×

यहां LIU इंस्पेक्टर के खिलाफ शुरू हुआ पोस्टर वाॅर, लगाए ये गंभीर आरोप

फिलहाल अब देखना होग कि पोस्टर सामने आने के बाद किस तरह से जिला प्रशासन इस मामले पर कार्यवाई करता है। सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार का कहना है कि पोस्टर चिपकाने के मामले मे जांच की जा रही है। पोस्टर मे लगाए गए आरोपों की भी जांच कराई जाएगी।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 12 Feb 2019 11:05 AM GMT

यहां LIU इंस्पेक्टर के खिलाफ शुरू हुआ पोस्टर वाॅर, लगाए ये गंभीर आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर: अभी तक नेताओं के बीच पोस्टर वाॅर होते हुए आपने देखा होगा। लेकिन आज हम आपको दिखाने जा रहे हैं| अधिकारियों पर पोस्टरवार का खेल! जी हां, मामला है यूपी के शाहजहांपुर का जहां एक एलआईयू इंस्पेक्टर के खिलाफ यहां पोस्टर वाॅर शुरू हुआ है।

ये भी पढ़ें— अखिलेश का योगी पर तंज- उनसे क्या सीखोगे- ठोको नीति, रोको नीति

इंस्पेक्टर पर कई संगीन आरोप लगाते हुए कलेक्ट्रेट परिसर से लेकर पूरे जिले मे रातों रात पोस्टर चिपका दिए गए। आज जब लोगो की नजर पड़ी तो हङकंप मच गया। इससे पहले भी एलआईयू इंस्पेक्टर के खिलाफ धरना प्रदर्शन हो चुका है। तीन साल से ज्यादा का समय एलआईयू इंस्पेक्टर को जिले मे हो चुका है।

दरअसल आज जिला कलेक्ट्रेट परिसर मे तमाम पोस्टर चिपके हुए है। जिसमे लिखा है कि एलआईयू प्रभारी नाग की वांबी पर कुंडली मारे बैठा है। पोस्टर मे एलआईयू इंस्पेक्टर को लकड़ी माफियाओं और सट्टा माफियाओं का सहयोगी बताया। साथ ही लिखा कि पाप का घङा भर चुका है। पाप की गठरी पगङी के साथ विदा होने का समय आ चुका है। चार वर्षों से पाप की लकड़ी से कमा रहा अवैध कमाई।

ये भी पढ़ें— फसलों के अवशेष फूंकने के चक्कर में 10 बीघा गन्ना स्वाहा

सुबह होते ही जब लोगो की नजर इन पोस्टर पर पङी तो एलआईयू इंस्पेक्टर राजेंद्र सिंह सलूजा चर्चा मे आ गए। इससे पहले भी इंस्पेक्टर चर्चा मे रहे चुके है। उन पर अवैध धंधों से धन उगाही के आरोप लग चुके है। लोगो ने उनके खिलाफ जिला कलेक्ट्रेट मे धरना प्रदर्शन भी किया था। उसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट ने जांच के आदेश दिए थे। लेकिन एक माह बीत जाने के बाद भी जांच कहां तक पहुची है ये किसी को नही पता है। इतना ही नही एलआईयू इंस्पेक्टर पर कोई कार्यवाई भी नही की गई।

फिलहाल अब देखना होग कि पोस्टर सामने आने के बाद किस तरह से जिला प्रशासन इस मामले पर कार्यवाई करता है। सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार का कहना है कि पोस्टर चिपकाने के मामले मे जांच की जा रही है। पोस्टर मे लगाए गए आरोपों की भी जांच कराई जाएगी।

ये भी पढ़ें— अखिलेश को रोके जाने पर प्रयागराज में बवाल, लाठीचार्ज में धर्मेंद्र यादव घायल

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story