सिन्हा देर रात घटनास्थल पर पहुंचे, पीयूष गोयल भी भारत के लिए रवाना

रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नम्बर

लोगों की परेशानी को देखते हुए रेलवे की तरफ से हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। इन नंबरों पर कॉल कर परिजन जानकारी जुटा सकेंगे। अमृतसर के लिए हेल्प लाइन नंबर 0183-2223171, 0183-2564485 है। मनावला के लिए हेल्पलाइन नंबर है- रेलवे- 73325, बीएसएनल- 01832440024

सीएम ने किया मुआवजे का एलान

दशहरे के मौके पर हुए रेल हादसे पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए के मुवाअजे की घोषणा की है। घायलों की सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त ईलाज की भी घोषणा की है।

ये भी पढ़ें...अमृतसर रेल हादसा : ट्रेन चालक से हिरासत में पूछताछ

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story