Top

बुलंदशहर गैंगरेप: विक्टिम फैमिली से मिलेंगे CM, कहा- अब बड़े भी नपेंगे

By

Published on 31 July 2016 10:13 AM GMT

बुलंदशहर गैंगरेप: विक्टिम फैमिली से मिलेंगे CM, कहा- अब बड़े भी नपेंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहर: यूपी के बुलंदशहर में नेशनल हाइवे-91 (गाजियाबाद-अलीगढ़) पर नाबालिग बेटी और मां के साथ हुए गैंगरेप के मामले सीएम अखिलेश ने कहा है कि वह गैंगरेप विक्टिम की फैमिली से मिलंगे। इसी के साथ उन्होंने अधिकारियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि आज शाम तक अगर कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं हुई तो पुलिस विभाग में उच्चतम स्तर पर भी कार्यवाही हो सकती है। डीजीपी जावीद अहमद, यूपी के प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पांडा और राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम ने रविवार को घटनास्थल पर पहुंचकर निरीक्षण किया।

बुलंदशहर गैंगरेप मामले में यूपी सरकार ने एसएसपी वैभव कृष्णा, एसपी सिटी राममोहन सिंह , सीओ (सदर) हिमांशु गौरव और दो इंस्पेक्टर को लापरवाही बरतने के आरोप में सस्पेंड कर दिया है। गौरतलब है कि बुलंदशहर मामले में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली देहात, चौकी प्रभारी हाई-वे, हाई-वे पेट्रोलिंग इंचार्ज और बीट कांस्टेबल पहले ही सस्पेंड किये जा चुके हैं।

डीजीपी जावीद अहमद ने बताया कि पुलिस ने अब तक 15 संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है। रेप विक्टिम महिला ने तीन आरोपियों की पहचान कर ली है। जिसमें बबलू फरीदाबाद का रहने वाला है और वह इससे पहले भी कई घटनाओं में जेल जा चुका है, वहीं रईस बुलंदशहर और नरेश उर्फ काकू बठिंडा का रहने वाला है। पुलिस ने बबलू को इस घटना का मुख्य आरोपी बताया है। डीजीपी जावीद अहमद ने कहा कि जल्द ही सभी आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर लेगी।

क्‍या है पूरा मामला ?

-घटना कोतवाली देहात क्षेत्र के दोस्तपुर गांव की है।

-जहां एक फैमिली शुक्रवार देर रात कार से अपने दादा की तेरहवीं में नोएडा से शाहजहांपुर जा रही थी।

-नेशनल हाइवे एनएच 91 पर दोस्तपुर गांव के पास बदमाशों ने सड़क पर एक लोहे की रॉड को फेंक दिया।

-ड्राइवर ने कार का एक्सिल टूटने के भ्रम में सड़क किनारे गाड़ी रोक दी।

-तभी झाड़ियों से निकलकर करीब 7-8 बदमाश हथियारों के साथ बाहर निकल आए।

-बदमाशों ने फैमिली के सदस्यों को बंधक बनाकर वहीं छोड दिया।

-लेकिन एक महिला और उसकी नाबालिग बेटी को अपने साथ कार में हाइवे से करीब 50 मीटर दूर खेतों में ले गए।

-जहां दोनों के साथ बदमाशों ने गैंगरेप रेप किया।

यह भी पढ़ें ... बुलंदशहर के बाद अब फिरोजाबाद में सरेराह लड़की से रेप, खेत में फेंका

100 नंबर नहीं उठा था फोन

-विक्टिम पक्ष का कहना है कि वारदात के बाद उन्होंने 100 नंबर पर कॉल की थी, लेकिन फोन नही उठा था।

-जिसके बाद विक्टिम ने नोएडा में अपने एक रिश्तेदार को फोन कर सूचना दी थी।

-विक्टिम फैमिली का दावा है बदमाशों ने गहने और कैश मिलाकर डेढ़ लाख रुपए की लूटपाट भी की है।

सोती रही पुलिस

-बदमाश करीब दो घंटे तक वारदात को अंजाम देते रहे और इलाके की पुलिस सोती रही।

-सुबह तक बदमाशों का तांडव जारी रहा।

-डरे-सहमे परिवार ने बुलंदशहर थाना देहात में जाकर पुलिस को घटना की जानकारी दी।

-शिकायत के बाद गैंगरेप विक्टिम महिलाओं का मेडिकल कराया गया है।

-पीड़ित परिवार शाहजहांपुर का रहने वाला है जबकि घर के कुछ लोग नोएडा में नौकरी करते हैं।

