×

कुंभ में मौजूद हैं बावरिया गिरोह के 30 शातिर सदस्य, कानपुर में हुआ खुलासा

प्रयागराज में आयोजित कुंभ जहां भक्ति और आस्था का मेला है। वहीं जेबकतरों लुटेरों के लिए भी बड़ा मौका बनकर सामने आया है। कुंभ पर बावरिया गिरोह का साया पड़ गया है। पुलिस के मुताबिक बावरिया गिरोह के 30 शातिर सदस्य इस समय कुंभ में मौजूद हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Jan 2019 12:43 PM GMT

कुंभ में मौजूद हैं बावरिया गिरोह के 30 शातिर सदस्य, कानपुर में हुआ खुलासा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर : प्रयागराज में आयोजित कुंभ जहां भक्ति और आस्था का मेला है। वहीं जेबकतरों लुटेरों के लिए भी बड़ा मौका बनकर सामने आया है। कुंभ पर बावरिया गिरोह का साया पड़ गया है। पुलिस के मुताबिक बावरिया गिरोह के 30 शातिर सदस्य इस समय कुंभ में मौजूद हैं।

ये भी देखें :गोपीनाथ मुंडे हत्या मामले में भतीजे धनंजय मुंडे ने रॉ से जांच की मांग की

कैसे मिली जानकारी

मुखबिर से मिली सूचना के बाद हरकत में आई पुलिस ने शहर में बावरिया गिरोह के सदस्यों को पकड़ने के लिए चैकिंग अभियान चलाया। इस दौरान महाराजपुर पुलिस ने दो कारों को पकड़ा। कार में एक दर्जन महिला और पुरुष सवार थे। पूछताछ में उन्होंने कुंभ जाने की बात कही। पुलिस ने जब उनसे कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने बावरिया गिरोह के सदस्य होने की बात कबूली।

इनमें 6 महिलाएं भी हैं। तलाशी में एक सौ सत्तर ग्राम चरस, नकब लगाने के औजार, मोबाइल फोन, फर्जी नंबर प्लेट लगी एक कार बरामद किया गया है। पुलिस के अनुसार पकड़े गए शातिरों ने बताया कि सभी कुंभ में वारदातों को अंजाम देने के इरादे से जा रहे थे। कुंभ में पहले से उनके गिरोह के तीस सदस्य ट्रेन से पहुंच चुके हैं। इस बड़ी जानकारी के बाद आलाधिकारी हरकत में आए और उन्होंने प्रयागराज पुलिस को इसकी जानकारी दी।

ये भी देखें :अखिलेश यादव ने खोला राज, आखिर यूपी में क्यों कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखा

ये पकड़े गए

महारानी पत्नी स्व. जगदीश

सुनीता पत्नी राजबीर

लक्ष्मी पत्नी पत्नी स्व. रामस्वरूप

गुड्डी पत्नी हरी

राजू

खुशबू उर्फ शकुंतला पत्नी रवि

लता पुत्री पप्पू

रवि

शिवकुमार बावरिया उर्फ समुंदर

रवि बावरिया

मीरा पत्नी कालू बावरिया

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story