×

Muzaffarnagar News:"अपना ट्रैक्टर अपना तिरंगा" राकेश टिकैत ने पंचायत में किए BJP पर कई हमले, कहा- किसान करेगा इनका इलाज

Muzaffarnagar News: राकेश टिकैत ने कहा कि जितना जल्दी हो सके नीतीश कुमार इन से अपना पीछा छुड़ा ले, वरना उनका भी हाल उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की तरह होगा।

Amit Kaliyan
Updated on: 9 Aug 2022 5:36 PM GMT
Rakesh Tikait made many attacks on BJP in Muzaffarnagar Panchayat, said- farmer will treat them
X

मुजफ्फरनगर: राकेश टिकैत

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Muzaffarnagar News: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में स्थित बिटावदा गांव (Bitavada Village) में मंगलवार को संयुक्त किसान मोर्चा (United Kisan Morcha) ने अग्नीपथ योजना (Agneepath Scheme) सहित किसानों के अन्य मुद्दों को लेकर एक पंचायत का आयोजन किया था।

जिसमें आसपास के क्षेत्र से हजारों किसानों ने हिस्सा लिया तो वहीं इस पंचायत की अध्यक्षता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने की इस दौरान राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार (Central government) पर जहां जमकर अपनी भड़ास निकाल दे तो वही श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi case) के मामले में राकेश टिकैत ने कहा कि शासन-प्रशासन उसके बच्चों को परेशान ना करें।

आपको बता दें कि 15 अगस्त को मुज़फ्फरनगर जनपद में निकलने वाली तिरंगा यात्रा (tricolor tour) को लेकर राकेश टिकैत ने "अपना ट्रैक्टर अपना तिरंगा" नाम देते हुए कहा है कि हर गांव में प्रशासन किसानों को तिरंगा उपलब्ध कराने का काम करें जिससे किसान अपने ट्रैक्टर पर तिरंगा लगाकर यात्रा में शामिल हो सके, यही नहीं बिहार की राजनीति में हो रही उथल-पुथल को लेकर राकेश टिकैत ने कहा की हम 20 दिन पहले बिहार गए थे हमने तभी कहा था कि जितना जल्दी हो सके नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) इन से अपना पीछा छुड़ा ले वरना उनका हाल भी उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की तरह होगा मीडिया से बात करते हो राकेश टिकैत ने कहां की किसान करेगा इस बार इनका इलाज ट्रैक्टर होगा हमारा टैंक और उससे होगा युद्ध ....

गन्ने का भुगतान और अग्निवीर योजना पर विचार विमर्श

दरअसल, आपको बता दें कि आज जनपद के बिटावदा गांव में संयुक्त मोर्चा द्वारा आयोजित की गई इस पंचायत में गन्ने का भुगतान अग्निवीर योजना बिजली सहित कई अन्य मुद्दों को लेकर विचार विमर्श किया गया। इस दौरान मुजफ्फरनगर में 21 तारीख के बाद किसान जिला कलेक्ट्रेट पर पहला धरना देगा तो वही 5 सितंबर को शामली जनपद के जिला कलेक्ट्रेट पर किसानो द्वार धरना देने की घोषणा की गई।

इस दौरान राकेश बताया कि बिटावदा गांव से तीन रास्ते हैं जो आरपार हो रहे हैं उन रास्तों पर अंडरपास बने उनके नीचे से बराबर की सड़कें बने यहां पुल है इसकी लंबाई बढ़ानी पड़ेगी एन एच के अधिकारियों से बातचीत हुई थी आज उनके आने का वादा था लेकिन सरकार के ही कुछ लोगों ने यह कह दिया कि मुझे उनके साथ बाहर जाना है।

पहला धरना मुजफ्फरनगर में होगा जिला कलेक्ट्रेट पर धरना देंगे किसान 21 तारीख के बाद तारीख तय हो जाएगी गन्ना और बिजली के अलावा जो और समस्या है उसके लिए क्योंकि गन्ना भुगतान की एक बड़ी समस्या है और 5 तारीख से शामली में धरना होगा गन्ना भुगतान और बिजली के लिए किसान धरने पर बैठेगे यह जो बिजली 23,23 हॉर्स पावर और 25,25 हॉर्स पावर करी जा रही है।

