Top

Pilibhit Crime News: बिजली विभाग के जेई ने ली हजारों रुपए घूस! ग्रामीणों ने किया हंगामा

बिजली विभाग के जेई ने बिजली के पोल लगाने के एवज में ग्रामीणों से तीस हजार रुपए लिए और पुराना पोल लगाकर चल दिए।

Pranjal Gupata

Pranjal GupataReport Pranjal GupataDeepakPublished By Deepak

Published on 22 July 2021 3:53 PM GMT

Electric poll is established by technician
X

बिजली का पोल लगाते बिजली विभाग के मिस्त्री

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Pilibhit News: सत्ता में काबिज भाजपा सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाने की बात की पर यूपी के पीलीभीत जनपद में बिजली विभाग के लगातार भ्रष्टाचार के मामले आये दिन सामने आते रहते है। जनपद में ऐसे कई मामले भाजपा सरकार के इन पांच सालों में सामने आए पर कार्यवाही के नाम पर शून्य है। यहाँ बिजली का कनेक्शन कराना हो, या कनेक्शन कटवाना हो, या कोई पोल लगवाना हो हर छोटे बड़े काम के लिए यहां रिश्वत का चढ़ावा चढ़ाना पड़ता है।


बिजली का खंभा जिसकों ग्रामीणों ने ले जाने नहीं दिया


जी हां ऐसा ही एक मामला पीलीभीत जनपद में देखने को मिला। जहां पीलीभीत शहर के जेई जहांगीर आलम व लाइन मैन ज्ञानेंद्र कश्यप पर शहर के एक मोहल्ले में बिजली के पोल खड़े कर लाइन डलवाने के नाम पर 30 हजार रुपए की ठगी करने का आरोप लगा है। वही जब मामला उच्च अधिकारियों के संज्ञान में आया तो जेई मौके से पोल उखाड़ने के लिए गए तो स्थानीय लोगो ने हंगामा शुरू कर दिया। जिसके बाद जेई मौके से दबे पांव भाग निकले।

बिजली के पुराने पोल खड़े करवा दिए

दरअसल सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला देशनगर में बीते कई वर्षों से गली में बिजली के तारों का झुंड लकड़ी की बल्लियों पर लगा था। जिसको लेकर स्थानीय लोगो द्वारा बिजली विभाग से बिजली के पोल लगवाने की मांग की गई थी, जिसको लेकर बिजली विभाग के जेई ने बिना इस्टीमेट के ही स्थानीय लोगो से 30 हजार रुपए की अवैध धन उगाही कर बिजली के पुराने पोल खड़े करवा दिए, जैसे ही मामला उच्च अधिकारियों के संज्ञान में आया तो जेई ने मौके से पोल हटवाने के लिए लेबर भेज दी, लेकिन स्थानीय लोगो ने बिजली विभाग के पोल वहीं रोक जेई को उल्टे पैर जाने को कह दिया।


पुराने बिजली का खंभा जिसको लेकर आया था बिजली विभाग का जेई


स्थानीय जनता में बिजली विभाग के जेई व लाइन मैन के खिलाफ काफी रोष है। स्थानीय लोगो का साफ तौर से कहना है कि बिजली के पोल लगवाने के एवज में जो अवैध धन उगाही की गई, स्थानीय लोगो से करीब तीन-तीन हजार रुपये लिए गए। इसके बाद यहां पुराने पोल लगाने के लिए भेज दिए गए। बाद में उन्हीं पोल को यहां लगवा दिया गया।वहीं अब बिजली विभाग के कर्मचारी और जेई उन पोल को उखाड़ने के आये। जिनको हम स्थानीय लोगो ने उखाड़ने नही दिया गया बल्कि मौके से जेई उल्टे पैर वापस लौट गए। स्थानीय लोगो से जो अवैध धन उगाही की गई या तो वो वापस की जाए या पोल लगवाए जाए। जिसको लेकर स्थानीय लोगो मे बिजली विभाग के खिलाफ काफी रोष देखने को मिला है।

Deepak

Deepak

Next Story