Top

UP से RS की 11 सीटों के लिए हो रही वोटिंग, आसान नहीं प्रीति की राह

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Jun 2016 7:58 PM GMT

UP से RS की 11 सीटों के लिए हो रही वोटिंग, आसान नहीं प्रीति की राह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः यूपी समेत 7 राज्यों से राज्य सभा की खाली सीटों के लिए आज वोटिंग हो रही है। इस दौरान सपा और बीजेपी एमएलए के बीच नोकझोक भी हो रही है। कुल 57 सीटों में से 30 पर तो उम्मीदवार निर्विरोध चुने जा चुके हैं, लेकिन यूपी की 11 समेत छह राज्यों की 27 सीटों पर उम्मीदवार ज्यादा होने से चुनाव कराना पड़ रहा है। बात करें यूपी की, तो यहां 11 सीटों पर 12 उम्मीदवार होने से मुकाबला काफी रोचक है। कांग्रेस ने कपिल सिब्बल को मैदान में उतारा है, तो बीजेपी ने निर्दलीय प्रीति महापात्रा को समर्थन दिया है।

प्रीति की राह है मुश्किल

शुक्रवार को यूपी में हुए विधान परिषद के नतीजे देखें, तो प्रीति की राह मुश्किल लग रही है। हालांकि उन्हें जिताने के लिए रणनीति की कमान गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने संभाल रखी है। शुक्रवार को विधान परिषद चुनाव में जमकर क्रॉस वोटिंग हुई है। ऐसे में राज्य सभा चुनावों में भी इसकी उम्मीद है। बीजेपी के पास अपने उम्मीदवार शिव प्रताप शुक्ला को जिताने के बाद 7 अतिरिक्त वोट बचेंगे। प्रीति को ये वोट मिलेंगे, लेकिन उन्हें फिर भी जरूरत के 34 वोट जुटाने के लिए 27 वोटों की जरूरत होगी। वैसे प्रीति के नामांकन के वक्त सपा और बीएसपी समेत अन्य दलों के कुछ विधायक मौजूद थे, लेकिन फिर भी वह जीत सकेंगी, इसे लेकर संशय है।

सिब्बल को भी चाहिए बीएसपी का सहारा

कांग्रेस के उम्मीदवार कपिल सिब्बल को अपनी पार्टी के 29 विधायकों के अलावा बीएसपी के समर्थन की जरूरत होगी। अपने उम्मीदवारों सतीश चंद्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ को जिताने के बाद बीएसपी के पास 12 वोट बचेंगे। सिब्बल ये उम्मीद रख रहे हैं कि मायावती ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस के उम्मीदवार को समर्थन दिया है। सिब्बल को वैसे 5 वोट ही चाहिए होंगे।

सपा के सातवें प्रत्याशी को लग सकता है झटका

यूपी में सत्तारूढ़ सपा ने अमर सिंह और बेनीप्रसाद वर्मा समेत 7 उम्मीदवार खड़े किए हैं। अमर और बेनी हाल ही में सपा में लौटे हैं। पार्टी ने रेवती रमण सिंह को भी टिकट दिया है। पार्टी के सातवें उम्मीदवार के लिए पहली प्राथमिकता वाले 9 वोट कम पड़ेंगे। सपा को अजित सिंह की आरएलडी ने समर्थन का वादा किया है। उनके 8 विधायक हैं। फिर भी क्रॉस वोटिंग हुई, तो सपा के सातवें प्रत्याशी को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

और किन राज्यों में कितनी सीटें?

यूपी के अलावा शनिवार को कर्नाटक, हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और उत्तराखंड से भी राज्य सभा की खाली सीटों के लिए वोटिंग होगी। इन सभी राज्यों से कुल 16 सीटों के लिए चुनाव कराए जा रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story