×

President Mathura Visit Monday: 7 किलोमीटर के रास्ते में तैनात होंगे 1350 पुलिस कर्मी, हेलीकॉप्टर की हुई ट्रायल लैंडिंग

President Mathura Visit: देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) अपना कार्यकाल पूरा होने से पहले दूसरी बार कान्हा की नगरी मथुरा पहुंच रहे हैं ।

Nitin Gautam
Updated on: 2022-06-26T22:24:48+05:30
1350 police personnel will be deployed in 7 km, trial landing of helicopter
X

राष्ट्रपति का मथुरा दौरा: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Mathura News: देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) अपना कार्यकाल पूरा होने से पहले दूसरी बार कान्हा की नगरी मथुरा पहुंच रहे हैं । करीब 2 घंटे तक कान्हा की नगरी में रहने के दौरान राष्ट्रपति भक्ति भाव के रंग मे नजर आएंगे तो वहीं निराश्रित विधवावों से मुलाकत के दौरान एक मार्गदर्शक के रुप में उनसे मुलाकात करते हुए दिखाई देंगे । रामनाथ कोविंद क्योंकि वृंदावन आ रहे हैं और उनकी वृंदावन यात्रा को बंदरो के आतंक से सकुशल सम्पन्न कराने के लिऐ ज़िला प्रशासन ने बड़ी संख्या में लंगूरो को तैनात किया है जो रामनाथ कोविंद के साथ साथ उनके चश्मे की विशेष रूप से रक्षा करेगें ।

महामहिम राष्ट्रपति सोमवार को मथुरा दौरे पर आ रहे हैं। ढाई घंटे के मथुरा दौरे के दौरान वह निराश्रित और बेसहारा महिलाओं के आश्रय स्थल कृष्णा कुटीर व भगवान बांके बिहारी के दर्शन करेंगे। राष्ट्रपति के मथुरा दौरे के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। राष्ट्रपति की सुरक्षा व्यवस्था 7 जोन व 20 सेक्टर में विभाजित रहेगी।




हेलीकॉप्टर की हुई ट्रायल लैंडिंग

महामहिम राष्ट्रपति सोमवार को मथुरा दौरे पर रहेंगे। ढाई घंटे के लिए वृंदावन आ रहे महामहिम के आने से पूर्व हेलीकॉप्टर की ट्रायल लैंडिंग की गई । कृष्णा कुटीर के समीप बने हेलीपेड पर वायु सेना के हेलीकॉप्टर ने ट्रायल लैंडिंग की गई। लैंडिंग करने के कुछ देर बाद हेलीकॉप्टर फिर टेक ऑफ कर गया।


7 एस पी, 20 सीओ संभालेंगे सुरक्षा की कमान

राष्ट्रपति के वृंदावन आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहेगी। कृष्णा कुटीर ,बांके बिहारी मंदिर और उनके आने जाने के रास्ते को 7 जोन और 20 सेक्टर में बांटा गया है। जोन की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपी स्तर के अधिकारी पर रहेगी जबकि सेक्टर की सुरक्षा सीओ करेंगे। सुरक्षा व्यवस्था के लिए मथुरा के अलावा आगरा जोन से भी पुलिस फोर्स आ रही है।




सुरक्षा में यह रहेंगे तैनात

राष्ट्रपति के वृंदावन आगमन पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल उनकी अगुबानी करेंगे। अति विशिष्ट की सुरक्षा के लिए चप्पे चप्पे पर पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे। सुरक्षा में 7 एसपी, 12 एएसपी,20 सीओ,40 इंस्पेक्टर, 120 महिला पुरुष एएसआई , 600 सिपाही के अलावा पीएसी की 5 कंपनी तैनात रहेंगी। वहीं खुफिया विभाग एलआईयू, आईबी, मिल्ट्री इंटेलिजेंस के लोग भी हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं।


ब्रीफिंग में सभी अधिकारियो को दिए गए निर्देश

राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगने वाला पुलिस बल वृंदावन पहुंच गया है । जिसके बाद adg आगरा राजीव कृष्ण , आईजी नचिकेता झा एसएसपी गौरव ग्रोबर ने अधीनस्थ अधिकारी v कर्मचारियों को दिशा निर्देश दिए । सभी सुरक्षा कर्मियों को उनके ड्यूटी प्वाइंट पर तैनात कर दिया जायेगा। राष्ट्रपति कृष्णा कुटीर हेलीपेड से बांके बिहारी मंदिर जायेंगे। इस दौरान वह करीब 7 किलोमीटर का सफर तय करेंगे। कृष्णा कुटीर से लेकर बांके बिहारी मंदिर तक चप्पे चप्पे पर सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगे।


