×

Lakhimpur Kheri scandal: सबूत जुटाने के लिए एसआईटी ने जारी किया अपना हेल्पलाइन नंबर, सबूत के तौर पर मिल चुके हैं 135 वीडियो

Lakhimpur Kheri scandal:तिकोनियाँ कांड की चार्जशीट न्यायालय में पेश करने के दौरान कोई भी इलेक्ट्रॉनिक प्रमाण बाकी न रह जाए इसके प्रयास एसआईटी टीम कर रही है।

Sandeep Mishra

Sandeep MishraReport Sandeep MishraShraddhaPublished By Shraddha

Published on 17 Oct 2021 12:35 PM GMT

सबूत जुटाने के लिए एसआईटी ने जारी किया अपना हेल्पलाइन नंबर
X

सबूत जुटाने के लिए एसआईटी ने जारी किया अपना हेल्पलाइन नंबर (कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lakhimpur Kheri scandal: लखीमपुर (Lakhimpur) तिकोनियाँ कांड की चार्जशीट (Lakhimpur Kheri tikoniya case Chargesheet) न्यायालय में पेश करने के दौरान इस कांड से सम्बंधित कोई भी इलेक्ट्रॉनिक प्रमाण बाकी न रह जाए इसके पूरे प्रयास एसआईटी टीम (SIT Team) कर रही है। इसके लिए अब एसआईटी ने अपना एक सियूजी नम्बर भी पब्लिक के बीच जारी कर दिया है। अब तक विभिन्न श्रोतों से एसआईटी को इस कांड से रिलेटिड 135 वीडियो प्राप्त हो चुके हैं।

जांच में सहयोग करने वाले शख्स का नाम रखा जाएगा गुप्त (Lakhimpur Kheri SIT Janch)

लखीमपुर तिकुनिया कांड (Lakhimpur Kheri tikoniya Kand) की जांच कर रही एसआईटी टीम (SIT Team) को अब तक 135 वीडियो क्लिप मिल चुके हैं। इसके अलावा फोटो व सीसीटीवी फुटेज (Lakhimpur Kheri Hatyakand CCTV Video) भी मिले हैं। जिनके आधार पर घटनाक्रम की कड़ियों को जोड़कर जांच की जा रही है। हालांकि अभी जांच टीम को उम्मीद है कि घटना से संबंधित महत्वपूर्ण वीडियो या फोटो कुछ लोगों के पास हो सकते हैं, जिनके मिलने से पुलिस की जांच को और मजबूती मिलेगी। इसके लिए जांच टीम ने हेल्पलाइन नंबर (Lakhimpur Kheri Helpline Number) 9454403800 पर या व्यक्तिगत रूप से एसआईटी कार्यालय (SIT Karyalay kaha Hai) में वीडियो या फोटो जमा कराने के लिए लोगों से अपील की है। एसआईटी को उम्मीद है कि यह अपील कारगर साबित होगी,लेकिन अभी कड़ियाँ मिल नहीं रही है।

लखीमपुर तिकुनिया कांड की जांच कर रही एसआईटी टीम (कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)


गत तीन अक्टूबर को तिकोनियाँ में हुई हिंसा (Lakhimpur Kheri tikoniya hinsa) के मामले में अभी कई और अहम सुराग सामने आ सकते हैं। ऐसा एसआईटी का मानना है। अब तक जो भी पूछताछ हुई और सोशल मीडिया से जो सबूत सामने आए हैं। उनसे घटनाओं की कड़ियों को जोड़ा जा रहा है तो कई महत्वपूर्ण तथ्यों की कड़ियाँ मैच नहीं हो पा रहीं हैं। एसआईटी ने सम्भावना जताई है कि जल्द ही कुछ और इस कांड से सम्बंधित महत्वपूर्ण सुराग हाथ लग सकते हैं। पुलिस ने अपने खुफिया सूत्रों को भी इसके लिए सक्रिय कर दिया है।

सीधे क्राइम ब्रांच ऑफिस में दिए जा सकते हैं सबूत (Lakhimpur Kheri kisan hatyakand ke saboot)

इस कांड की जांच कर रही एसआईटी के सदस्य एएसपी एके सिंह ने बताया कि हेल्पलाइन नंबर के अलावा भी लोग सीधे क्राइम ब्रांच में स्थित एसआईटी ऑफिस में वीडियो या फोटो उपलब्ध करा सकते हैं। ऐसे व्यक्तियों का नाम-पता को पूरी तरह गोपनीय रखा जाएगा।

फरार सुमित से पूछताछ के बाद सामने आएंगे अहम सबूत

तिकोनियाँ हिंसा मामले (Lakhimpur Kheri Hinsa Mamla) में सुमित जायसवाल को एक महत्वपूर्ण गवाह एसआईटी मानकर चल रही है। इस संदर्भ में एसआईटी का मानना है कि वह घटना के समय जीप में मौजूद था। वह इस कांड का चश्मदीद गवाह है। जब सोशल मीडिया पर जीप से उसकी तस्वीर वायरल हुई तो उसने चैनल पर घटना के बारे में बताया था। लेकिन जैसे गिरफ्तारियां शुरू हुईं। सुमित गायब हो गया। पुलिस को इसकी तलाश है।

तिकोनियाँ कांड आरोपी (कॉन्सेप्ट फोटो - सोशल मीडिया)


सुमित जायसवाल की एसआईटी कर रही है सरगर्मी से तलाश

सुमित जायसवाल जीप में मौजूद था जो तिकोनियाँ कांड का इकलौता चश्मदीद गवाह है। घटना के जितने वीडियो सामने आए हैं उससे साफ हो रहा है कि थार जीप की चपेट में आकर किसानों की मौत हुई। सूत्रों की मानें तो इस मामले में गिरफ्तार चारों आरोपियों से पूछताछ में सबसे अधिक तथ्यात्मक जानकारी अंकित दास से हासिल हुई है। एसआईटी अब सुमित जायसवाल की तलाश में छापेमारी कर रही है। उसकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने अपने खुफिया तंत्र व मुखबिरों को लखनऊ से लेकर नेपाल बॉर्डर तक सक्रिय कर दिया है।

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2021, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2021

Shraddha

Shraddha

Next Story