×

Kaushambi News: भीषण सड़क हादसे से लेकर आत्महत्या तक, पढ़िए कौशांबी की बड़ी खबरें

कौशांबी में गरीबी से तंग आ कर एक अधेड़ ने आत्महत्या कर ली। मामला बीती रात का है, इसकी जानकारी परिजनों को सुबह हुई।

Ansh Mishra

Ansh MishraReport Ansh MishraAshikiPublished By Ashiki

Published on 14 July 2021 5:15 PM GMT

Kaushambi News
X

अधेड़ की आत्महत्या के बाद उमड़ी भीड़

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Kaushambi News: कौशांबी के कोखराज गांव में गरीबी से तंग आ कर एक अधेड़ ने आत्महत्या कर ली। मामला बीती रात का है, इसकी जानकारी परिजनों को सुबह हुई। सूचना पाकर घटनास्थल पर पुलिस पहुंची और अधेड़ की लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

जानकारी के मुताबिक कोखराज गांव निवासी रामआसरे सरोज उम्र 45 वर्ष पुत्र दुजई का शव बुधवार की सुबह चुल्ले से लटक रहा था। घर वालों ने देखा तो शोर मचाया। अधेड़ की आत्महत्या किए जाने की जानकारी मिलने के बाद तमाम ग्रामीणों की भीड़ मौके पर इकट्ठा हो गयी। आशंका जताई जा रही है कि आर्थिक तंगी से त्रस्त होने के बाद परिवार में खाने-पीने के सामान को लाने को लेकर विवाद होने लगा था आर्थिक तंगी के बीच जब पारिवारिक विवाद बढ़ा तो रामआसरे ने आत्महत्या का कदम उठा लिया है।

बाइक सवार प्रोफेसर को डंपर ने रौंदा

कौशांबी पैंसा थाना क्षेत्र के रामसहाई पुर नाला के समीप डंपर चालक ने सामने से आ रहे बाइक सवार को रौंद दिया है। आमने-सामने हुई टक्कर में बाइक सवार प्रोफेसर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई। ग्रामीणों ने सूचना स्थानीय थाना पुलिस को दी घटना की सूचना मिलते ही पैंसा पुलिस मौके पर पहुंच गई पुलिस ने युवक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

केराकत थाना क्षेत्र के मुराद गांव निवासी सुनील सिंह पुत्र बेचन सिंह जनपद जौनपुर बुधवार की सुबह अपने गृह जनपद से अपने स्प्लेंडर बाइक से ईश्वर दीन भगवत सिंह महाविद्यालय डेडासही धाता जनपद फतेहपुर के लिए निकले थे। जहां पर वह बतौर केंद्र व्यवस्थापक कार्यरत थे। जैसे ही वह रामसहाईपुर नाला के समीप पहुंचे कि पैंसा की तरफ से तेज रफ्तार डंपर ने उनको सामने से रौंद दिया, जिससे बाइक सवार युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

मंझनपुर मुख्यालय की सड़क चौड़ीकरण में हीला हवाली कर रही नगर पालिका

कौशांबी मुख्यालय मंझनपुर के कस्बे की अंदर की सड़क अतिक्रमण का शिकार हो गई है। काली सड़क को छोड़कर सड़क की पटरी नाली नाला पर नगर वासियों ने कब्जा कर लिया है। कई बार कस्बे के सड़क से अवैध अतिक्रमण हटाने की मांग नगर वासियों ने की है, लेकिन नगर की सड़क से अतिक्रमण नगरपालिका के जिम्मेदार नहीं हटा सकते हैं। सड़क से जब भी अतिक्रमण हटाने की बात होती है नगरपालिका के जिम्मेदार राजनीति का शिकार हो जाते हैं। जिसके चलते नगर में जाम और जल निकासी की समस्या बनी रहती है और आम जनमानस को आने-जाने में दिक्कत होती है।

मंझनपुर मुख्यालय का रोडवेज बस स्टॉप भी निर्माणाधीन है और जल्द निर्माण पूरा हो सकता है, लेकिन सड़क की चौड़ाई कम होने से आवागमन में दिक्कत होगी। नाला के साथ सड़क की पटरियों पर भी लोगों ने कब्जा कर रखा है, जिससे एक वाहन के आ जाने पर दूसरी बाइक का निकलना भी दिक्कत पूर्ण रहता है। इतना ही नहीं वोट की राजनीति के चलते मंझनपुर नगर की नाली के निर्माण में करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी पानी का बहाव नगरपालिका नहीं बना सका है।

सड़क की पटरियों में जिन लोगों ने जितना कब्जा कर लिया है। उसके बाहर से नई नाली बार बार बनाई जाती है, जिससे नाली तिरछी होती चली गई है और तिरछी नाली हो जाने से फिर दोबारा लोगों ने नाली को पाट का चबूतरा बना लिया है जिससे नाली में पानी का बहाव नहीं होता है। इतना ही नहीं चार दशक पूर्व कस्बे में बड़ा नाला का निर्माण कराया गया था लेकिन जिम्मेदारों की अनदेखी संलिप्तता स कस्बा वासियों ने नाला को पाटकर पक्के भवन बना लिए हैं नाला के ऊपर बनाए गए पक्के भवन को आखिर नगरपालिका के जिम्मेदार कब धराशाही कराएंगे जिससे नगर की पानी की निकासी की समस्या का समाधान हो सके।

