×

Gorakhpur News: पुस्तक लोकार्पण कार्यक्रम में बोले एडीजी, समाज से सीधा जुड़ाव रखने वाला ही रच सकता है साहित्य

उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा प्रकाशित युवा साहित्यकार अमित कुमार की पुस्तक ‘एक सुलझा हुआ रहस्य’ का लोकार्पण शनिवार को तारामंडल स्थित एक होटल में संपन्न हुआ।

ADG said in the book launch program, only one who has direct connection with the society can create literature
X

गोरखपुर: पुस्तक लोकार्पण कार्यक्रम

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Gorakhpur News: उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा प्रकाशित युवा साहित्यकार अमित कुमार की पुस्तक 'एक सुलझा हुआ रहस्य' का लोकार्पण शनिवार को तारामंडल स्थित एक होटल में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि गोरखपुर जोन के एडीजी अखिल कुमार ने कहा कि साहित्य सृजन वही कर सकता है, जो समाज से सीधे कनेक्ट हो। लेखन से समाज के घटित होने वाले विषयों को किताब में शब्द के रूप में शक्ल में दी जाती है।

एडीजी अखिल कुमार ने कहा कि विज्ञान कथा से पुलिस और आम नागरिकों के बीच संबंधों को भी मजबूत मिलेगी। बेहतर विज्ञान कथा के लिए साहित्यकार और पुलिस का मेल भी जरूरी है। जानेमाने साहित्यकार प्रो.रामदेव शुक्ल ने कहा कि दुनिया में कई ऐसे कथाकार हुए हैं जिन्होंने विज्ञान कथायें लिखी हैं- जैसे एच.जी.वेल्स आदि। उन्होंने औद्योगिक क्रांति से लेकर साम्यवाद तक के विज्ञान कथाओं का जिक्र किया।

सोचने को विवश करने वाली कहानियां- अखिल कुमार

उन्होंने कहा कि अमित कुमार की कहानियां बहुत गंभीर तरीके से सोचने को विवश करती हैं। बतौर विशिष्ट अतिथि डॉ.अलख निरंजन ने कहा कि अमित कुमार विज्ञान कथा साहित्यकार ही नहीं हैं बल्कि उन्होंने बाल साहित्य, सामाजिक, राजनीतिक एवं साहित्यिक कहानियां भी लिखी हैं। उनकी अब तक 11 साहित्यिक कृतियां प्रकाशित हो चुकी हैं।

गोरखपुर की उपलब्धि हैं अमित कुमार-वेद प्रकाश पाण्डेय

विशिष्ट अतिथि वेद प्रकाश पाण्डेय ने कहा कि साहित्य की दो विधाओं विज्ञान कथा एवं बाल साहित्य लिखना बहुत ही कठिन कार्य हैं। यह गोरखपुर की उपलब्धि है कि हमारे पास इकलौते विज्ञान कथाकार अमित कुमार उपस्थित हैं। चिकित्सक एवं समाजसेवी डॉ.महेंद्र अग्रवाल ने कहा कि एक मझे हुए कथाकार के पुस्तक का लोकार्पण गोरखपुर के महान साहित्यिक विरासत और उर्वरता को प्रमाणित करता है। संचालन शैलेश ने किया। आभार ज्ञापन जिला रविदास महासभा के महामंत्री सूरज कुमार ने किया। इस दौरान प्रो.आद्या प्रसाद द्विवेदी, देवेन्द्र आर्य, प्रमोद कुमार, ऊषा प्रसाद, डॉ.राकेश भारती, डॉ.दुर्गा प्रसाद यादव, डॉ.रूकमणी चौधरी, डॉ.अनामिका, श्रवण कुमार निराला, डॉ.दिलीप आदि उपस्थित रही।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story