Gorakhpur News: क्रिप्टोकरेंसी पर टैक्स लगाने की घोषणा से खुश हैं निवेशक, सरकार ने इसे वैध ट्रेड माना

Gorakhpur News: गोरखपुर में शेयर मार्केट की तरह ही क्रिप्टोकरेंसी में पिछले पांच वर्षों से निवेश हो रहा है।

Purnima Srivastava
Report Purnima SrivastavaPublished By Monika
Published on: 4 Feb 2022 9:24 AM GMT
cryptocurrency news
X

क्रिप्टोकरेंसी पर टैक्स (photo : social media ) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Gorakhpur News: आम बजट में क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) पर 30 फीसदी का भारी भरकम टैक्स (tax) लगाने की वित्त मंत्री की घोषणा के बाद भी निवेशक में किसी प्रकार की निराशा नहीं है। वे काफी खुश हैं। निवेशक मान रहे हैं कि सरकार ने दबे मन से ही सही इस करेंसी को वैद्यता प्रदान कर दी है। हालांकि निवेशकों की मांग है कि जिस प्रकार आयकर में कमाई के हिसाब से स्लैब निर्धारित है, उसी तरह क्रिप्टोकरेंसी की आय को लेकर भी स्लैब निर्धारित करना चाहिए।

गोरखपुर में शेयर मार्केट (Share Market) की तरह ही क्रिप्टोकरेंसी में पिछले पांच वर्षों से निवेश हो रहा है। शहर में 3000 से अधिक निवेशकों ने क्रिप्टोकरेंसी में करोड़ों रुपये का निवेश किया है। इनमें बड़ी संख्या टेक्नोप्रेमी युवाओं की है। मदन मोहन मालवीय टेक्निकल यूनिवर्सिटी के कई छात्र-छात्राओं ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है। वासु नाम के एक छात्र ने तो 30 हजार का निवेश कर 30 लाख से अधिक की कमाई की है। अब उनके पास दो जिम और एक बिरयानी सेंटर है। अभी भी 10 लाख रुपये उन्होंने बिटक्वाइन में निवेश किया है। बीटेक प्रखर श्रीवास्तव का कहना है कि वित्त मंत्री ने क्रिप्टोकरेंसी पर 30 फीसदी टैक्स लगाकर संदेश दे दिया कि यह अवैध नहीं है। सरकार को आयकर की तरह है, अलग-अलग आय पर अलग-अलग टैक्स लगाना चाहिए था। अधिवक्ता मनोज श्रीवास्तव उर्फ मोनू ने भी एक लाख से अधिक का निवेश किया है। उनका कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी में पिछले दो साल से निवेश कर रहे हैं। इसमें कुछ गलत नहीं दिख रहा है। अब तो सरकार ने भी अनमने मन से ही सही वैध ट्रेड मान लिया है।

दुखद ही दिखता है क्रिप्टोकरेंसी का अंत

वित्तीय सलाहकार अखिलेश्वर दूबे का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी को लेकर देश ही नहीं दुनिया में जिसप्रकार का आकर्षण है उससे हाल फिलहाल कोई दिक्कत नहीं दिख रही है। लेकिन भविष्य ठीक नहीं दिखता है। निवेश बेहद खतरनाक है। मुनाफे पर सरकार टैक्स ले रही है, लेकिन नुकसान पर चुप्पी है। क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले विजय कुमार मित्तल का कहना है कि बाजार में हजारों तरह के क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध है। पूरा निवेश काफी रिस्की दिखता है। लेकिन दूसरों की कमाई देखकर निवेश किया है।

Monika

Monika

Content Writer

पत्रकारिता के क्षेत्र में मुझे 4 सालों का अनुभव हैं. जिसमें मैंने मनोरंजन, लाइफस्टाइल से लेकर नेशनल और इंटरनेशनल ख़बरें लिखी. साथ ही साथ वायस ओवर का भी काम किया. मैंने बीए जर्नलिज्म के बाद MJMC किया है

Next Story