Top

अयोध्या जा रहे शिवसैनिकों को पुलिस ने किया नजरबंद, उत्पीड़न का आरोप

Sanjay Bhatnagar

Sanjay BhatnagarBy Sanjay Bhatnagar

Published on 14 Jun 2016 1:32 PM GMT

अयोध्या जा रहे शिवसैनिकों को पुलिस ने किया नजरबंद, उत्पीड़न का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: अयोध्या जा रहे सैकड़ों शिवसैनिकों को पुलिस ने नजरबन्द कर दिया। ये शिव सैनिक अपने ही कार्यालय में 18 घंटे से नजर बंद हैं। शिवसेना राज्य प्रमुख के आह्वान पर प्रदेश भर से हजारों शिव सैनिक संकल्प दिवस के कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए अयोध्या जा रहे थे।

shiv sainik-ayodhya journey-police arrest शिवसेना कार्यालय में पुलिसकर्मी

कर लिया गिरफ्तार

-शिव सेना राज्य प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह ने कहा कि प्रदेश की समाजवादी सरकार ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही हैl

-उन्होंने बताया कि मंगलवार को जब वो अयोध्या जा रहे थे तो बाराबंकी के पास टोल प्लाजा पर पुलिस ने हजारों कार्यकर्ताओ के साथ उन्हें गिरफ्तार कर लियाl

-ठाकुर अनिल सिंह ने कहा कि हिन्दू विरोधी सरकार को उनका उत्पीड़न कर रही है, जिसे आगामी विधानसभा चुनाव में गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे ।

shiv sainik-ayodhya journey-police arrest कानपुर में शिवसेना मुख्यालय

श्रमदान के लिये यात्रा

-उन्होंने बताया कि अयोध्या में एक दर्जन से अधिक ऐसे मंदिर है जिन पर प्रशासन का ताला लगा है।

-एक हफ्ते पहले प्रदेश के गवर्नर राम नाइक से मिल कर उन्हें खुलवाने का आग्रह किया था।

-सैकड़ों साल पुराने इन मंदिरों में 10 साल से पूजा अर्चना नही हुई हैl

-इसी संबंध में 14 जून को को सभी शिव सैनिकों को इकठ्ठा होना था।

-सरयू में स्नान के बाद श्रम दान कर महंत परमहंस के की समाधि स्थल को बनाना थाl

-लेकिन कार्यक्रम से पहले ही शिव सैनिकों को गिरफ्तार कर लिया गयाl

-ठाकुर अनिल सिंह ने NEWZTRACK से फोन पर नजरबंदी की जानकारी दी।

Sanjay Bhatnagar

Sanjay Bhatnagar

Writer is a bi-lingual journalist with experience of about three decades in print media before switching over to digital media. He is a political commentator and covered many political events in India and abroad.

Next Story