Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

RS-MLC चुनावों का असर, राजा भैया को मनाने पहुंचे मुलायम-अखिलेश

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 Jun 2016 7:09 PM GMT

RS-MLC चुनावों का असर, राजा भैया को मनाने पहुंचे मुलायम-अखिलेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः राज्यसभा और एमएलसी चुनावों को लेकर समाजवादी पार्टी में सरगर्मियां बढ़ गई हैं। सोमवार शाम को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और सीएम अखिलेश यादव सूबे के स्टांप और निबंधन मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के घर नजर आए। वैसे तो कहा ये जा रहा है कि राजा भैया के यहां एक निजी कार्यक्रम था, लेकिन अंदरखाने की खबर ये है कि नाराज राजा भैया को मनाने मुलायम और अखिलेश उनके घर पहुंचे थे।

राजा भैया के घर क्यों गए मुलायम-अखिलेश?

-मुलायम और अखिलेश यादव राजा भैया के घर निजी कार्यक्रम में शामिल हुए।

-खबर उड़ रही थी कि राजा भैया सपा का खेमा छोड़ बीजेपी के पाले में खड़े हो सकते हैं।

-राजा भैया बाहुबली हैं और डीएसपी जिया-उल-हक हत्याकांड के बाद उन्हें कारागार मंत्री का पद छोड़ना पड़ा था।

-क्लीन चिट मिलने के बाद वह दोबारा सरकार में शामिल हुए थे।

-इसके बाद उन्हें स्टांप और निबंधन मंत्री बनाया गया, जो कम महत्वपूर्ण पद है। इससे उनकी नाराजगी की चर्चा काफी दिनों से चल रही थी।

raja-mulayam-2 राजा भैया (बाएं से दूसरे) के साथ सीएम अखिलेश यादव

प्रीति महापात्रा ने सपा में मचाई खलबली

-बता दें कि प्रीति महापात्रा निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर राज्यसभा चुनाव लड़ रही हैं।

-उनके आने से यूपी से राज्यसभा की 11 सीटों पर 12 उम्मीदवार हो गए हैं।

-प्रीति के मैदान में उतरने से सीटों पर मतदान होना लाजिमी हो गया है।

-ऐसे में सपा हर एक वोट को अपने पक्ष में बनाए रखने में जुट गई है।

-एक सपा एमएलसी ने बताया कि राजा भैया के यहां चुनाव तैयारी पर बातचीत हुई।

अमर को जिताने खुद बैठक में आएंगे रामगोपाल

-अमर सिंह को राज्यसभा चुनाव जिताने के लिए रामगोपाल यादव ने भी कमर कसी।

-सूत्रों के मुताबिक रामगोपाल उस बैठक में शामिल होंगे, जिसमें तय होगा कि पार्टी का 7वां कैंडिडेट कौन होगा।

-इस बैठक में तय होगा कि कौन-कौन विधायक किस-किस कैंडिडेट को वोट देगा।

-अब तक कहा जाता रहा है कि रामगोपाल यादव भी अमर सिंह के खिलाफ हैं।

-आजम खान मुखर रूप से अमर सिंह का विरोध करते रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story