×

जारी हुआ ऑनलाइन फॉर्म, फंसे छात्र-छात्राओं को घर भेजने की तैयारी

गौतमबुद्ध नगर जिलें में दूसरे राज्यों के फंसे छात्रों के लिए खुशखबरी है। गौतमबुद्ध नगर यानी नोएडा में जो छात्र फंसे है वो अब अपने घर वापस जा सकते हैं।

Vidushi Mishra
Published on: 1 May 2020 1:03 PM GMT
जारी हुआ ऑनलाइन फॉर्म, फंसे छात्र-छात्राओं को घर भेजने की तैयारी
X
जारी हुआ ऑनलाइन फॉर्म, फंसे छात्र-छात्राओं को घर भेजने की तैयारी
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ। गौतमबुद्ध नगर जिलें में दूसरे राज्यों के फंसे छात्रों के लिए खुशखबरी है। गौतमबुद्ध नगर यानी नोएडा में जो छात्र फंसे है वो अब अपने घर वापस जा सकते हैं। इसके लिए गौतमबुद्ध नगर के जिला प्रशासन ने ऑनलाइन फॉर्म जारी किया है। यहां रह रहे छात्र उस फॉर्म को भरेंगे। उसके बाद उनको यहां से भेजने की व्यवस्था की जाएगी।

ये भी पढ़ें...नासिक से भोपाल और जयपुर से पटना के लिए ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेन’

छात्रों को घर भेजने के लिए प्रयासरत

जिला अधिकारी सुहास एल वाई ने शुक्रवार को बताया कि संबंधित फॉर्म में छात्रों के नाम, पते के साथ परिजन की डीटेल, कोर्स और यूनिवर्सिटी के अलावा संबंधित राज्य की जानकारी मांगी गई है। नोएडा में लॉकडाउन के चलते फंसे छात्र इस फॉर्म को भर सकते हैं।

इसके बाद उनसे ईमेल या फिर एसएमएस के जरिए संपर्क किया जाएगा। यूपी सरकार के आदेशों के अनुसार, गौतमबुद्धनगर प्रशासन फंसे हुए छात्रों को घर भेजने के लिए प्रयासरत है।

छात्र अपना ब्योरा फॉर्म में भरेंगे। उसके बाद उनसे एसएमएस और मेल के माध्यम से संपर्क किया जाएगा। यह फॉर्म जिला प्रशासन के वेबसाइट और ट्विटर हैंडल @deptgbn पर उपलब्ध कराए गए है।

ये भी पढ़ें...नासिक से भोपाल और जयपुर से पटना के लिए ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेन’

जिस जिलें में जाना है

इस फार्म में छात्र या छात्रा को अपना नाम, आयु, लिंग, संरक्षक का नाम, संरक्षक का फोन नम्बर, विश्वविद्यालय का नाम, किए जा रहे कोर्स का डिटेल, आधार नम्बर, वर्तमान पता, वर्तमान जिला, विश्वविद्यालय या कालेज का नाम, वर्तमान पते की पिन कोड़ संख्या, जिस जिलें में जाना है वहां का और प्रदेश का नाम व पिन कोड, मोबाइल नम्बर और ई-मेल पता भर कर आनलाइन सबमिट करना है।

इसके बाद जिला प्रशासन उनके ई-मेल या एसएमएस के जरिए संपर्क करके उन्हे उनके जिले में भेजने की व्यवस्था करेंगे।

बताते चले कि इससे पूर्व बीते बुधवार को भी योगी सरकार ने प्रयागराज में फंसे हजारों छात्र-छात्राओं को उनके जिले भिजवाया था। यह सभी छात्र-छात्राये प्रयागराज में पढ़ाई या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे।

ये भी पढ़ें...पिस्टल, कारतूस और बाइक, दो इनामी समेत चार गिरफ्त में

अगर किसी तरह की दिक्कत

बुधवार को प्रयागराज से बस के जरिए इन छात्र-छात्राओं को उनके जिले में छोड़ा गया। जिलों में पहुंचने पर इन छात्र-छात्राओं का चिकित्सकीय परीक्षण कराने के बाद इन्हे क्वारन्टाइन किया गया।

जिला प्रशासन ने सभी छात्र-छात्राओं से होम क्वारन्टाइन करने के लिए घर भेजते हुए उनसे घरों में सुरक्षित रहने की हिदायत देते हुए कहा गया कि होम क्वाइन्टाइन रहने के दौरान अगर किसी तरह की दिक्कत पेश आती है तो तुरंत अधिकारियों से सम्पर्क करें।

इस दौरान अपने जिले और घर पहुंचे छात्र-छात्राओं ने मीडिया से अपनी बात रखते हुए मुख्यमंत्री योगी को धन्यवाद भी दिया।

ये भी पढ़ें...पिस्टल, कारतूस और बाइक, दो इनामी समेत चार गिरफ्त में

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story