×

Basti News: गांव में घुसा बाढ़ का पानी, ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

बस्ती के गौर ब्लाक में ग्राम सभा माझा मानपुर, आईला, पगारे व खदरा में विसुही और कुआनो नदियों का पानी गांव में घुस जाने से ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Amril Lal
Report Amril LalPublished By Deepak Kumar
Updated on: 31 Aug 2021 3:16 AM GMT
Villagers protest against district administration
X

ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Basti News: बस्ती जिले के तहसील हरैया क्षेत्र के गौर ब्लाक में ग्राम सभा माझा मानपुर, आईला, पगारे व खदरा में विसुही और कुआनो नदियों का तांडव जारी है। गांव में पानी घुस जाने से ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

ग्रामीणों ने लगाया ये आरोप

साथ में ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की लापरवाही का आरोप लगाया कि सड़कों का निर्माण ना होने से ग्रामीण पानी से गुजरकर अपने घर पहुंच रहे हैं। वहीं, ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि गांव में पानी घुस जाने के कारण जानवरों के लिए चारे का संकट खड़ा हो गया है और जानवर के साथ ग्रामीण भी बीमार हो रहे हैं।

ग्रामीणों ने कहा कि अभी तक जिला प्रशासन की ओर से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कोई दवा वितरण नहीं किया गया है और ना ही बीमार ग्रामीणों का कोई इलाज किया जा रहा है। ग्रामीणों ने मांग की है कि जिला प्रशासन तत्काल समुचित व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाए।

सपा जिला पंचायत सदस्य ने ने जिला प्रशासन से की ये मांग

सपा जिला पंचायत सदस्य शंकर यादव ने जिला प्रशासन से मांग की है कि गांव में तत्काल नाव की व्यवस्था कराई जाए। साथ ही स्कूल जाने वाले बच्चों की समुचित व्यवस्था कराई जाए जिससे वह स्कूलों में जाकर अपनी पढ़ाई कर सकें।

वहीं, सपा जिला पंचायत सदस्य ने मांग की है कि मेडिकल टीमों को भेजकर गांव में दवा की व्यवस्था कराई जाए, जिससे सर्दी, जुखाम, बुखार से लोग जो पीड़ित हैं, उनका इलाज हो सके अन्यथा हम लोग जिला प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

पानी में डूबी फसलों का सर्वे कर किसानों को देंगे मुआवजा

इस संबंध में उपजिलाधिकारी हरैया सुखबीर सिंह से बात हुई तो उन्होंने बताया कि गांव में 2 नाव की व्यवस्था करा दी गई है। साथ ही लेखपाल और कानूनगो को सख्त निर्देश दिए गए हैं जो फसल पानी में डूबी है उसका सर्वे कर किसानों को मुआवजा दिया जाएगा। साथ में कहा कि गांव में मेडिकल टीमों को ग्रामीणों के इलाज के लिए भेज दिया गया है, जिससे गांव में दवा वितरण किया जा सके।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story