×

Lakhimpur Kheri News: भाजपा नेता की अभद्रता को लेकर डॉक्टर ने दिया इस्तीफा, कार्रवाई की मांग

Lakhimpur Kheri News: संकटा देवी टीकाकरण केंद्र पर अमीय त्रिपाठी ने एएनएम से वैक्सीन के बाबत पूछताछ की तो एएनएम अधिकारियों से संपर्क करने को कहा जिसके बाद अमीय त्रिपाठी भड़क गये।

Network

NetworkNewstrack NetworkPallavi SrivastavaPublished By Pallavi Srivastava

Published on 29 July 2021 4:16 AM GMT

doctor resigned
X

डॉक्टर ने दिया इस्तीफा (सांकेतिक फोटो) pic(social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lakhimpur Kheri News: लखीमपुर खीरी(Lakhimpur Kheri) में भाजपा नेता(BJP leader) द्वारा डिप्टी डीटीओ डॉ. उज्जवल कांत यादव(Dr. Ujjwal Kant Yadav) से अभद्रता का मामला सामने आया है। मामले में कोई कार्रवाई न किए जाने से आहत डिप्टी डीटीओ ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा(Resignation) दे दिया। वहीं आक्रोशित डॉक्टर और संविदा संवर्ग ने सरकारी कार्य में बाधा डालने वालों पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं।

आपको जानकारी दे दें कि सोमवार को कलस्टर अभियान(cluster campaign) के तहत संकटा देवी केंद्र(Sankata Devi Center) पर टीके(Vaccination) लगाए जा रहे थे। इस दौरान भाजपा की जिला मंत्री रचना शुक्ला के साथ भारतीय जनता युवा मोर्चा जिला कार्य समिति के सदस्य अमीय त्रिपाठी मौके पर पहुंचे थे। बता दें कि संकटा देवी टीकाकरण केंद्र पर अमीय त्रिपाठी ने एएनएम से वैक्सीन के बाबत पूछताछ की तो एएनएम अधिकारियों से संपर्क करने को कहा जिसके बाद अमीय त्रिपाठी भड़क गये।

गुस्साए अमीय त्रिपाठी ने जिला मंत्री रचना शुक्ला के सम्मान में उठ कर खड़े न होने पर एएनएम से अभद्रता करते हुए सिरिंज और वैक्सीन छीनकर टीकाकरण कार्य रुकवा दिया। पूरे घटनाक्रम की सूचना एएनएम डिप्टी डीटीओ डॉ. उज्जवल कांत यादव को फोन करके दे रही थीं कि अमीय त्रिपाठी ने एएनएम से फोन छीनकर डिप्टी डीटीओ के साथ भी गाली गलौज कर उन्हें धमकी दी।

जिसके बाद गुस्साए अमीय त्रिपाठी ने टीकाकरण बंद कराकर एएनएम को बेइज्जत कर वहां से भगा दिया। एएनएम ने सरकारी कार्य में बाधा डालने और अपने साथ अभद्रता होने के मामले में पुलिस को तहरीर दी। लकिन मामले में पुलिस में कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया। घटना से आहत होकर बुधवार को डॉ. उज्जवल ने उप जिला प्रतिरक्षण अधिकारी के पद से इस्तीफा दे दिया। डॉ. उज्जवल ने अमीय त्रिपाठी के खिलाफ डीएम कार्यालय में शिकायती पत्र देकर उचित कार्रवाई की मांग की है।

भाजपा पर उठ रहे हैं सवाल pic(social media)

गलती पर दे दूंगा नौकरी से इस्तीफा

डॉ. उज्जवल कांत यादव (एमबीबीएस एमडी) ने कहा है कि सीएमओ को अपने पद से इस्तीफा देने के लिए मैं गया था लेकिन जब उन्होंने नहीं लिया तो डाक में रिसीव करा दिया। अगर हमारे अधिकारियों को लगता है कि इस मामले में मेरी गलती है तो मैं नौकरी से भी इस्तीफा देने को तैयार हूं। वहीं डॉ. शैलेंद्र भटनागर (सीएमओ) ने कहा कि डिप्टी डीटीओ के अपने पद से इस्तीफा देने के संबंध में न तो उनका त्याग पत्र मिला है और न ही उन्होंने मुझे कुछ बताया है। इस मामले में पूरी जानकारी मिलने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

भाजपा पर लगा गुंडई का आरोप

यह मामला अब राजनीतिक मामला बनते दिख रहा है। मामले में सपा जिलाध्यक्ष रामपाल सिंह यादव ने कहा है कि भाजपा के नेता और कार्यकर्ता पूरी तरह गुंडई पर उतारू हो गये हैं। ईमानदार अधिकारी इनसे प्रताड़ित होकर इस्तीफा देने को मजबूर हो रहा है। चाहे एंबुलेंस का मामला हो चाहे डॉक्टर और एएनएम से अभद्रता का। भाजपा कार्यकर्ता और सरकार अहंकार में डूबा हुआ है। जब पुलिस भी उन्ही की है, तो कैसे होगी कार्रवाई।

उधर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रहलाद पटेल ने भी तंज कसते हुए कहा है कि सत्ता के नशे में संविधान के दायरे से हटकर अलोकतांत्रिक तरीके से अगर कोई घटना को अंजाम देता है तो वह घोर निंदनीय है। भाजपा सरकार और भाजपा कार्यकर्ता पूरी तरह सत्ता के मद में चूर हो गये हैं।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story