Top

Gorakhpur News: योगी के शहर में चल रही नाव, जलभराव के कारण सांसद-विधायक से लेकर आम जनता परेशान

Gorakhpur News: नगर निगम, विकास प्राधिकरण, पीडब्ल्यूडी से लेकर जलनिगम की लापरवाही से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर का आधा हिस्सा बारिश के पानी में जलमग्न है।

people forced to walk by boat in gorakhpur
X

गोरखपुर में लोग नाव से चलने को मजबूर pic(social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Gorakhpur News: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के गढ़ गोराखपुर में हर साल की तरह इस बार भी बारिश ने अपना प्रचंड रूप दिखला ही दिया। सांसद-विधायक से लेकर आम जनता पानी से घिरे हुएं हैं। यही नहीं किसी-किसी इलाके में तो लोग नाव चलाने को मजबूर हैं।

बता दें कि नगर निगम, विकास प्राधिकरण, पीडब्ल्यूडी से लेकर जलनिगम की लापरवाही से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर का आधा हिस्सा बारिश के पानी में जलमग्न है। सांसद रवि किशन, नगर विधायक डॉ.राधा मोहन दास अग्रवाल समेत कई विधायकों के घर पानी से घिरे हुए हैं। बीच शहर में दर्जनों लोग नाव का सहारा लेने को विवश हैं।

बशारतपुर और गणेशपुरम में नाव चल रहा है। देवरिया रोड के सिंघड़िया इलाके में दर्जन भर से अधिक परिवारों ने जलभराव से राहत मिलता नहीं देख रिश्तेदारों और सुरक्षित ठिकानों पर चले गए हैं। सरकारी तंत्र अब बाहर से पंप मंगवा कर पानी निकलवाने के प्रयास में लगे हुए हैं।

जलभराव से परेशान लोग pic(social media)

जेल बाईपास पर फातिमा अस्पताल पर खजांची चौक से पादरी बाजार रोड पर पुलिया के पहले नाला टूट गया है। इससे पानी की निकासी पर असर पड़ा रहा है। रविवार को हुई बारिश में भी देवरिया रोड पर पानी नहीं चढ़ा था लेकिन अब समस्या बढ़ गई है। सिंघड़िया में सांसद आवास के तीनों तरफ से पानी भर गया है। बारिश और हुई तो सांसद आवास तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा।

सिंघड़िया इलाके में कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन सर्विसेज (सीएंडडीएस) ने 14 और नगर निगम ने पांच पंपिंग सेट लगाए हैं। सीएंडडीएस के पांच और नगर निगम का एक पंपिंग सेट ही चल पा रहा है। नगर निगम ने इस साल जलभराव से निजात दिलाने के लिए सौ से ज्यादा पंपिंग सेट की व्यवस्था की थी लेकिन कई नए इलाकों में जलभराव के कारण व्यवस्था फेल हो गई है।

नागरिक अफसरों से पंपिंग सेट लगवाने की मांग कर रहे हैं लेकिन वह असमर्थता जता रहे हैं। बिछिया के काशीपुरम कालोनी में जलभराव से बच्चों और बुजुर्गों का बुरा हाल है। तारामंडल क्षेत्र की कालोनियों के साथ ही भगत चौराहा, रामपुर, कजाकपुर, न्यू कजाकपुरी कालोनी, कैलाशपुरी कालोनी आदि इलाकों में बुधवार को भी जलभराव से राहत नहीं मिली। बहरामपुर की जफर कालोनी, चक्सा हुसैन, फलमंडी के पीछे स्थित राजीव नगर कालोनी, फुलवरिया, पटेल चौक, बड़गो, पथरा आदि इलाकों में जलभराव से नागरिकों का बुरा हाल है।

जलमग्न हुआ गोरखपुर शहर pic(social media)

बशारतपुर में चल रही नाव

बशारतपुर के मोहल्लों में लोग नाव से चलने को विवश है। पार्षद राजेश तिवारी के नेतृत्व में आसपास के इलाकों में पार्षद भी पीडब्ल्यूडी की लापरवाही को लेकर आक्रोशित हैं। वहीं मेहदावल विधायक राकेश सिंह बघेल के आवास के पास लोग नाव से घरों तक पहुंच रहे हैं। विधायक सहजनवा शीतल पांडेय के तारामंडल आवास के पास भी घुटने तक पानी लगा हुआ है। पार्षद राजेश तिवारी का कहना है कि पीडब्ल्यूडी और नगर निगम की लापरवाही से हजारों नागरिक दिक्कत में हैं। जब मोहल्लों के नाले का लेबल फोरलेन के नीचे होगा तो पानी की निकासी कैसे होगी।

110 से अधिक पंप से पानी की निकासी की व्यवस्था pic(social media)

लखनऊ-कानपुर से मंगा रहे बड़ा पंप

नगर आयुक्त अविनाश सिंह का कहना है कि 115 एमएम रिकॉर्ड बारिश के चलते कई इलाकों में पानी भर गया है। 110 से अधिक पंप से पानी की निकासी कर रहे हैं। लखनऊ और कानपुर से बड़े पंप भी मंगाये जा रहे हैं। कूड़ाघाट, बशारतपुर, चक्सा हुसैन आदि इलाकों में अलग-अलग टीमें सक्रिय हैं। राप्तीनगर में कच्चा नाला बनाया गया है जो तेजी से पानी निकल रहा है। उसे पक्का बनवाया जाएगा। राप्ती नदी और शहर के प्रमुख नालों का जलस्तर एक बराबर होने से दिक्कत है। ऐसे पंप का सहारा लेकर पानी की निकासी कराया जा हैं।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story