×

लामार्ट्स ब्‍वायज में रैंगिग: आरोप- बच्‍चे संग हुई मारपीट, स्‍कूल नहीं कर रहा सपोर्ट

aman

amanBy aman

Published on 21 Sep 2017 1:08 PM GMT

लामार्ट्स ब्‍वायज में रैंगिग: आरोप- बच्‍चे संग हुई मारपीट, स्‍कूल नहीं कर रहा सपोर्ट
X
लामार्ट्स ब्‍वायज में रैंगिग: आरोप- बच्‍चे संग हुई मारपीट, स्‍कूल नहीं कर रहा सपोर्ट
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: राजधानी के प्रतिष्ठित लामार्ट्स ब्‍वायज स्‍कूल में कक्षा 8 के स्‍टूडेंट के साथ रैंगिंग का मामला सामने आया है। इससे स्‍कूल प्रशासन सहित शिक्षा विभाग के अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया है। पैरेंट्स का आरोप है, कि उनके बेटे के साथ स्‍कूल के सीनियर्स ने जमकर रैगिंग की है।

इसका विरोध करने पर सीनियर छात्रों ने उनके बेटे को बुरी तरह मारते हुए उसकी एक उंगली तोड़ दी। जब उन्‍होंने इस घटना की जानकारी स्‍कूल प्रशासन को दी, तो उल्‍टा स्‍कूल के प्रिंसपल समेत टीचर्स ने उनसे अभद्रता की। इससे आहत होकर वह दोषी छात्रों के खिलाफ एक तहरीर गौतमपल्‍ली थाने में देने जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें ...काशी में हस्तशिल्प-बुनकरों के लिए होगी नए युग की शुरुआत, PM मोदी कल करेंगे लोकार्पण

अन्य मामले भी सामने आए

इतना ही नहीं जैसे ही यह खबर स्‍कूल परिसर के बाहर आई कुछ और पैरेंटस भी इसी तरह की शिकायत पुलिस में करने की बात कर रहे हैं। उनका भी यही आरोप है कि यहां रैंगिंग के चलते सभी जूनियर छात्र बहुत परेशान हैं।

लामार्ट्स ब्‍वायज में रैंगिग: आरोप- बच्‍चे संग हुई मारपीट, स्‍कूल नहीं कर रहा सपोर्ट

अश्‍लील वीडियो देखते समय जूनियर्स करते हैं पहरेदारी

सिंचाई विभाग में एसडीओ के पद पर कार्यरत एसपी सिंह का बेटा यश प्रताप सिंह लामार्ट्स ब्‍वायज में कक्षा 8 में पढ़ता है। यश स्‍कूल के ही हॉस्‍टल में रहकर पढ़ता है। यश की मां सविता सिंह का आरोप है कि इस बार जब वह अपने बेटे से मिलने स्‍कूल पहुंची, तो उनके बेटे की उंगली मुड़ी हुई थी। पूछने पर उसने रो-रो कर बताया कि सीनियर्स ने जमकर मारपीट करते हुए उसकी उंगली तोड़ दी है। यश हमेशा कहता था कि हॉस्‍टल का माहौल ठीक नहीं है। लेकिन इस बार तो हद ही हो गई। उन्‍होंने बताया, कि उनके बेटे के साथ स्‍कूल के 9वीं और दसवीं में पढ़ने वाले सीनियर छात्र शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। यह सीनियर छात्र जूनियर्स का सामान और पॉकेट मनी भी छीन लेते हैं। इससे स्‍कूल के जूनियर्स अपने सीनियर्स से काफी परेशान हैं।

ये भी पढ़ें ...गोरखपुर में योगी ने दिया किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट, फिर हुआ ये हादसा

'अश्‍लील वीडियो देखते हैं सीनियर्स'

यश के पिता एसपी सिंह ने बताया, कि उनके बेटे यश ने बताया कि हॉस्‍टल में सीनियर छात्र जूनियर्स को गेट के पास खड़ा रहकर वार्डेन पर नजर रखने का काम देते हैं। इसके बाद खुद वह अश्‍लील वीडियो देखते हैं। अगर सीनियर्स की कोई जूनियर शिकायत करता है तो उसके साथ बंपर रैगिंग की जाती है। यश के साथ भी यह हुआ।स्‍कूल प्रशासन इस मामले में बिलकुल सहयोग नहीं कर रहा है। ऐसे में इस मामले में पुलिस कार्यवाही करने जा रहे हैं। वहीं, एसओ गौतमपल्‍ली अंबर सिंह ने बताया कि अभी उन्‍हें इस मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है।स्‍कूल प्रशासन इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहा है।

अन्‍य अभिभावकों का भी मिल रहा समर्थन

एसपी सिंह ने बताया, कि जैसे ही उन्‍होंने लामार्टस कालेज के व्‍हाट्एप ग्रुप पर अपने बेटे के साथ हुई इस रैंगिंग की जानकारी साझा की। वैसे ही कई पैरेंटस उनके समर्थन में आ गए। उनका भी यही आरोप है कि उनके बच्‍चों के साथ भी सीनियर बंपर रैगिंग कर रहे हैं और स्‍कूल प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा है।

सीन‍यर्स ने नोंची छात्र की गर्दन

लामार्ट ब्‍वायज के कक्षा 8 के सेक्‍शन सी में पढ़ने वाले युवराज सिंह के पिता पीके सिंह ने बताया कि उनके बेटे को उसके 9 वीं क्‍लास में पढने वाले सीनियर साद अहमद ने बुरी तरह मारा पीटा और उसकी गर्दन तक नोंच ली। इससे छात्र बुरी तरह घायल हो गया1 इसके बाद जब इसकी शिकायत परिजनों ने क्‍लास फादर संजय त्रिपाठी से की तो उन्‍होंने आरोपी छात्र को केवल चेतावनी देकर छोड़ दिया। इससे आरोपी छात्र के हौंसले बुलंद हो गए हैं और वह रोज उनके बेटे को मारने की धमकी दे रहे हैं। स्‍कूल प्रशासन इस मामले पर भी पूरी तरह मौन हैं।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story