Top

पुलिस ने तो छोड़ दिया लेकिन whatsapp ने फिर से पकड़वाया

Admin

AdminBy Admin

Published on 8 March 2016 12:05 PM GMT

पुलिस ने तो छोड़ दिया लेकिन whatsapp ने फिर से पकड़वाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: फेसबुक और व्हाट्स-एप जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से एक बार फिर यूपी पुलिस की ढीली कार्यप्रणाली उजागर हुई है। दरअसल, अभद्रता के मामले में पकड़े गए एक युवक को पुलिस ने बिना कार्रवाई छोड दिया, लेकिन जब यह मामला व्हाट्स-एप पर वायरल हुआ तो न सिर्फ मामले में संलिप्त पुलिसकर्मियों को आला अधिकारियों के गुस्से का सामना करना पडा बल्कि छोड़े गये उस आरोपी को फिर से गिरफ्तार करना पड़ा।

क्या है पूरा मामला

-यह मामला बरेली जिले के ग्रीन पार्क कॉलोनी का है।

-सोमवार दोपहर करीब 11 बजे कॉलोनी के मकान नंबर 32 में राष्ट्रीय सूचना केंद्र के प्रधान वैज्ञानिक मनोज शर्मा के घर में एक युवक घुस आया।

-मनोज ने जब युवक से पूछताछ की तो उसने कहा कि वह सूट बेचने आया है।|

-सोसाइटी का पास न होने पर मनोज ने ऐतराज जताया।

-घर में घुसा युवक विवाद करने लगा।

-खबर फैलने पर आसपास के लोग भी वहां पहुंच गए और युवक को घेर लिया।

-पूछताछ में युवक ने अपना नाम मोहम्मद उमेर निवासी झिलमिल कॉलोनी न्यू दिल्ली बताया।

-बिना अनुमति कॉलोनी में घुसने की वजह से लोगों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस ने मामूली पूछताछ कर आरोपी को छोड़ा

-तकरीबन 12:30 बजे जब मनोज शर्मा ने उमेर के खिलाफ कार्रवाई के बाबत जानकारी मांगी तो पुलिस ने बताया कि उसे तो छोड़ दिया गया है।

-मनोज ने उमेर से खुद को खतरा बताते हुए कार्रवाई की बात की और उसे छोडने पर एतराज भी जताया।

'खास बात सामने न आने पर छोड़ा था'

-पूरे मामले में रुहेलखंड चौकी इंचार्ज रविशंकर का कहना है कि हिरासत में लेने के बाद उन्होने बदमाश से कड़ी पूछताछ की।

-पूछताछ में कोई खास बात निकल कर सामने नही आई।

-डिटेल नोट करने के बाद उसको छोड़ दिया गया।

व्हाट्स-एप पर मैसेज से अफसर हरकत में आए

-मनोज ने पूरा मामला व्हाट्स-एप ग्रुप पर लिखकर शेयर किया।

-मनोज ने लिखा कि कार्रवाई के लिए जिसे पुलिस को सौंपा गया, उसे चौकी से छोड़ दिया गया।

-मनोज के इस पोर्ट पर कई कमेंट्स आने लगे।

-इन कमेंट्स में पुलिस कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाया गया।

एसपी सिटी समीर सौरभ ने इन्स्पेक्टर से मांगा जवाब

-व्हाट्स-एप के माध्यम से यह मामला जब एसपी सिटी समीर सौरभ तक पहुंच गया।

-उन्होंने तुरंत ही बारादरी इंस्पेक्टर कमरुल हसन तालाब किया और जमकर फटकार लगाई।

-मामले को तूल पकड़ता देखकर रुहेलखंड चौकी इंचार्ज रविशंकर ने दोबारा बदमाश को पकड़ लिया।

-उसका नाम, पता पहले ही चौकी में लिख लिया गया था।

क्या कहना है एसपी सिटी समीर सौरभ का ने कहा

-एसपी सिटी समीर सौरभ ने कहा मामला मेरी जानकारी में आने के बाद इंस्पेक्टर बारादरी को निर्देश दिए।

-आरोपी को पकड़ लिया गया है।

-उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Admin

Admin

Next Story