×

Basti News: कारगिल दिवस पर जिलाधिकारी ने कहा- हम सबको भारतीय सेना के पराक्रम पर गर्व

कारगिल विजय दिवस के अवसर पर जिले के डीएम व एसपी ने बच्चों को संबोधित किया व राष्ट्र के लिए सभी को तैयार रहने के लिए कहा

Amril Lal

Amril LalReport Amril LalDeepak RajPublished By Deepak Raj

Published on 26 July 2021 3:59 PM GMT

Celebrated Kargil vijay diwas celebrated with full fervor
X
कारगिल विजय दिवस समारोह के दौरान बस्ती के आला जिलाधिकारी व एसपी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Basti News: बस्ती जिले में कारगिल युद्ध की विजय के 22 वर्ष हमारे लिए गर्व के वर्ष हैं। 26 जुलाई 1999 को इसी दिन भारतीय सेना ने कारगिल युद्ध के दौरान चलाये गये ऑपरेशन विजय को सफलता पूर्वक अंजाम दिया था। इसीलिए इस दिवस को कारगिल दिवस के रूप में पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता रहा है। जिला सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास बोर्ड, एनसीसीसी व सनातन धर्मी संस्था के संयुक्त तत्त्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई।

जिलाधिकारी बस्ती सौम्या अग्रवाल ने उपस्थित एनसीसी कैडेट्स व अन्य लोगों को संबोधित किया

इस दौरान जिलाधिकारी बस्ती सौम्या अग्रवाल ने उपस्थित एनसीसी कैडेट्स, पूर्व सैनिकों व शहर के गणमान्य नागरिको को सम्बोधित करते हुये कहा कि हम सबको भारतीय सेना के पराक्रम पर गर्व है, कारगिल युद्ध कई मामलों में महत्वपूर्ण माना जाता है, जहाँ एक तरफ भारतीय थल सेना ने वहीं दूसरी तरफ वायु सेना के विमानों ने अत्यन्त ऊंचाई पर अपने रण कौशल से विजय पाई वहीं दुनिया भर को भारतीय सेना की ताकत का एहसास कराया।


जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल कारगिल दिवस के दिन शहिदों को श्रद्धांजलि अर्पित करती हुईं


उन्होंने आयोजकों को सुंदर आयोजन के लिये शुभकामनाएं दीं। पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि 22 वर्ष पूर्व 5000 मीटर से अधिक ऊंचाई पर स्थित टाइगर हिल पर जब भारतीय सेना तिरंगा फहराया उस वक्त देश के प्रत्येक व्यक्ति के मन में सुरक्षा। जिला सैनिक कल्याण बोर्ड अधिकारी कैप्टन बिजेंद्र ने कहा कि सेना के अदम्य साहस और वीरता को हर भारतीय को प्रणाम करना चाहिये।

शहीदों के पराक्रम और बलिदानों की यादें हम सभी के जेहन में तरोताजा कर दीं हैं


सेना में जो सैनिक कारगिल जैसे युद्ध मे लड़ाई लड़ रहे थे उनको दुश्मन और प्रकृति दोनों का कहर झेलना पड़ता था। एनसीसी 47 यूपी बटालियन के लेफ्टिनेंट जे के शाही ने कहा कि 22 साल से आज तक सेना का यह शौर्य हमारे दिलों में जीवित है, उन्होंने कहा कि सनातन धर्मी संस्था ने बहुत अच्छा संयोजन किया है, संयुक्त रूप से आयोजित इस आयोजन ने शहीदों के पराक्रम और बलिदानों की यादें हम सभी के जेहन में तरोताजा कर दीं हैं।

कुआनो नदी के किनारे स्थित कारगिल शौर्य स्तम्भ पर सुबह से ही साफ सफाई व फूलों और तिरंगा गुब्बारों को सजाकर देशभक्ति के गीत बजने शुरू हो गये। एनसीसी कैडेट्स, सनातन धर्मी संस्था से आई बालिकाओं, सेना की तैयारी कर रहे युवाओं, पूर्व सैनिकों व शहर के गणमान्य नागरिकों ने स्तम्भ पर पुष्प चक्र व पुष्प चढ़ाकर बलिदानियों को श्रद्धांजलि दी। पुष्पांजलि के बाद 2 मिनट का मौन रखा गया फिर अतिथियों का उद्बोधन हुआ फिर राष्ट्रगान व भारत माता के जयकारों के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story