×

Shahjahanpur News: डीएम के खिलाफ धरने पर बैठीं महिलाएं, जमकर की नारेबाजी

शाहजहांपुर में महिलाएं डीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गई हैं। महिला संगठन का कहना है कि जिलाधिकारी ने उनके साथ अभद्रता और अमर्यादित व्यवहार किया है।

Sanjay Srivastava

Sanjay SrivastavaReport Sanjay SrivastavaAshikiPublished By Ashiki

Published on 30 July 2021 3:03 PM GMT

Shahjahanpur News
X

डीएम के खिलाफ धरने पर बैठीं महिलाएं

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर: यूपी के शाहजहांपुर में सामाजिक संगठन से जुड़ी महिलाएं डीएम के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गई हैं। महिला संगठन का कहना है कि जिलाधिकारी ने उनके साथ अभद्रता और अमर्यादित व्यवहार किया है। इसी के चलते महिलाएं डीएम ऑफिस के बाहर धरने पर बैठी हैं। उनकी मांग है कि जिलाधकारी शाहजहांपुर उनसे लिखित माफी मांगे और ऐसा व्यवहार किसी से ना करें इसका संकल्प लें नहीं तो धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

दरअसल, सामाजिक संगठन राष्ट्रीय शक्ति दल से जुड़ी महिलाएं कल जिलाधिकारी शाहजहांपुर से संगठन की महिलाओं की प्रधानमंत्री आवास की स्वीकृति की मांग को लेकर मिलने आई थी। आरोप है कि जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने इस संगठन की अध्यक्ष 71 साल की बुजुर्ग महिला सावित्री शर्मा सहित अन्य महिलाओं के साथ बेहद अभद्र व्यवहार किया और अमर्यादित बातों को कहते हुए सभी को कार्यालय के बाहर निकाल दिया था। इसके बाद महिलाओं ने जिला अधिकारी मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए जमकर हंगामा काटा और उनकी गाड़ी का घेराव किया था। आज सामाजिक संगठन राष्ट्रीय शक्ति दल से जुड़ी महिलाएं नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंच गईं और जिला अधिकारी से माफी की मांग करते हुए कलेक्ट्रेट में धरने पर बैठ गईं।


संगठन के जिला अध्यक्ष सावित्री शर्मा का कहना है कि उनकी उम्र 71 साल है। वह कल जिला अधिकारी इंद्र विक्रम सिंह से प्रधानमंत्री आवास को लेकर मिलने गई थी, जिस पर जिलाधिकारी ने उन्हें और संगठन से जुड़ी दो अन्य महिलाओं को अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए अपमानित किया और अर्दली बुलाकर ऑफिस से बाहर निकाल दिया। इसी बात से नाराज महिलाएं आज डीएम कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गईं।


धरने पर बैठी महिलाओं की मांग है कि जब तक जिला अधिकारी उनसे लिखित माफी नहीं मानते और ऐसा व्यवहार किसी से ना करें इसका संकल्प नही लेते तब तक उनका जिला अधिकारी के खिलाफ धरना प्रदर्शन चलता रहेगा।

Ashiki

Ashiki

Next Story