Top

परिवार का पेट नहीं भर पा रही थी ये मजबूर मां तो सबको खिला दिया जहर

बागपत के गौरीपुर जवाहर नगर गांव में रहने वाली महिला राहिल की कहानी दर्द भरी है। राहिल के दो बेटे आजम व नाजिम हैं और दो बेटियां सानिया व नाजमा हैं। घटना के वक्त राहिल का दूसरा बेटा नाजिम और पति घर पर नहीं थे।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 Feb 2016 6:32 AM GMT

परिवार का पेट नहीं भर पा रही थी ये मजबूर मां तो सबको खिला दिया जहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बागपत: गरीबी व लाचारी से तंग आकर जिंदगी देने वाली एक मां इतना मजबूर हो गई कि उसने अपने ही बच्चों को जहर दे दिया।​ जिंदगी के पथरीले रास्तों में जब उसे खुशियों का कोई ठिकाना न दिखा तो उसने अपनी जिंदगी का रास्ता बंद करने की ठान ली। इतना ही नहीं उसने अपने तीन मासूम बच्चों को जहर देने के बाद खुद भी जहर खा लिया। फिलहाल चारों अस्पताल में जिंदगी मौत की जंग लड़ रहे हैं।

 हॉस्पिटल मेें फर्ती राहिल का बेटा आजम हॉस्पिटल मेें फर्ती राहिल का बेटा आजम

क्या है पूरा मामला?

-बागपत के गौरीपुर जवाहर नगर गांव में रहने वाली महिला राहिल की कहानी दर्द भरी है।

-राहिल के दो बेटे आजम व नाजिम हैं और दो बेटियां सानिया व नाजमा हैं।

-घटना के वक्त राहिल का दूसरा बेटा नाजिम और पति घर पर नहीं थे।

इसी बीच राहिल ने पहले घर में मौजूद तीनों बच्चों को जहर दिया फिर खुद भी खा लिया।

राहिल व उसका पूरा परिवार राहिल व उसका पूरा परिवार

जहर खाने के बाद क्या बोला बेटा?

-अस्पताल में भर्ती राहिल के बड़े बेटे आजम से जहर खाने के बारे में पूछा गया।

-उसका कहना है कि जिंदगी अच्छी नहीं लग रही, इसलिए जहर खा लिया।

राहिल की बेटी राहिल की बेटी

क्या कहा गांव के लोगों ने?

-कुछ लोग महिला की दीमागी हालत ठीक नहीं बता रहें हैं।

-गांव के लोगों का कहना है कि महिला इससे पहले भी बच्चों को जहर देने की बात कहती रही हैं।

Newstrack

Newstrack

Next Story