Top

मिशन यूपी पर 10 से काम शुरू करेंगे प्रशांत किशोर, नापेंगे जमीनी हकीकत

Admin

AdminBy Admin

Published on 3 March 2016 11:24 AM GMT

मिशन यूपी पर 10 से काम शुरू करेंगे प्रशांत किशोर, नापेंगे जमीनी हकीकत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी के बाद बिहार में नीतिश के चुनावी सलाहकार रह चुके प्रशांत किशोर अब यूपी और पंजाब में कांग्रेस की नैया संभालेंगे। बुधवार को नई दिल्ली में चार घंटे मैराथन बैठक के बाद वे 10 मार्च को लखनऊ आएंगे। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय नेहरू भवन में यूपी में पार्टी के नेताओं के साथ चुनाव प्रचार की रणनीति पर चर्चा करेंगे। वह यूपी में कांग्रेस की जमीनी हकीकत को भी समझने की कोशिश करेंगे। बुधवार देर शाम कांगेस पार्टी की हाई कोर मीटिंग में आगामी विधानसभा चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी उन्हें सौंपने का फैसला लिया गया। बता दें कि वर्तमान में प्रशांत बिहार सरकार में सीएम के सलाहकार हैं। वह पंजाब चुनाव में कांग्रेस की स्ट्रेट्जी तैयार कर रहे हैं।

नहीं पहुंचे खुर्शीद और बेनी

-राहुल गांधी की मौजूदगी में नई दिल्ली में हुई बैठक में पार्टी के सभी बड़े नेता मौजूद थे।

-यूपी कांग्रेस के भी वरिष्ठ नेताओं को बुलाया गया था। लेकिन सलमान खुर्शीद और बेनी प्रसाद वर्मा नहीं पहुंचे।

कांग्रेस नेताओं का बढ़ा हौसला

काग्रेस पार्टी आलाकमान के इस फैसले से प्रदेश कांगेस नेताओं का हौसला बढ़ गया है। नाम न छापने की शर्त पर एक स्थानीय नेता का कहना है कि इससे पार्टी को फायदा मिलेगा और अगले चुनाव में कांग्रेस मजबूत स्थिति में आ जाएगी।

बैकरूम ऑपरेशंस के माहिर हैं प्रशांत किशोर

-2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी और बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार के प्रचार में प्रशांत किशोर परदे के पीछे खास भूमिका निभा चुके हैं।

-बिहार में बहार हो नीतिशे कुमार हो नारा चुनाव में काफी लोकप्रिय हुआ था। ‘बैकरूम ऑपरेशंस’ का उन्हें माहिर माना जाने लगा है।

मोदी की चाय पर चर्चा था प्रशांत किशोर का आईडिया

लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान नरेंद्र मोदी को ‘चाय पर चर्चा’ का आइडिया प्रशांत किशोर ने ही दिया था। वहीं नीतीश के चुनाव प्रचार के दौरान ‘पर्चे पर चर्चा’ को लेकर आए।

Admin

Admin

Next Story