हमें वह पॉलिसी बता दो कि मीटर लगने पर बिजली के आधे रेट कौन से होंगे- राकेश टिकैत

किसानों का देने का हिसाब तो है नहीं आधे देश में किसानों को बिजली फ्री है हम कोई अफीम की खेती नहीं कर रहे है या कोई हमारा अवैध व्यापार नहीं चल रहा जिसकी हम खेती करें उसका नहीं है हमें वह पॉलिसी बता दो कि मीटर लगने पर बिजली के आधे रेट कौन से होंगे और घोषणा पत्र में फ्री बिजली देने का वादा किया था वह फ्री बिजली कैसे आएगी मीटरों का पूरा विरोध है ना मीटर लगेंगे हमें कम से कम 40 हॉर्स पावर की वोल्टेज चाहिए ना मीटर चेक होंगे।

गन्ना भुगतान का मुद्दा है और अग्निवीर जो भी अधिकारी एक अदा मुजफ्फरनगर का या आजा उत्तर प्रदेश का जो अधिकारी अग्निवीर बनना चाहता है जिसकी नौकरी 5 साल से ज्यादा हो गई वह भी एक बार आ जाए कोई भी राजनीतिक आदमी विधायक एमपी जो अग्निवीर बनना चाहते हो तो वह भी इस्तीफा दे या एफिडेविट दे ,दे कि मैं 1 साल लडूंगा चुनाव अगला में चुनाव नहीं लड़ूंगा अग्निवीर ये खाली किसान के बालक नहीं बनेंगे बनना इन्हें भी पड़ेगा।

15 अगस्त को तो हम झंडा फ़राएगे वहां पर हां मुजफ्फरनगर में भी परेड करेंगे अपना ट्रैक्टर अपना तिरंगा 5000 झंडे तो यहां के एसडीएम ने कहा है हर ट्रैक्टर पर तिरंगा लगेगा लेकिन हम सरकार से कहेंगे के जितने ट्रैक्टर हमारे हैं उनके हिसाब से तिरंगे गांव में हमें दे, श्रीकांत त्यागी में यह तो वैसे ही दिखाना चाह रहे हैं कि हमने एक के खिलाफ यह कर दिया देखो हम दूसरे को डरा रहे हैं उसके बालकों को परेशान ना करें वह तो अपना जहां रहेगा तो रहेगा ही एक आदमी के कुछ करने से देश नहीं चलता यह सारी की सारी सरकार ऐबदारी कर रही है अरे वह को जिताने अपने वालों को मुख्यमंत्री जी यह कह दे कि मैं बीजेपी का मुख्यमंत्री हूं मुख्यमंत्री तो सबका ही है मुख्यमंत्री जी से हमें शिकायत है हम पूरी अपील करेंगे।

जितना जल्दी नीतीश कुमार इन से अपना पीछा छुड़ा लेगा उतना ही ठीक है- राकेश टिकैत

बिहार में हम 15 से 20 दिन पहले गए थे हमने बताया था कि जितना जल्दी नीतीश कुमार इन से अपना पीछा छुड़ा लेगा उतना ही ठीक है नहीं तो अगला उद्धव ठाकरे नीतीश कुमार बनेगा उसने अपनी जान बचा ली ठीक कर लिया यह झारखंड की सरकार भी गेरेगे यह जहां जहां दूसरों की सरकार है यह गेरेगे विपक्ष इकट्ठा हो जाये इनसे अपनी जान बचा लो हम तो राजनीतिक है नहीं पर अपनी जान बचा लो प्रधानमंत्री तो एक बने यह 20 बन रहे अपनी जान बचा लो यह सारे को मारेंगे सारों को अकेले-अकेले पेलेंगे यह गांधी परिवार से एक को जेल भेजेंगे उसे दिखाएंगे कि हमने जेल भेज दिया।

किसान करेगा इनका इलाज और ट्रैक्टर होगा हमारा टैंक और होगा युद्ध।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story