×

Lakhimpur Kheri News: गोला गोकरण नाथ में नालों से अतिक्रमण हटाने की हुई खानापूर्ति, जलभराव से नहीं मिली निजात

Lakhimpur Kheri News: यूपी के लखीमपुर खीरी गोला गोकरण नाथ के बांकेगंज दूसरे दिन भी नालों से अतिक्रमण हटवाने की मात्र खानापूर्ति की गई है।

Himanshu Srivastava
Updated on: 29 Sep 2022 7:55 AM GMT
Lakhimpur Kheri: The removal of encroachment from the drains in Gola Gokaran Nath was done, did not get rid of water logging
X

 लखीमपुर खीरी: गोला गोकरण नाथ में नालों से अतिक्रमण हटाने की हुई खानापूर्ति, जलभराव से नहीं मिली निजात

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lakhimpur Kheri News: यूपी के लखीमपुर खीरी ( Lakhimpur Kheri) गोला गोकरण नाथ (Gola Gokaran Nath ) के बांकेगंज दूसरे दिन भी नालों से अतिक्रमण हटवाने की मात्र खानापूर्ति की गई है। जिस जगह पर नाला जाम की स्थिति बनी हुई है वहां जेसीबी द्वारा अतिक्रमण (encroachment) हटवाया तो गया किंतु वहां से पानी फिर भी नहीं पास हो रहा है जिस पर ब्लॉक मुख्यालय के अधिकारियों ने बताया कि आगे कुछ लोगों ने नाले पर अतिक्रमण कर रखा है जिस से पानी नहीं निकल पा रहा है। इसके लिए एसडीएम को सूचित किया गया है। वह गुरुवार को आकर मौका मुआयना करेंगे।

बता दें कि ब्लॉक बांकेगंज के गांव कोठीपुर में बारिश के बाद मोहल्ले तालाब बन गए हैं जिसके बाद ग्रामीण गंदे पानी से निकल रहे हैं। जलभराव से संबंधित समस्याओं को लेकर सोमवार को ग्रामीणों ने वीडियो से वार्ता भी की। वह एडीओ पंचायत ओमप्रकाश को एक ज्ञापन भी सौंपा। लेकिन मंगलवार सुबह तक कोई अधिकारी गांव में नहीं आया तो ग्रामीणों ने ब्लॉक मुख्यालय के मुख्य द्वार पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। जाम लगने से अधिकारी बाहर ही खड़े रहे इसके बाद अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया। जिसके बाद मुख्य द्वार को खुलवाया गया।

वहीं मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान पति वीरेंद्र गौतम ग्रामीणों को आश्वासन देने के बाद थाना अध्यक्ष राम लखन पटेल के साथ मौके का निरीक्षण किया जहां-जहां पर लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है।

गोला गोकरण नाथ का ये पूरा मामला

आपको बताते चलें वहीं बुधवार को नाले पर से अतिक्रमण राष्ट्र एंड हाउस वाली पुलिया से लेकर अशोक डॉक्टर क्लीनिक तक हटाया गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि जो नाला राज टेंट हाउस से सीधा रमतलिया गांव की ओर गया है, उससे अतिक्रमण हटवाया दिया जाएगा तो जलभराव 70% मुक्ति मिल जाएगी।

यह ग्रामीणों का कहना है। दूसरी और जलभराव से ग्रस्त ग्रामीणों का कहना है कि संसारपुर मार्ग पर कोठी पुर के अंदर जो रास्ता आया है। वह पुलिया है तो उसके पास का भी अतिक्रमण हटा। वही खंड विकास अधिकारी शेखर श्रीवास्तव ने बताया कि गुरुवार को उपजिलाधिकारी बुलावा उनके साथ पुलिस बल मौजूद रहेगा तब अवैध अतिक्रमण हटाया जाएगा।

महिलाएं और छोटे बच्चे घरों में कैद रहने की को मजबूर हैं

ग्रामीणों ने बताया कि लोगों ने कई जगह पर नालों पर कब्जा कर रखा है। इसलिए जब पानी का निकास नहीं हो पा रहा तो जिसके चलते सारा पानी कोठी पुर गांव में एकत्रित हो रहा है। छोटे-छोटे बच्चों जो स्कूल पढ़ने जाते हैं उन्हें भी गोद में उठाकर ले जाना पड़ता है। महिलाएं और छोटे बच्चे घरों में कैद रहने की को मजबूर हैं।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story