Top

इलाज के दौरान 92 साल के बुजुर्ग को बेड़ियों से बांधा, तस्वीर हुई वायरल

सजा काट रहे बुजुर्ग के पैर में जेल प्रहरियों ने इलाज के दौरान बेड़ियां डाल दी। हालांकि ऐसा करना उनको भारी पड़ गया।

Sunil Mishra

Sunil MishraReporter Sunil MishraAshiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 13 May 2021 3:00 PM GMT

police tied
X

इलाज के दौरान 92 साल के बुजुर्ग को बेड़ियों से बाधा (Photo-Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

एटा: यूपी के एटा जिले से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जिले के मुख्यालय स्थित जिला कारागार में हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे 92 वर्षीय बुजुर्ग को पशुओं की भांति व्यवहार किया गया है। सजा काट रहे बुजुर्ग के पैर में जेल प्रहरियों ने इलाज के दौरान बेड़ियां डाल दी। हालांकि ऐसा करना पुलिस कर्मियों को भारी पड़ गया।

एटा जिला कारागार के जेलर कुलदीप सिंह भदौरिया ने बताया कि दिनाँक 6 फरवरी को एक हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा में जेल आया था। 92 वर्षीय बुजुर्ग बावूराम पुत्र वलवंत सिंह निवासी ग्राम कुल्हा हविवपुर की 9 मई को तबीयत खराब हो गई तथा उन्हें सांस लेने में भारी परेशानी होने लगी तो उन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय एटा लाया गया। जहाँ से उन्हें चिकित्सक ने अलीगढ़ मैडिकल कालेज रैफर कर दिया, लेकिन अलीगढ़ में बेड न होने के कारण उन्हे अलीगढ़ से एटा वापस जिला चिकित्सालय में 10 मई को नाॅन कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया।

जहाँ उनके साथ ड्यूटी पर सुरक्षा एवं अभिरक्षा में तैनात जेल से सिपाही व एक पीएसी कर्मी ने उन्हें भर्ती बेड से बुजुर्ग का एक पैर हथकड़ी से व दूसरा जंजीर का सिरा बेड से ताला लगाकर बांध दिया गया। जिसमें जेल के सिपाही वाबूराम को व उसके साथ तैनात पीएसी के सिपाही को इस अमानवीय कृत्य के लिए सस्पैंड कर दिया गया है।

जेल व पीएसी के जवान के एक 92 वर्षीय बुजुर्ग के साथ ऐसे व्यवहार ने पुलिस के चेहरे को एक बार पुनः शर्मसार कर दिया है। लोगों में पुलिस के इस कृत्य की निंदा की जा रही है।

Ashiki

Ashiki

Next Story