×

Rampur Crime News: मानसिक बीमार किशोरी को युवक ने बनाया हवस का शिकार

रामपुर के एम गांव में पड़ोस के युवक ने दिव्यांग युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया है।

Azam Khan

Azam KhanReport Azam KhanRaghvendra Prasad MishraPublished By Raghvendra Prasad Mishra

Published on 14 Sep 2021 10:34 AM GMT

Superintendent of Police Dr. Sansar Singh
X

पुलिस अधीक्षक डॉ. संसार सिंह (फोटो-न्यूजट्रैक)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Rampur Crime News: जनपद रामपुर के थाना अजीम नगर क्षेत्र के एक गांव निवासी दलित समाज की मानसिक रूप से कमजोर एवं हाथ-पैरों से विकलांग 16 साल की किशोरी से उसी के पड़ोस में रहने वाले एक युवक ने दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया। किशोरी से युवक दुष्कर्म (rape) पिछले 1 साल से कर रहा था। बहरहाल कल किशोरी ने एक मरे हुए नवजात शिशु को जन्म दिया, जिसके बाद परिवार वाले इस घटना से दंग रह गये। किशोरी सुन और बोल भी नहीं पाती है, इसलिए परिवार वालों ने उसे युवक की फोटो दिखाई तो किशोरी ने उसे पहचान लिया।

पुलिस ने इस मामले में पड़ोस के रहने वाले आरोपी युवक अंकित के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया। वहीं इस मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. संसार सिंह ने बताया कि थाना अजीम नगर में एक महिला ने तहरीर दी है। उसकी एक 16 वर्षीय दिव्यांग बेटी है, उसका पड़ोसी जो रिश्ते में तहेरा भाई भी लगता है। विगत 1 वर्षों से वह उसके साथ शारीरिक संबंध स्थापित कर रहा था, जिससे लड़की गर्भवती हो गई, कल इसका अबार्शन हो गया। इस संबंध में लड़के के विरुद्ध मुकदमा लिख लिया गया है और उसके विरुद्ध आगे कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही आरोपी युवक अंकित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गौरतलब है कि लड़कियों की सुरक्षा के लिए पूरे देश में कवायद तो की जा रही है, पर वास्तविकता में इसका कहीं कोई असर होता दिख नहीं रहा है। दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना के बाद मोमबत्ती जुलूस, धरना, प्रदर्शन एक सिलसिला सा बन गया है। सच यह है कि इसका हमारे समाज पर कोई फर्क पड़ता दिखाई नहीं दे रहा। नतीजतन, आए दिन दुष्कर्म जैसे अपराधों की बाढ़ सी आ गई है। हवस में कुछ लोग इतने अंधे हो गए हैं कि मानसिक रूप से बीमार बच्चियों को भी नहीं बख्श रहे हैं।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story