×

Pilibhit: पुलिस ने 24 घंटे में किया खुलासा, चलती कार में गैंगरेप की घटना निकली फर्जी

Pilibhit News: पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा किया है। पुलिस ने कहा कि चलती कार में गैंगरेप की घटना की जानकारी फर्जी पाई गई।

Pranjal Gupata
Updated on: 21 Sep 2022 4:10 PM GMT
Pilibhit News Today
X

मामले को लेकर जानकारी देते हुए एसपी दिनेश कुमार प्रभु। 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Pilibhit: जनपद में बीते दिनों एक पीड़िता ने थाने में दी तहरीर में नौकरी का झांसा देकर बुलाया और कार में बिठा कर नशीला पदार्थ खिलाकर बारी-बारी से बलात्कार करने का आरोप लगाते हुए कई गंभीर धाराओं में मुलादमा दर्ज कराया था। वहीं, पुलिस द्वारा मेडिकल परीक्षण कराने को पीड़िता ने मना कर दिया। घटना की जांच सीओ सिटी व चौकी इंचार्ज सहित सर्विलांस टीम द्वारा कराई गई। जिसमें प्रथम दृष्टता घटना की कहानी फ़र्ज़ी व झूठी निकली,

घटना स्थल पर न तो पीड़िता की लोकेशन दिखी और न ही आरोपियों की लोकेशन दर्शाई गई, जिससे घटना की जानकारी फर्जी पाई गई। इसको लेकर घटना का 24 घंटे के भीतर ही एसपी दिनेश कुमार प्रभु (SP Dinesh Kumar Prabhu) ने प्रैस कॉन्फ्रेंस कर खुलासा कर दिया है। फिलहाल अभी पीड़िता के न्यायालय के समक्ष 164 के बयान जल्द कराने की बात कही गई है।

ये है पूरा मामला

दरअसल मामला थाना सुनगढ़ी इलाके का है जहां 19 सितम्बर को एक युवती ने थाना सुनगढ़ी में एक तहरीर दी थी। तहरीर के माध्यम से बताया गया कि शहर की नवीन मंडी समिति में आढ़ती अमित अग्रवाल ने 31 अगस्त को बैंक में नौकरी दिलाने का झांसा देकर उसको बुलाया और शाम 7 बजे अमित अग्रवाल व अन्य दो साथी उसको कार में बिठाकर ले गए और रास्ते मे मिठाई खिलाई जिससे उसको नशा हो गया उसके बाद बारी बारी तीनो लोगो ने उसके साथ बलात्कार किया। उसके बाद यह बात किसी को न बताने की धमकी देकर व जान से मारने की धमकी देकर जंगरौली पुल के पास छोड़ कर चले गए।

24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने मामले का किया खुलासा

वहीं, पीड़िता ने पुलिस को अपने आप को अनुसूचित जाति का बताया। इसके बाद पुलिस ने उसकी बताई कहानी पर विश्वास करते हुए तत्काल सुनगढ़ी थाने में विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराने को कहा जिसपर पीड़िता ने मेडिकल कराने से इनकार कर दिया। हालांकि पुलिस मामले की जांच में जुट गई, एसपी के आदेश पर घटना की में सीओ सिटी, चौकी इंचार्ज सहित सर्विलांस टीम को लगाया गया। फिलहाल 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया।

रेप की कहानी निकली झूठी

पुलिस जब मामले की जांच में जुटी तब पीड़िता द्वारा बताई गई कहानी इसके विपरीत मिली। पीड़िता की कहानी में घटना स्थल व आरोपी सहित पीड़िता की लोकेशन ट्रेस करने पर घटनास्थल पर किसी भी लोकेशन ट्रेस नही हो पाई। पीड़िता की खुद की लोकेशन दिन में कोर्ट परिसर व शाम 7 बजे उसकी लोकेशन थाना बरखेड़ा व गजरौला इलाके के अमखेड़ा गांव में पाई गई। वहीं, मुख्य आरोपी आढ़ती अमित अग्रवाल की लोकेशन सुबह से शाम तक बरेली जनपद और शाम घटना के समय उसकी लोकेशन सदर कोतवाली इलाके के लाल रोड स्थित उसके घर पाई गई, जो कि घटनास्थल की लोकेशन व तहरीर के आधार पर भिन्न भिन्न पाई गई। फिलहाल घटना के कोई साक्ष्य पुलिस को नही मिले जिससे साक्ष्यों की पुष्टि नही होने पर अंतिम रिपोर्ट विवेचना समाप्त की गई है। वहीं. एसपी का कहना है कि साक्ष्यों के आधार पर अतिशीघ्र विवेचना का निस्तारण किया जाएगा।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story