Top

प्रियंका होंगी चेहरा-400 करोड़ खर्चा, पर PK का टारगेट सिर्फ सौ सीटें?

Admin

AdminBy Admin

Published on 29 March 2016 5:20 PM GMT

प्रियंका होंगी चेहरा-400 करोड़ खर्चा, पर PK का टारगेट सिर्फ सौ सीटें?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: आगामी विधानसभा के लिए कांग्रेस के स्ट्रैटजि‍स्ट प्रशांत किशोर यूपी में पार्टी का मुख्य चेहरा प्रियंका गांधी वाड्रा को बनाना चाहते हैं। इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस चुनाव में 100 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रहे पीके कांग्रेस से 400 करोड़ खर्च करवा सकते हैं। यानी हर एमएलए के लिए कांग्रेस चार करोड़ रुपए खर्च करेगी।

उठने लगे सवाल...

इस बीच राजनीतिक हलकों में यह सवाल उठने लगा है कि फिर इसमें पीके का कमाल क्या होगा? बीजेपी, एसपी, बीएसपी सभी पार्टियां अपने दम पर सरकार बनाने के लिए लड़ रहीं हैं तो कांग्रेस किंग मेकर की भूमिका से ही संतुष्ट क्यों है? वह भी तब जबकि प्रियंका गांधी को चेहरा बनाया जाएगा और हर 400 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

-राजनीतिक जानकारों का कहना है कि यदि कांग्रेस पार्टी प्रियंका को चेहरा बना ले तो पार्टी सत्ता तक खुद ही पहुंच सकती है। फिर पीके ने 100 सीटों को ही लक्ष्य क्यों बनाया है? वह अपना कमाल कहां दिखाएंगे?

-लोकसभा चुनाव और बिहार चुनाव के बाद तो उनकी ब्रांडिंग इस रूप में की गई है कि वह अकेले दम पर किसी को चुनाव जिता सकते हैं। यदि यह सच है तो फिर यूपी में वह कांग्रेस की सरकार बनवाने का लक्ष्य लेकर क्यों नहीं चल रहे हैं?

-हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि पीके यूपी में कांग्रेस की हालत को समझ चुके हैं। कार्यकर्ताओं का मनोबल और राजनीतिक समीकरण ऐसे नहीं हैं कि पीके इससे बड़ा लक्ष्य तय कर सकें।

यह भी पढ़ें... PK की पॉलिसी को पलीता लगाते कांग्रेसी, अब तक 18 जिलों की लिस्ट ही भेजी

चुनाव को लेकर क्या है किशोर का प्लान?

-इकोनॉमिक टाइम्स ने पार्टी लीडर्स और प्रशांत किशोर से जुड़े दर्जनों लोगों से बात कर रिपोर्ट छापी है।

-इसमें यह जानने की कोशि‍श की गई है कि कांग्रेस का आने वाले चुनाव में यूपी को लेकर क्या प्लान है?

-किशोर के करीबियों ने बताया कि पीके शुरू से ही कह रहे हैं कि पार्टी नेताओं को प्रियंका के रोल को लेकर संशय में नहीं रहना चाहिए।

-यूपी चुनाव के लि‍ए प्रशांत ने 500 लोगों की स्ट्रैटजी टीम बनाई है।

-यह टीम राहुल गांधी की 200 रैलियां और बिहार की तरह यूपी वि‍धानसभा की 403 सीटों के लिए एक ग्रैंड अलायंस बनवाने में मदद करेगी।

यूपी में गेम-चेंजर की जरूरत

-इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आईपीएसी) से जुड़े एक मेंबर के मुताबिक, किशोर का मानना है कि यूपी में कांग्रेस को अब गेम-चेंजर की जरूरत है। प्रियंका के अंदर ये काबिलियत है।

-बता दें, कांग्रेस ने यूपी में 2012 में केवल 28 सीटें ही जीती थीं। एसपी, बीएसपी और बीजेपी तीनों उससे आगे थीं।

-ये हाल तब था, जब राहुल ने 2012 में काफी कैंपने किया था।

कांग्रेसी नेता ने बताया- प्रियंका को किया जा रहा प्रोजेक्ट

-एक सीनियर कांग्रेसी नेता ने बताया कि किशोर यूपी में सीएम कैंडिडेट के लिए प्रियंका को प्रोजेक्ट करने के लिए सोच रहे हैं।

-व‍ह चाहते हैं कि प्रियंका यहां अहम रोल प्ले करें। हालांकि, ये काफी मुश्किल भी है।

-उन्होंने (कांग्रेसी नेता) ने बताया कि वह खुद भी किशोर के इस प्लान से सहमत हैं कि यूपी में गेम-चेंजर की जरूरत है।

हर डिस्ट्र‍िक्ट में चलाया जाएगा कैंपेन

-इसके अलावा प्रशांत किशोर सलमान खुर्शीद, जितिन प्रसाद, आरपीएन सिंह जैसे नेताओं को भी यूपी के चुनावों में आगे कर सकते हैं।

-इन सबके अलावा कांग्रेस का जेडीयू, आरजेडी, आरएलडी जैसी पार्टियों से अलायंस करके उसे 100 सीटों तक पहुंचाया जा सकता है।

-किशोर का लक्ष्य है कि अगर 100 सीटें भी कांग्रेस को मिलती हैं तो असेंबली हंग हो जाएगी और पार्टी 'की-प्लेयर' के रूप में उभरेगी।

-किशोर यूपी के लोगों को उनके रीजन के हिसाब से स्लोगन के जरिए सीधा मैसेज देंगे। साथ ही यूपी के हर डिस्ट्रिक्ट में कैंपेन चलाएंगे।

कांग्रेस बने किंगमेकर

-मंगलवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग की प्रादेशिक बैठक में भी जिस बात पर चर्चा हुई वह यही थी कि अगली सरकार बिना कांग्रेस के नहीं बन पाएगी। -अल्पसंख्यक विभाग की इस मीटिंग में हिस्सा लेने पहुंचे कई नेताओं ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि मीटिंग में अल्पसंख्यकों को एकजुट होकर काम करने और कांग्रेस को मजबूत स्थिति में लाने की बात पर जोर दिया गया। जिससे आगामी सरकार में कांग्रेस का अहम रोल रहे।

Admin

Admin

Next Story