राजस्व अभिलेखों में मंझनपुर नगर की सड़क आठ लाठा चौड़ी यानी अड़तालीस फिट दर्ज है, लेकिन कस्बे के कुछ क्षेत्रों में तीन लाठा भी सड़क नहीं बची है। कहीं-कहीं चार लाठा सड़क बची है। पूरी सड़क कब्जे के शिकार में है। पुराना नाला भी कब्जे के शिकार में है। राजस्व अभिलेखों में दर्ज सड़क की चौड़ाई और पुराने नालें को खाली कराने में नगरपालिका के जिम्मेदारो के पसीने छूट रहे हैं। नगर वासियों ने नगर के पुराने नाले को खाली कराने सड़क का चौड़ीकरण और कस्बे से पानी का बहाव ठीक कराने की मांग जिलाधिकारी से की है।

न्याय के लिए दर-दर भटक रही बीडीसी शिला देवी

सिराथू विकासखंड की टेगाई निवासी क्षेत्र पंचायत सदस्य के पारिवारिक लोग रंजिश के कारण भद्दी-भद्दी गालियां देकर परेशान कर रहे हैं। परिजनों की मार से पीड़ित क्षेत्र पंचायत सदस्य न्याय के लिए दर-दर भटक रही है। पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर कार्यवाही की मांग किया है।

टेगाई निवासी शीला देवी पत्नी अमित कुमार थाना कोखराज वर्तमान सिराथू क्षेत्र पंचायत सदस्य हैं। पड़ोसी देवर भोले शुक्ला जमीन बंटवारे को लेकर क्षेत्र पंचायत सदस्य को भद्दी भद्दी गालियां देकर अपमानित कर रहा है। 13 जुलाई को देवर भोले शुक्ला पुत्र चंद भवन लगभग 8:00 बजे साम को छत पर चढ़कर गालियां देकर सदस्य को अपमानित करने लगा। इससे पहले भी देवर उसका लड़का मैनू शुक्ला चन्द्र भवन व पत्नी सुकुंती देवी रंजिश मान कर गालियां देकर अपमानित करते हैं। मामले की शिकायत पुलिस में दी गई। बीडीसी शिला देवी का आरोप है कि स्थानीय पुलिस शहजादपुर की भोले के संरक्षण में कोई कार्यवाही नहीं कर रही है। इससे क्षेत्र पंचायत सदस्य शीला देवी काफी भयभीत है। पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर मांग किया है कि देवर भोले व उसके परिवार से उसे जान का खतरे से निजात दिलाई जाए।

विकास खण्डों में लगेंगे विशेष कैम्प लाभार्थी करें आवेदन

कौशाम्बी जिला अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 महामारी के दौरान बहुत सी ऐसी महिलायें जिन्होने अपने पति को खो दिया है। ऐसी सभी महिलाओं को उनके संरक्षण तथा उन्नयन हेतु आर्थिक व सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से जोड़े जाने हेतु जिले के विभिन्न विकास खण्डों में विशेष कैम्प का आयोजन निम्नवत् किया जाता है। विकास खण्ड, मंझनपुर, कड़ा, सिराथू, मूरतगंज एवं नेवादा में 15 जुलाई, 2021 को तथा विकास खण्ड चायल, सरसवां, कौशाम्बी में 16 जुलाई, 2021 को विशेष कैम्प का आयोजन किया जायेगा। ऐसी समस्त पात्र महिलायें एवं उनके आश्रितों के महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित निराश्रित महिला पेंशन मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना एवं निराश्रित महिला की पुत्री की शादी अनुदान योजना आदि से लाभान्वित किया जायेगा लाभार्थी पेंशन के लिए पति का मृत्यु प्रमाण पत्र, लाभार्थी का आधार कार्ड, 2 लाख वार्षिक तक का आय प्रमाण पत्र, बैंक पासबुक की छाया प्रति, फोटो एवं मोबाइल नं0, कन्या सुमंगला हेतु माता एवं पिता का वोटर आई0डी0 व आधार कार्ड, बैंक पासबुक, 10 रूपये के स्टाम्प पर शपथ, जन्म प्रमाण पत्र, टीकाकरण का कार्ड, आवेदक के साथ बालिका का फोटो। यदि कक्षा 1, कक्षा, 6 एवं कक्षा 9 में पढ़ रहा है तो विद्यालय का प्रमाण पत्र आदि। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना हेतु आधार कार्ड, निवास 3 लाख वार्षिक से कम का आय प्रमाण पत्र, कोविड-19 से मृत्यु का साक्ष्य, मृत्यु प्रमाण पत्र, आवेदक के साथ बच्चे की फोटो, शैक्षिक प्रमाण आयु प्रमाण एवं।बैंक पासबुक आदि के साथ अपना आवेदन करायें।

Ashiki

Ashiki

Next Story