Top

Rampur News: वन कर्मियों ने माफियाओं को खदेड़ा, खैर की लकड़ी बरामद

जनपद रामपुर के मिलक ख़ानम थाना अंतर्गत पीपली वन में बेशकीमती खैर सागौन शीशम आदि के पेड़ मौजूद हैं जिनकी देख रेख की जिम्मेदारी वन विभाग के कंधो पर है लेकिन वन माफिया यहां से चोरी छुपे खैर की लकड़ी को काटकर तस्करी करते रहते हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkMonikaPublished By Monika

Published on 10 Jun 2021 3:37 PM GMT

khair wood caught by forest department team
X

 वन विभाग वालों ने खैर की लकड़ी की बरामद 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर: उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) के जनपद रामपुर (Rampur) में वन कर्मियों और वन माफियाओं (forest mafia) का आमना सामना हो गया जिसके बाद माफिया चोरी की गई खैर की लकड़ी और अपनी बाइक को छोड़कर रफूचक्कर हो गए। इस मामले में केस दर्ज कर लिया गया है ।

जनपद रामपुर के मिलक ख़ानम थाना अंतर्गत पीपली वन में बेशकीमती खैर सागौन शीशम आदि के पेड़ मौजूद हैं जिनकी देख रेख की जिम्मेदारी वन विभाग के कंधो पर है लेकिन वन माफिया यहां से चोरी छुपे खैर की लकड़ी को काटकर तस्करी करते रहते हैं। गत रात्रि के समय जब वन कर्मी गश्त पर थे तभी उनका सामना तस्करों से हो गया इस बीच तस्कर अपनी दो बाइक और काटी गई खैर की लकड़ी के कई बोटे छोड़कर भाग खड़े हुए । वन कर्मियों द्वारा तस्करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उनकी तलाश शुरू कर दी गई है। वही लकड़ी की कीमत का भी आंकलन किया जा रहा है ।

सूचना मिलने पर जंगल में टीमें लगाई गईं

वही डिप्टी रेंजर वन विभाग कुंदन सिंह ने बताया जंगल के अंदर किसी मुखबिर ने ये सूचना दी। सूचना के आधार पर जंगल में दो टीमें लगाई गई थी जैसे ही ये लोग जंगल पहुंचे तत्काल हमारी टीम ने इनको ललकारा और हवाई फायरिंग की मौके पर ये लोग मोटरसाइकिल छोड़कर भाग गए। मोके पर दो मोटरसायकिल 60 बोटे खेर के बरामद किए । इस मामले पर विभागीय केस दर्ज कर दिया गया है मुलजिमओ के नाम से नामजद किया गया है। 4 मुलजिम के नाम आए है जो सभी उत्तराखंड के निवासी हैं ये मामला पीपली वन का है।

Monika

Monika

Next Story