Top

गृहमंत्री ने कहा- गांवों के स्मार्ट बने बिना देश नहीं बन सकता स्मार्ट

Admin

AdminBy Admin

Published on 2 April 2016 10:34 AM GMT

गृहमंत्री ने कहा- गांवों के स्मार्ट बने बिना देश नहीं बन सकता स्मार्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का कहना है कि जब तक गांवों और किसानों को स्मार्ट नहीं बनाया जाएगा तब तक देश स्मार्ट नहीं बन सकता। मोदी सरकार इसी को देखते हुए 300 गांवों को स्मार्ट विलेज बनाने की योजना पर काम कर रही है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को लखनऊ में थे। ये बातें उन्होंने भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना जागरूकता कार्यक्रम के उद्घाटन के दौरान कही। उन्होंने किसानों से बीमा योजना को समझने और फायदा उठाने की अपील की।

ये भी पढ़ें... रिसेप्शन में रिश्‍तों की रिपेयरिंग, अमर ने एक तीर से लगाए दो निशाने

और क्या कहा राजनाथ ने ?

-देश की 70 प्रतिशत से अधिक आबादी गांवों में बसती है।

-इसलिए जरुरी है कि किसानों को स्मार्ट बनाया जाए।

-मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार किसानों के हित में ढेर सारी योजनाएं चला रही है।

-300 गांवों को 'स्मार्ट विलेज' बनाने के लिए ऐसी ही योजना काम कर रही है।

राज्य सरकार को घेरा

-राजनाथ सिंह ने जरूरत पड़ने पर राज्य सरकार की ओर से आर्थिक मदद के आरोपों को निराधार बताया।

-कहा, केंद्र सरकार यूपी का सहयोग कर रही है, जहां पैसे की जरूरत है वहां केंद्र सरकार मदद दे रही है।

ये भी पढ़ें...नजमा हेपतुल्ला का आरोप-अखिलेश सरकार कर रही अल्पसंख्यकों की अनदेखी

कांग्रेस को लिया निशाने पर

-राजनाथ सिंह ने बिना नाम लिए कांग्रेस को निशाना बनाया।

-कहा, 'आज़ादी के बाद किसानों के लिए कुछ भी नहीं करने वाले आज हमारी सरकार पर आरोप लगाते हैं।

-यही वजह है कि आज़ादी के समय देश की जीडीपी में 52 फीसदी योगदान देने वाला किसान आज महज 13 फीसदी तक सिमट कर रह गया है।

बताए कृषि बीमा के फायदे:

-राजनाथ सिंह ने कृषि बीमा के कई फायदे बताए।

-कहा, अगर किसान ने बीमा करवा लिया है और उसके बाद फसल नहीं बो पाया तो भी घबराने की बात नहीं है।

-ऐसी दशा में भी उसे 25 फीसदी बीमा की बीमा राशि मिलेगी।

-बीमा करवाने के लिए बीमित राशि का महज दो प्रतिशत ही देना होता है।

-उद्दाहरण के तौर पर, यदि किसी किसान को 50 हजार का बीमा करवाना है तो उसके लिए उसे सिर्फ एक हजार रुपए की किश्त देनी होगी।

ये भी कहा राजनाथ ने...

-हमारी सरकार ने किसानों की मदद के लिए कृषि चैनल का प्रसारण शुरू किया।

-किसान की खुशहाली से ही भारत सशक्त बनेगा।

-जैविक खेती के माध्यम से उत्पादन बढ़ाया जा सकता है।

-मध्य प्रदेश और आंध्रप्रदेश में 1 करोड़ किसानों को सॉयल (SOIL) हेल्थ कार्ड दिया गया है।

-इस बार के बजट में भी किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है।

-पीएम ने कृषि क्षेत्र के लिए काम करना शुरू किया, जल्द ही कृषि सिंचाई योजना लागू होगी।

-नई तकनीकों के प्रयोग से किसान खुशहाल होंगे।

अन्य फोटो के लिए नीचे की स्लाइड पर क्लिक करें...[su_slider source="media: 21858,21859,21860,21861,21862,21863,21864" width="620" height="440" title="no" pages="no" mousewheel="no" autoplay="0" speed="0"] [/su_slider]

Admin

Admin

Next Story