×

खबरदार ! ये चीजें बेचीं तो पीसोगे जेल में चक्की, नपेंगे पुलिस वाले भी

पुलिस कमिश्नर का कहना है कि महिलाओं के प्रति अपराध रोकना उनकी पहली प्राथमिकता है। पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को जिम्मेदारी समझनी होगी। हम स्मार्ट पुलिसिंग करेंगे और जनता के प्रति ज्यादा संवेदनशील होकर काम करेंगे।

राम केवी

राम केवीBy राम केवी

Published on 16 Jan 2020 6:21 AM GMT

खबरदार ! ये चीजें बेचीं तो पीसोगे जेल में चक्की, नपेंगे पुलिस वाले भी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पुलिस हो गई सख्त। अभी तक छूट का फायदा उठाकर बच्चों और युवाओं के हाथों में खतरनाक चीजें थमा देन वाले दुकानदारों की अब शामत आनी तय है। यूपी की राजधानी के नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने साफ कर दिया है कि राजधानी में एसिड व चाइनीज मांझा बेचने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसमें जिसकी दुकान पर ये दोनो चीजें बिकती मिल गईं उसका जेल जाना तय है।

इसके अलावा जिन क्षेत्रों में एसिड और चाइनीज मांझा बिकता मिला उसके थाना प्रभारी को भी नहीं बख्शा जाएगा उन्हें भी नाप दिया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले दिनों चाइनीज मांझे से कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं और ये घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। इसी तरह लड़कियों पर एसिड अटैक की घटनाएं भी बढ़ी हैं। जिसके बाद पुलिस अफसर इस बात को लेकर चिंतित हुए हैं कि ये दोनो चीजें कैसे सहजता से आम आदमी के हाथों में पहुंच रही हैं। इसके बाद यह तय पाया गया कि अगर ये चीजें उपलब्ध ही न हों तो इनका दुरुपयोग नहीं हो पाएगा और लोग सुरक्षित रहेंगे।

पुलिस कमिश्नर का कहना है कि महिलाओं के प्रति अपराध रोकना उनकी पहली प्राथमिकता है। पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को जिम्मेदारी समझनी होगी। हम स्मार्ट पुलिसिंग करेंगे और जनता के प्रति ज्यादा संवेदनशील होकर काम करेंगे। हमारे दल 24 घंटे काम करेंगे और एक अधिकारी दिन-रात यहां मौजूद रहेगा, जनता की समस्याओं को सुनेगा और काम करेगा।

सुजीत पांडेय ने कहा कि उनकी और टीम की पूरी कोशिश होगी कि नागरिक केंद्रित सेवाओं में और सुधार किया जाए। यूपी 112, यूपी कॉप एप जैसी जन सुविधाओं को और बेहतर करने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इन सबके लिए उन्हें और अधिक मेहनत करनी होगी। नई व्यवस्था लागू होने के साथ ही नई जिम्मेदारियां मिल रही हैं। इससे चुनौतियां बढ़ जाती हैं।

राम केवी

राम केवी

Next Story