×

Muzaffarnagar: राकेश टिकैत के ट्रैक्टर मार्च में हजारों की संख्या में शामिल हुए किसान, सरकार पर बोला हमला

Muzaffarnagar:भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के नेतृत्व में मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव से हजारों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाला गया।

Pankaj Prajapati
Updated on: 17 Oct 2022 2:47 PM GMT
X

मुजफ्फरनगर: राकेश टिकैत के ट्रैक्टर मार्च में हजारों की संख्या में शामिल हुए किसान, इन मुद्दों को लेकर सरकार पर हमला

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Muzaffarnagar News: भारतीय किसान यूनियन (Indian Farmer's Union) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के नेतृत्व में मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव से हजारों की संख्या में किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकाला गया। ट्रैक्टर मार्च शामली के शुगर मिल पर जाकर रुकेगा और वहां एक महापंचायत आयोजन किया गया जिसमें किसानों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की गई। ट्रैक्टर मार्च निकालने के बाद बकाया गन्ना भुगतान (sugarcane payment) में बिजली की बढ़ी दरें और किसानों पर ट्रैक्टर पर सर्वप्रथम शामली जिले में जुर्माना लगाया गया। जिसके विरोध में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के द्वारा हजारों की संख्या में ट्रैक्टर के साथ मार्च निकाला गया।

जिसमें खुद राकेश टिकैत ट्रैक्टर चलाते हुए नजर आए और बकाया गन्ना भुगतान को लेकर शामली शुगर मिल के गेट पर एक महापंचायत को संबोधित करेंगे जिसमें किसानों की समस्याओं को लेकर समय से गन्ने का भुगतान नहीं मिल रहा है। शामली जिले में ट्रैक्टरों पर जुर्माना लगाया जा रहा है। उसके विरोध में एक महापंचायत का आयोजन भी किया जाएगा।

किसानों पर बिजली के मुकदमे दर्ज किये जा रहे हैं।

राकेश टिकैत ने कहा पराली के मुद्दे को लेकर बिजली के मुकदमे किसानों पर दर्ज किए जा रहे हैं और ट्रैक्टरों पर भी ₹10000 तक का जुर्माना लगाया जा रहा है। उसके विरोध में शामली चलकर एक पंचायत में बड़ा निर्णय लिया जाएगा।

सरकार खेतों से पराली उठा ले- राकेश टिकैत

राकेश टिकैत का कहना है कि 8 दिन किसानों ने धरना प्रदर्शन किया था लेकिन अभी तक बकाया गन्ना भुगतान मिलों द्वारा नहीं किया गया है बिजली की समस्या है और लोगों पर मुकदमे लिखे गए हैं। आज शामली अपना हिसाब लेने के लिए जा रहे हैं। बगैर पराली के चावल कैसे पैदा होगा वह तो यहां के साइंटिस्ट बताएंगे या सरकार बताएगी अगर किसान पराली नहीं जलाएगा तो सरकार पराली खेतों से उठा ले, आज शामली में एक बड़ा निर्णय लिया जाएगा।

26 अक्टूबर को ट्रैक्टर से लखनऊ आएंगे टिकैत

Shamali News: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान अब आंदोलन करना सीख गया है इसलिए अब वह अपने ट्रैक्टरों का इस्तेमाल आंदोलन में करता रहेगा उन्होंने कहा कि साजिश के तहत सरकार ट्रैक्टर को बंद करना चाहती है लेकिन वह आगामी 26 तारीख को ट्रैक्टर से ही लखनऊ पहुंचेंगे !

शामली में ट्रैक्टर मार्च निकालने के बाद उन्होंने कहा कि किसानों के बहुत सारे मुद्दे हैं जिसको लेकर के शामली अबे अन्य जनपदों में आज ट्रैक्टर मार्च निकाला गया है इसमें गन्ना भुगतान हाईवे के लिए अधिग्रहण की गई जमीन का उचित मुआवजा ट्रैक्टरों पर मुकदमे बिजली समस्या इन सभी को लेकर के आज ट्रैक्टर मार्च निकाला गया उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर से हादसा होने का कारण बताना एक बहाना है हाथ से कहीं कभी भी किसी भी वाहन के साथ हो सकते हैं ट्रैक्टर को बैन करना उचित नहीं है उन्होंने कहा कि आज देश को अडानी अंबानी चला रहे हैं वन नेशन वन फर्टिलाइजर की प्रधानमंत्री की घोषणा के पीछे अडानी का फर्टिलाइजर बाजार में उतारने की साजिश बताया है।


उन्होंने कहा कि मारका आढाणी का होगा फोटो मोदी और योगी का होगा। उन्होंने कहा कि किसानों का भुगतान न करना मिल मालिकों ने अपने लिए आमदनी का सौदा बना लिया है उन्होंने कहा कि मिल मालिक गन्ने का एक 1 साल बाद भुगतान कर रहे हैं इससे बड़ा उनके लिए आमदनी का कोई दूसरा साधन नहीं हो सकता उन्होंने कहा कि यदि यही स्थिति रही तो चालू सत्र में गन्ना मील में ना डालकर कलेक्ट्रेट परिसर में डाला जाएगा पराली जलाने पर प्रशासन द्वारा मुकदमा किए जाने के संबंध में उन्होंने कहा कि सरकार कोई ऐसी तकनीक बता दें जिससे बिना पराली के धान उगाया जा सकता हो उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी जमीन बचाने के लिए आंदोलन करना पड़ेगा इस जमीन पर बड़े पूंजीपतियों की नजर है उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण के स्थान पर अब मॉडल एक्ट बनाया जा रहा है जिसमें प्रस्ताव पास करके किसी की भी जमीन को व्यापारियों के लिए हड़प लिया जाएगा उन्होंने कहा कि आज के आंदोलन से किसानों को एक बड़ी ताकत मिलेगी।

राकेश टिकैत ने कहा कि अब सरकार के दबाव में आकर अधिकारी ट्रैक्टरों के चालान काट रहे हैं जिसमें ₹10000 तक का जुर्माना लगाया जाता है लेकिन यह अब नहीं चलेगा ! मुलायम सिंह धरतीपुत्र गाए जाते थे और हिंदू रीति रिवाज से आज अखिलेश यादव हरिद्वार गए हैं यह सब हिंदू रीति रिवाज से करना पड़ता है देश के किसानों को बड़ा नुकसान होगा हमारे बीच से मुलायम सिंह जी चले गए हैं और उससे किसान मजदूर गरीब का बहुत नुकसान होगा मुलायम सिंह से हमारी बहुत मुलाकात हुई बहुत काम करते थे गरीबों के लिए हमारी पहली मुलाकात जब वह मुख्यमंत्री थे तब हुई थी और कई बार हमारे गांव में सिसौली में भी आए हैं !

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story