×

Gorakhpur News: DDU में असिस्टेंट प्रोफेसर के एक पद के लिए पचास लोगों ने किया आवेदन

दीनदयाल उपाध्याय यूनिवर्सिटी में एक असिस्टेंट प्रेफेसर पद के लिए पचास लोग रेस में हैं। कुल 117 असिस्टेंट प्रोफेसर की बहाली होनी है

Purnima Srivastava

Purnima SrivastavaReport Purnima SrivastavaDeepak RajPublished By Deepak Raj

Published on 27 July 2021 4:56 PM GMT

Deen dayal Upadhya university gorakhpur
X

दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय, गोरखपुर 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Gorakhpur News: देश में बेरोजगारी का आलम ये है की पीएचडी कर के लोग कलर्क व चपरासी की नौकरी के लिए भागे फिर रहे हैं। वैकेंसी इतनी कम होने के कारण देश के तमाम कालेजों में रिक्त पड़े पदों पर बहाली नहीं होने के कारण छात्र किसी भी जगह नौकरी के लिए फार्म भरने के लिए मजबूर हैं। इसी प्रकार की खबर गोरखपुर युनिवर्सिटी में देखने को मिली जहां एक पद के लिए पचास-पचास अभ्यार्थी रेस में हैं।


फाइल फोटो ( फोटो-सोशल मीडिया)



लेखपाल, रेलवे ड्राइवर से लेकर लेखपाल भर्ती में एक-एक सीट के लिए मारामारी की खबरें आम होती हैं, लेकिन अब यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए भी खूब खूब मारामारी दिख रही है। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में रिक्त चल रहे शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक पदों पर रिकार्ड आवेदन मिले हैं। प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के कुल 117 पदों पर देश भर से 3572 अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन किया है।

सबसे अधिक आवेदन असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए प्राप्त हुए

सबसे अधिक आवेदन असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए प्राप्त हुए हैं। 44 पदों के लिए 2218 लोगों ने आवेदन किया है। यानी एक सीट पर 50 लोगों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा होगी। इसके अलावा प्रोफेसर के 23 पदों के लिए 101, एसोसिएट प्रोफेसर के 50 पदों पर 397 लोगों ने आवेदन किया है। यानी प्रोफेसर में एक पद के लिए चार और एसोसिएट प्रोफेसर में एक सीट के लिए सात लोगों के बीच कड़ा मुकाबला होगा। ऐसे ही विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर एंड नेचुरल साइंसेज, इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के 32 अस्थाई पदों के साथ विभिन्न रोजगार परक कोर्स के लिए गेस्ट फैकल्टी के रूप में ऑनलाइन आवेदन मंगाए गए थे। इसके अंतर्गत 237 लोगों ने आवेदन किया है।

गैर शैक्षणिक पदों के लिए 1188 आवेदन

गैर शैक्षणिक के 24 पदों के लिए 1188 लोगों ने ऑनलाइन आवेदन किया है। नए कुलपति के रूप में कार्यभार ग्रहण करने के बाद से कुलपति प्रो राजेश सिंह ने रोजगारपरक कोर्स को बढ़ावा देने की दिशा में काम करना शुरू किया है। इसके अंतर्गत 63 कोर्स को विद्या परिषद और कार्यपरिषद के साथ शासन से मुहर लगाते हुए शुरूआत की गई है। इन कोर्स में अध्यापन के लिए गेस्ट फैकल्टी के रूप में शिक्षक तैनात किए जाने हैं। इसे लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से मई में ऑनलाइन आवेदन मंगाया गया था। कोरोना महामारी के चलते ऑनलाइन आवेदन की आखिरी समय सीमा को 30 जून से बढाकर 20 जुलाई कर दिया था।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story