×

प्रसपा का बीजेपी पर तंज, कहा- ''जो भी बीजेपी में शामिल हो गया, समझो गंगा नहा लिया''

प्रसपा के राष्ट्रीय महासचिव राम नरेश यादव ने नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि जब से केंद्र में बीजेपी की सरकार सत्ता में आई है। वो सिर्फ जांच एजेंसियों का दुरपयोग कर लोकतंत्र पर बड़ा हमला करने के काम कर रही है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 Feb 2019 12:34 PM GMT

प्रसपा का बीजेपी पर तंज, कहा- जो भी बीजेपी में शामिल हो गया, समझो गंगा नहा लिया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कानपुर: प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (प्रसपा) ममता बनर्जी के समर्थन में उतर आई है। इसी कड़ी में प्रसपा के राष्ट्रीय महासचिव राम नरेश यादव मिनी (पूर्व एम्एलसी) ने आज मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। श्री यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब से केंद्र की मोदी सरकार सत्ता में आई है। वो सिर्फ जांच एजेंसियों का दुरपयोग कर लोकतंत्र पर बड़ा हमला करने के काम कर रही है। केंद्र सरकार को जिससे भी खतरा महसूस हुआ। उसके पीछे ईडी और सीबीआई को लगा कर परेशान करने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि जब से नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने है। उन्होंने डेमोक्रेसी को ख़त्म करना अपना मकसद बना लिया है। शारदा चिटफंड का सबसे बड़ा हिस्सेदार मुकुल रॉय ने बीजेपी ज्वाईन कर ली तो दूध के धुले हो गए। जो भी बीजेपी में शामिल हो गया उसने गंगा नहा लिया और उसके सभी दाग धुल गए। बीजेपी यह किस तरह की राजनीति कर रही है।

प्रसपा के राष्ट्रीय महासचिव राम नरेश यादव मिनी ने सर्किट हॉउस में प्रेस कांफ्रेंस कर बुधवार को प्रदेश सरकार के खिलाफ होने वाले प्रदर्शन की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए सभी सामान विचार धारा वाले दल मिलकर एक साथ लोकसभा चुनाव लड़े। लोकसभा चुनाव में हमारी कांग्रेस पार्टी से बात चल रही है यदि गठबंधन होता है तो यह बहुत अच्छी बात है। गठबंधन के बाद ही दोनों एलायंस तय करेगे कि किसको कहा से मैदान में उतारना है।

ये भी पढ़ें... भाई अखिलेश के बचाव में उतरे प्रसपा नेता आदित्य, कहा- CBI की कार्रवाई बीजेपी का राजनीतिक स्टंट

उन्होंने कोलकाता मामले पर बोलते हुए कहा कि जब से यह बीजेपी केंद्र की सत्ता में आई है। इन्होने जितनी भी स्वतंत्र जाँच एजेंसी थी उसका दुर्प्रयोग किया जिसका नतीजा पूरे देश ने देखा। इतिहास में पहली बार आरबीआई के गवर्नर को इस्तीफा देना पड़ा। सुप्रीम कोर्ट के जजों को प्रेस कांफ्रेंस करनी पड़ी। सत्ता में बैठकर अपने विरोधी को दबाने के लिए इन संस्थाओ का इस्तेमाल करना इससे ज्यादा ख़राब बात कोई नही हो सकती है।

कोलकाता भी उसी का पार्ट है यदि करप्शन हुआ है तो उसकी जाँच होनी चाहिए। लेकिन यह क्या बात है आप के साथ आ गए तो पाकसाफ हो गए गंगा नहा लिया। मुकुल रॉय जब तक ममता के साथ थे जो इस करप्शन के हिस्सेदार थे जिस दिन से बीजेपी के साथ आ गए तो साफ़ हो गए l सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस कमिश्नर की गिरफ़्तारी पर रोक लगा दी है।

उन्होंने कहा कि किसान बेहाल है, परंतु भारत के प्रधानमंत्री को इतनी भी फुर्सत नहीं है की, उसकी सुध ले सके। खोखले भाषण, बेबुनियाद बजट आम जनमानस को बेवकूफ बनाया जा रहा है। फास्फेटिक उर्वरकों के दामों में बेतहाशा वृद्धि की गई 50 किलो की बोरी की जगह 45 किलो की बोरी करके खुलेआम डाका डाला गया।

इसके बदले में जले में नमक छिड़कने जैसा है। आवारा पशुओं की वजह से जो फसलें चौपट हो रही हैं जिसका कोई मुआवजा किसानों तक नहीं पहुंचता है और जो तमाम आवारा पशु आए दिन एक्सीडेंट का कारक बन रहे हैं उनसे मुक्ति के लिए कोई स्पष्ट नीति सरकार के पास नहीं है। यही नहीं जिस गौ माता को आप पूजते हैं। वह भूख से तड़प तड़प कर मर रही है।

ये भी पढ़ें...प्रसपा 6 फरवरी को योगी सरकार के खिलाफ करेगी प्रदर्शन

शिवपाल सिंह यादव फैन्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष आशीष चौबे ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र एवं प्रदेश सरकार की इन्हीं नीतियों के चलते प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) संपूर्ण उत्तर प्रदेश के हर जनपद मैं दिनांक 6 फरवरी 2019 को कानपुर नगर एवं कानपुर (ग्रामीण) संगठन के साथ धरना प्रदर्शन करके भीषण रूप से विरोध प्रकट करेंगे।

इस कार्यक्रम में एक ज्ञापन जिलाधिकारी कानपुर नगर के माध्यम से महामहिम राज्यपाल उत्तर प्रदेश को भेजा जाएगा। जिसमें भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश एवं केंद्र सरकार के फेल होने की वजह से किसानों को अपनी फसल का मूल्य खुद तय करने के लिए किसान आयोग के गठन की मांग की जाएगी। पिछड़ों की जाति आधारित जनगणना कराकर उनके हकों की लूट को रोकने के लिए, महिलाओं, अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचार, शिक्षामित्रों के लिए भारत सरकार का अभी तक कानून ना बनाना और उनका समायोजन ना होना, उत्तर प्रदेश की जर्जर कानून व्यवस्था जिसके चलते जंगलराज की स्थिति उत्पन्न हो गई है।

उसके खात्मे के लिए, भ्रष्टाचार पर सख्ती से रोक लगाने के लिए, दैनिक मजदूरी बढ़ाने के लिए, रोजगार, दवाई व पढ़ाई मुफ्त करवाने के लिए, समाज में आर्थिक समानता के लिए मांग की जाएगी। इसके साथ ही पुरानी पेंशन नीति लागू कराने की पुरजोर मांग प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया करेगी।

ये भी पढ़ें...प्रसपा ने राहुल से पूछा, MP को महाराष्ट्र और गुजरात बनाना चाहते हैं कमलनाथ?

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story