×

Shahjahanpur News: सेना के शहीद जवान सराज सिंह को आज दी गई सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई

Shahjahanpur Shaheed Saraj Singh : सेना के शहीद जवान सराज सिंह को आज सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई।

Sanjay Srivastava

Sanjay SrivastavaReport Sanjay SrivastavaShraddhaPublished By Shraddha

Published on 14 Oct 2021 10:46 AM GMT

हजारों की संख्या में लोग सैनिक के घर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी
X

हजारों की संख्या में लोग सैनिक के घर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Shahjahanpur News: शाहजहांपुर जिले के थाना बण्डा क्षेत्र के ब्लाक के अख्तियारपुर धौकल के रहने वाले सेना के शहीद जवान सराज सिंह (Shaheed Saraj Singh) को आज सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। शहीद के अंतिम संस्कार (Antim Sanskar) में शामिल होने के लिए हजारों की संख्या में लोग सैनिक के घर पहुंचे और उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर सुरेश तिवारी शहीद के अंतिम दर्शन में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने परिवार वालों को सरकार द्वारा आर्थिक मदद के तौर पर 50 लाख का चेक सौंपा। सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार सैनिक की शहादत पर उन्हें नमन करती है। सराज सिंह कश्मीर में आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गए थे। आज सुबह उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक आवास पहुंचा था।

सराज सिंह की कैसे हुई शहादत



Shahjahanpur News in hindi - आपको बता दें कि जम्मू में पुंछ के पास सूरनकोट के चामरेर फॉरेस्ट एरिया में सेना के आतंक विरोधी सर्च ऑपरेशन के दौरान यह मुठभेड़ हुई। यहां घुसपैठ करके आए हुए आतंकवादी भारी हथियारों से लैस थे। इस एनकाउंटर के दौरान सराज सिंह सहित तीन जवान और एक जेसीओ शहीद हो गए। इन शहीदों में एक शहीद सेना का सिपाही सराज सिंह है, जो शाहजहांपुर जिले के थाना बण्डा क्षेत्र के गांव अख्तियारपुर धौकल का रहने वाला है। शहीद सराज सिंह की डेढ़ वर्ष पूर्व ही शादी हुई थी। विचित्र सिंह के तीन बेटे गुरप्रीत सिंह, सुखबीर सिंह, सराज सिंह सेना में हैं। सराज सिंह सबसे छोटा था। सुखबीर सिंह इन दिनों छुट्टी पर घर आए हुए हैं। बेटे की शहादत पर पूरा गांव गम में डूबा है।

कैबिनेट मिनिस्टर सुरेश कुमार खन्ना

गौरतलब है कि तीन दिन पूर्व जवान की शहादत की जानकारी मिलती मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद के परिजनों को 50 लाख रुपये देने का एलान किया था साथ ही जनपद की एक सड़क का नाम शहीद के नाम पर करने की घोषणा की थी।


Shraddha

Shraddha

Next Story