×

BSP MP Atul Rai : अब बसपा सांसद अतुल राय के करीबी मुसीबत में, इस मामले में फंसे

BSP MP Atul Rai : बलात्कार के मामले में फंसे बसपा सांसद अतुल राय की मुसीबतें बढ़नी शुरू हो गई हैं।

Ramkrishna Vajpei
Written By Ramkrishna VajpeiPublished By Shraddha
Updated on: 29 Aug 2021 3:55 AM GMT
बलात्कार के मामले में फंसे बसपा सांसद अतुल राय
X

 बसपा सांसद अतुल राय (फाइल फोटो - सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

BSP MP Atul Rai : बलात्कार के मामले में फंसे बसपा सांसद अतुल राय (BSP MP Atul Rai) की मुसीबतें बढ़नी शुरू हो गई हैं। ये माना जा रहा है कि प्रयागराज जेल (Prayagraj Jail) में बंद अतुल राय के गुर्गों ने रेप पीड़िता व गवाह पर दबाव बनाने के लिए सात मुकदमे दर्ज कराए थे और उसे धमकी भी दी थी। अब उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा नियुक्त जांच समिति इस मामले की जांच कर रही है जिसकी प्रारंभिक रिपोर्ट पर पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर (Former IPS Amitabh Thakur) पर कार्रवाई की गई है और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर पर भी शिकंजा कस सकता है।

विशेष जांच टीम ने शनिवार को वाराणसी पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। वह इस मामले की गहराई से जांच करके देखेगी कि रेप पीड़िता के खिलाफ वाराणसी में मुकदमे किसकी शह पर दर्ज कराए गए थे और इसमें पुलिस अधिकारियों और अन्य लोगों की क्या भूमिका थी।

बलात्कार के मामले में फंसे बसपा सांसद अतुल राय(फोटो - सोशल मीडिया)


जांच समिति में शामिल डीजी भर्ती बोर्ड आरके विश्वकर्मा और एडीजी महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन नीरा रावत वाराणसी में रेप पीड़िता के परिजनों और मुकदमे से जुड़े वादियों और गवाहों के बयान दर्ज करेंगी। इसके साथ ही समिति उन अधिकारियों एवं कर्मचारियों को चिन्हित करके उनके खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति भी करेगी जिन्होंने इस मामले में लापरवाही बरती।

दो सदस्यीय जांच समिति द्वारा पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश, एडीजी जोन ब्रज भूषण, आईजी रेंज एस के भगत, तत्कालीन एसपी दिनेश कुमार सिंह, विवेचक विजय शंकर यादव, एसएचओ कैंट राकेश कुमार सिंह, एसीपी आदित्य लांगरे, विवेचक दीनदयाल पांडे और बलिया में दर्ज मुकदमे के विवेचक टीवी सिंह के अलावा इस प्रकरण के बाद सुर्खियों में आए इंस्पेक्टर संजय कुमार राय और उनके बेटे का बयान दर्ज किया है।

गौरतलब है कि भेलूपुर थाने में दर्ज मुकदमे में तत्कालीन सीओ अमरेश सिंह बघेल ने जांच की थी बाद में इस मामले की जांच एसपी सिटी विकास त्रिपाठी द्वारा भी कराई गई थी। जांच समिति की रिपोर्ट 2 हफ्ते के भीतर आ जाने की संभावना है। रेप पीड़िता और उसके साथी की आत्मदाह के बाद मृत्यु हो जाने से इस मामले ने तूल पकड़ लिया है और अमिताभ ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद सभी की निगाहें इस मामले पर लगी हैं।

Shraddha

Shraddha

Next Story