Top

Political News: मोदी-योगी की मुलाकात के बाद यूपी पर लगी अंतिम मुहर

उत्तर प्रदेश पर आने वाला है कोई बड़ा फैसला: पहली उत्तर प्रदेश में मंत्रिमंडल फेरबदल की दूसरी प्रदेश का पुनर्गठन कर नए राज्य बुंदेलखण्ड और पश्चिम उत्तर प्रदेश के निर्माण की

Political News: मोदी-योगी की मुलाकात के बाद यूपी पर लगी अंतिम मुहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Lucknow Political News: पिछले एक महीने से उत्तर प्रदेश की राजनीति में चल रही संभावनाओं का परदा अब उठने वाला है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नढ्ढा से दिल्ली में हुई मुलाकात के बाद अब एक-दो दिन में उत्तर प्रदेश पर कोई बड़ा फैसला आने वाला है। राजनीतिक क्षेत्र में इसे लेकर दो तरह की संभावनाएं व्यक्त की जा रही हैं। पहली उत्तर प्रदेश में मंत्रिमंडल फेरबदल की दूसरी प्रदेश का पुनर्गठन कर नए राज्य बुंदेलखण्ड और पश्चिम उत्तर प्रदेश के निर्माण की। उत्तर प्रदेश तीन हिस्सों में बांटने के लिए जल्द ही विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान एक प्रस्ताव केन्द्र सरकार के पास भेजा जाएगा। जिसके बाद केन्द्र सरकार इस पर निर्णय लेगी।


दरअसल राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ छोटे राज्यों का शुरू से ही हिमायती रहा है। अटल विहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान ही तीन राज्यों उत्तराखण्ड झार खण्ड और छत्तीसगढ का शांतिपूर्ण ढंग से गठन हुआ था। यही नहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश की मांग काफी दिनों से चली आ रही है। साथ ही बुंदेलखण्ड भी अपने विकास को लेकर आंसू बहाता रहा हैं। पिछले दो चुनाव में भी भाजपा नेताओं ने छोटे राज्यों के गठन के अपने वादों को दोहराने का काम किया था।

बताया जा रहा है कि इस पूरी कवायद की तैयारी संघ काफी समय से करता आ रहा है। संघ की उसी तैयारी का यह हिस्सा बताया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ इस बात की भी चर्चा है कि रविवार को उत्तर प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार कर दिया जाएगा। इसके लिए सभी विधायकों और मंत्रियों से बात करने के बाद नए मंत्रियों की सूची भी फाइनल हो गयी है। इसमें भाजपा के सहयोगी दलों को हिस्सेदार बनाया जाएगा। दरअसल विधानसभा चुनाव नजदीक हैं और भाजपा अपने सहयोगी दलों का साथ छोडना नहीं चाह रही है। अपना दल एस और निषाद पार्टी भी सरकार में हिस्सा चाह रहे हैं। इस बीच यह भी कहा जा रहा है कि केन्द्रीय मंत्रिमंडल में भी फेरबदल होने जा रहा है जिसमें रिक्त पड़े सहयोगी दलों की जगह को भरने का काम किया जाएगा।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story