बांके बिहारी मंदिर तक जायेंगे गोल्फ कार से

राष्ट्रपति कृष्णा कुटीर से सड़क मार्ग से वीआईपी रोड होते हुए बांके बिहारी मंदिर पहुंचेंगे। यहां वह अपनी कार से उतर कर गोल्फ कार से करीब 50 मीटर का फासला तय करेंगे। मंदिर पहुंचने पर सेवायत गोस्वामी उनको भगवान बांके बिहारी के दर्शन कराएंगे और पूजन अर्चन कराएंगे। करीब 40 मिनट तक मंदिर में रहने के बाद राष्ट्रपति कृष्णा कुटीर के लिए रवाना हो जाएंगे।

कृष्णा कुटीर में तैयारिया हुई पूरी महामहीम का है बस इंतजार

निराश्रित और बेसहारा माताओं के लिए केंद्रीय महिला एवम बाल विकास मंत्रालय द्वारा बनाए गए कृष्णा कुटीर में तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। राष्ट्रपति का यहां माताएं तिलक लगाकर स्वागत करेंगी जिसके बाद वह इस परिसर में बने माधव हाल में माताओं के साथ बातचीत करेंगे। इस दौरान राष्ट्रपति हाई टी भी माताओं के साथ लेंगे।


राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगेंगे लंगूर: वृंदावन में बंदरों की बड़ी संख्या को देखते हुए लिया निर्णय

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद सोमवार को मथुरा के वृंदावन में रहेंगे। राष्ट्रपति यहां निराश्रित और बेसहारा माताओं से मुलाकात करेंगे वहीं भगवान बांके बिहारी जी के दर्शन भी करेंगे। राष्ट्रपति के दौरे के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं इसके साथ ही 48 लंगूर तैनात रहने की भी बात सामने आई हे ।


बांके बिहारी मंदिर से कृष्णा कुटीर तक रहेंगे लंगूर

राष्ट्रपति कृष्णा कुटीर के समीप हेलीकॉप्टर से उतरकर सड़क मार्ग द्वारा बांके बिहारी मंदिर पहुंचेंगे। बांके बिहारी मंदिर के आसपास बंदरों की बड़ी संख्या है। बंदर यहां चश्मे , पर्स,मोबाइल छीन कर ले जाते हैं। क्योंकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी चश्मा लगाते हैं और बंदर उनका चश्मा न ले जाए इसके लिए प्रशासन ने ट्रेंड लंगूर की तैनाती की है। बांके बिहारी मंदिर से लेकर कृष्णा कुटीर तक 48 लंगूर तैनात रहेंगे।


वन विभाग को दी जिम्मेदारी

प्रशासन ने ट्रेंड लंगूर तैनात करने की जिम्मेदारी वन विभाग को दी गई। जिला वन अधिकारी ने ट्रेंड लंगूर लाने के लिए अपने अधीनस्थों को लगा दिया है । लंगूर बांके बिहारी मंदिर ,वीआईपी पार्किंग से बांके बिहारी मंदिर ऑर कृष्णा कुटीर पर लगाए जायेंगे। लंगूर के साथ ट्रेनर, वन विभाग के कर्मचारी और पुलिस कर्मी भी मौजूद रहेंगे। यह लंगूर सुबह 9 बजे से राष्ट्रपति के जाने तक तैनात रहेंगे।

तैयारियों को दिया अंतिम रूप

राष्ट्रपति,राज्यपाल और मुख्यमंत्री के वृंदावन दौरे को लेकर प्रशासन और पुलिस अधिकारियों ने अंतिम रूप दे दिया है। सुरक्षा के लिए ब्रीफिंग, डी ब्रीफिंग कर ली गई है। कृष्णा कुटीर से बांके बिहारी मंदिर तक 7 किलोमीटर के रास्ते में 1350 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। एसएसपी गौरव ग्रोवर ने बताया कि ब्रीफिंग में सभी पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगा दी गई है। सभी अधिकारियों ने ड्यूटी प्वाइंट चैक कर लिए हैं फोर्स की मौजूदगी चैक कर ली गई है। पुख्ता सुरक्षा घेरे में वीआईपी विजिट पूरी हो इसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस तैयार है।

4 माता करेंगी स्वागत,6 जायेंगी बांके बिहारी मंदिर

राष्ट्रपति के वृंदावन आगमन पर कृष्णा कुटीर में उनका स्वागत वहां रह रही 4 माताएं तिलक लगाकर स्वागत करेंगी। इसके बाद राष्ट्रपति,राज्यपाल और मुख्यमंत्री बांके बिहारी मंदिर जायेंगे। इस दौरान उनके साथ 6 माताएं भी बांके बिहारी के दर्शन करने जायेंगी। दर्शन करने के बाद महामहिम का काफिला कृष्णा कुटीर पहुंचेगा जहां वह माताओं के साथ हाई टी लेंगे। और फिर रामनाथ कोविद दिल्ली राष्ट्रपति भवन के लिए रवाना हो जाएंगे ।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story