×

प्रवासी भारतीयों ने कुम्भ की व्यवस्था को अद्भुत बताया,कहा- यह क्षण कभी भूलने वाला नहीं

प्रवासी भारतीयों के स्वागत एवं सत्कार में प्रयागराज कुम्भ नें पलकें बिछा दी। प्रवासी भारतीयों ने अपने स्वागत सत्कार एवं कुम्भ की अलौकिक, भव्य, दिव्य, अभूतपूर्व खूबसूरत छठा के एक-एक पल को अपनी यादों में सजोया और कहा कि ऐसी अद्भुत कुम्भ का नजारा पहली बार उन्हे देखने को मिला।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 24 Jan 2019 4:43 PM GMT

प्रवासी भारतीयों ने कुम्भ की व्यवस्था को अद्भुत बताया,कहा- यह क्षण कभी भूलने वाला नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कुम्भ नगर: प्रवासी भारतीयों के स्वागत एवं सत्कार में प्रयागराज कुम्भ नें पलकें बिछा दी। प्रवासी भारतीयों ने अपने स्वागत सत्कार एवं कुम्भ की अलौकिक, भव्य, दिव्य, अभूतपूर्व खूबसूरत छठा के एक-एक पल को अपनी यादों में सजोया और कहा कि ऐसी अद्भुत कुम्भ का नजारा पहली बार उन्हे देखने को मिला।

यह भी पढ़ें.....कुम्भ बहुत बड़े पैमाने पर लोगों के मिलन का महोत्सव है- रामनाथ कोविंद

प्रवासी भारतीयों ने इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, मुख्य मंत्री उ0प्र0 श्री योगी आदित्यनाथ की भूरि-भूरि प्रशंसा की। वे लोंग अपने को कुम्भ में पाकर अलौकिक आनन्द की अनुभूति कर रहें थे। प्रवासी भारतीयों ने दिव्य भव्य एवं सुरक्षित कुम्भ की व्यवस्था को अद्भुत बताते हुये सरकार के साथ-साथ प्रयागराज का कुम्भ मेला प्रशासन जिला प्रशासन एवं इससे जुड़े विभिन्न विभागों द्वारा की गई व्यवस्था को दिल से सराहा। अपने आतिथ्य सत्कार से अभिभूत प्रवासी भारतीयों ने कुम्भ की नगरी में खुशनुमा माहौल पर अपनी खुशी का इजहार बार-बार कर रहें थे और अपने को यहॉं आकर धन्य महसूस कर रहे थे।

यह भी पढ़ें.....कुम्भ 2019: आस्था का अनूठा संगम

कई देश के प्रवासी भारतीयों से बातचीत करने पर वे लोग बहुत खुश नजर आ रहें थे और बार-बार कुम्भ मेंले की प्रशन्सा में कसीदे गढ़ रहे थे। अपने कुम्भ दर्शन के दौरान प्रवासी भारतीयों ने टेंट सिटी से निकलकर ऐतिहासिक, अध्यात्मिक और पौराणिक महत्व के अक्षयवट के दर्शन किये, जहां उन्हें असीम शांति मिली।

यह भी पढ़ें.....वाई फैक्टर विथ योगेश मिश्रा – जड़ता दूर करेगा चेतना का प्रवाह कुम्भ – एपिसोड 27

उसके बाद प्रवासी भारतीयों ने सरस्वती कूप के दर्शन तथा लेटे हनुमान जी के दर्शन किये। संगम नोज पर आकर प्रवासी भारतीयों ने संगम में डुबकी लगाकर पुण्य लाभ प्राप्त किया। इस अवसर पर प्रवासी भारतीयों ने कहा कि प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर दिव्य कुम्भ में आगमन को जो सौभाग्य प्राप्त हुआ है इससे हम लोगों को एक बहुत ही सुखद, रोमांचक और भावनात्मक अनुभव हो रहा है, यह क्षण कभी भूलने वाला नहीं है।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story