×

Lakhimpur Violence: आशीष मिश्रा भेजे गए जेल, SIT की टीम ने जुटाए सबूत, मोबाइल लोकेशन पर टिकी सबकी निगाहें

एसआईटी की टीम को 3 दिन की रिमांड मिली थी। जिसकी मियाद कल सुबह यानी शुक्रवार 10 बजे पूरा हो रही थी।

Sanjay Srivastava

Sanjay SrivastavaReport Sanjay SrivastavaDivyanshu RaoPublished By Divyanshu Rao

Published on 14 Oct 2021 4:48 PM GMT

Lakhimpur Violence: आशीष मिश्रा भेजे गए जेल, SIT की टीम ने जुटाए सबूत, मोबाइल लोकेशन पर टिकी सबकी निगाहें
X

घटना स्थल की जांच करती एसआईटी की टीम 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Lakhimpur Violence SIT team: लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा (Lakhimpur Kheri violence aaropi Ashish Mishra) को एसआईटी की टीम ने समय से पहले ही जेल भेज दिया है। इससे पहले आज गुरुवार को उन्हें जांच टीम लेकर घटनास्थल पर पहुंची। जहां सीन री-क्रिएशन कर सबूत जुटाए । उसके बाद जहां पर उनके पिता ने दंगल का आयोजन कराया था टीम उन्हें वहां लेकर भी पहुंची। वहां यह जानने की कोशिश की कि क्या घटना वाले वक्त वहां थे या हिंसा वाली जगह पर उनकी मौजूदगी थी। इन सब की तहकीकात करने के बाद एसआईटी की टीम उन्हें अब जेल भेज दिया है।

बता दें कोर्ट से एसआईटी की टीम (SIT Team) को 3 दिन की रिमांड मिली थी। जिसकी मियाद कल सुबह यानी शुक्रवार 10 बजे पूरा हो रही थी। लेकिन उससे पहले ही जेल भेज दिया है। अब एसआईटी की टीम आशीष मिश्रा घटना के वक्त 2:30 से 3:30 बजे कहां थे , इस लोकेशन को खंगालने में जुट गई है। आशीष के मोबाइल की लोकेशन ट्रेस की जा रही है और उसी से सही पता लगेगा की वह कहाँ थे।

सबूत जुटाने पहुंची SIT की टीम

एसआईटी की टीम घटना वाली जगह पर आशीष मिश्रा, अंकित दास और ड्राइवर को लेकर पहुंची। जहां पर टीम ने सीन रिक्रिएशन किया। गौरतलब है की लखीमपुर के तिकोनिया में तीन अक्टूबर को बीजेपी नेताओं-कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच झड़प हो गई थी, जिसमें चार किसानों समेत कुल आठ लोगों की जान चली गई थी। किसानों का आरोप था कि किसानों को रौंदते समय आशीष मिश्रा गाड़ी में मौजूद था और उसे ही मुख्य आरोपी भी बनाया गया है।

घटना स्थल में आशीष मिश्रा को लेकर पहुंची एसआईटी

हालांकि, अब तक की पूछताछ के दौरान आशीष मिश्रा ने घटनास्थल पर मौजूद होने से इनकार किया है। दावा किया कि वह दंगल वाली जगह पर था, जहां पर कुश्ती के कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा था। एसआईटी की टीम दंगल वाली जगह पर भी आशीष को लेकर गई । वहां भी पूछताछ के साथ सुबूत जुटाने की कोशिश की।

आशीष के लोकेशन पर टिकी निगाहें

एसआईटी की टीम अब आशीष मिश्रा के लोकेशन पर तफ्तीश करने में लग गई है । घटना वाले दिन 2:30 से 3:30 के बीच में वह कहां थे, इसी पर अहम जा जाकर टिकी है। जांच कर रहे अधिकारी इसी के इर्द-गिर्द पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। हालांकि जांच आशीष के मोबाइल की लोकेशन पर टिक गई है।

एसआईटी की गिरफ्त में आशीष मिश्रा

मामले की जांच कर रही टीम ने मोबाइल टावर का डाटा खंगालना शुरू कर दिया है। मोबाइल के सहारे आशीष मिश्रा की घटनास्थल पर मौजूदगी की जांच के लिए जांच कमेटी ने मोबाइल टावर के बीटीएस यानी बेस ट्रांसीवर स्टेशन को खंगालना शुरू किया। बलबीरपुर गांव जहां वीवीआईपी कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा था। वहां पर आशीष मिश्रा की मौजूदगी सुनिश्चित कराने के लिए गांव के बीटीएस टावर और तिकोनिया में घटनास्थल के बीटीएस टावर को खंगाला जा रहा है।

Lakhimpur Kheri violence , लखीमपुर खीरी हिंसा , Lakhimpur Kheri Violence , Lakhimpur Kheri Violence LIVE Updates , Minister's Son Ashish Mishra aaropi Lakhimpur Kheri hatyakand

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story