यह भी पढ़ें ... NH-2 पर बदमाशों का तांडव, लूट के बाद मां-बेटी से किया गैंगरेप

विपक्ष के निशाने पर अखिलेश सरकार

-यूपी बीजेपी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि इस तरह की घटनाएं प्रदेश की बदनामी करवा रहीं हैं।

-इस तरह की घटनाएं प्रमाण हैं कि प्रदेश में सरकार और प्रशासन का भय खत्म हो गया है।

-बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि यूपी में गुंडाराज चरम पर है।

-यह घटना बेहद दर्दनाक और शर्मनाक है। जिम्मेदार पुलिकर्मियों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

-मायावती ने कहा कि सपा सरकार बताए कि मां-बेटी की अस्मत कैसे लौटाई जाएगी।

-कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश सिंह ने कहा कि यूपी में अपराधियों के हौसले चरम पर हैं।

-यह पुष्टि करता है कि अपराधी मस्त हैं और सरकार पस्त है।

वारदात के बाद पुलिस को नहीं मिले थे सबूत

-एनएच-91 पर लूटपाट और एक महिला और उसकी 14 साल की बच्ची से गैंगरेप के मामले में पुलिस को प्रारम्भिक जांच में कुछ नही मिला था।

-रविवार को यूपी के प्रमुख सचिव गृह देवाशीष पांडा, डीजीपी जावेद अहमद, मेरठ रेंज की डीआईजी लक्ष्मी सिंह और डिबाई विधानसभा क्षेत्र के एमएलए गुडडू पंडित घटना स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे थे।

-निरीक्षण के दौरान एमएलए गुडडू पंडित ने घटनास्थल पर पड़ा महिला का पर्स, सोने की चेन और सोने की अंगूठी पुलिस को दी थी।

15 लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में

-बुलंदशहर गैंगरेप केस में यूपी के एडीजी क़ानून व्यवस्था दलजित सिंह चौधरी ने कहा है कि ये गंभीर घटना है।

-दलजीत चौधरी के मुताबिक करीब 15 संदिग्ध जांच के घेरे में हैं।

-आरोपियों की लोकेशन ली जा रही है।

-सच सामने लाने के लिए पुलिस ने सभी संसाधन लगा दिए हैं।

यूपी पुलिस करेगी फास्ट ट्रैक कोर्ट की मांग

-डीजीपी जावीद अहमद ने इस घटना को बेहद ही शर्मनाक बताया है।

-डीजीपी जावीद अहमद ने कहा कि इस घटना के 20 मिनट के बाद पुलिस को सूचना दी गई थी।

-जिसके बाद पुलिस ने ही विक्टिम फैमिली को हॉस्पिटल पहुंचाया।

-डीजीपी को भरोसा है कि इस मामले के दोषी जल्दी ही गिरफ्त में होंगे।

-डीजीपी जावीद अहमद ने कि इस मामले में जल्द सुनवाई के लिए यूपी पुलिस फास्ट ट्रैक कोर्ट की मांग करेगी।

आरोपी जल्द होंगे गिरफ्तार

-आइजी सुजीत पांडेय ने बताया कि घटनास्थल के पास लगे टावरों का बीटीएस उठाया गया है।

-इसमें छह संदिग्ध मोबाइलों की लोकेशन वहीं की पाई गई है।

-इन पर तेजी से काम हो रहा है।

-बदमाशों की तलाश में पुलिस की कई टीमें लगा दी गई हैं।

-उम्मीद है जल्दी परिणाम मिल जाएगा।

इलाज के लिए दिए 50-50 हजार रुपए

-रविवार को पुलिस लाईन पहुंचे डीएम आन्जनीय सिंह ने बताया कि एनएच 91 पर हुई घटना बहुत ही दुखदपूर्ण है।

-उन्होने बताया कि दोनो गैंगरेप विक्टिम महिलाओं को इलाज के लिए रेडक्रांस सोसाइटी की तरफ से 50-50 हजार रुपए दिए गए हैं।

Next Story