Top

युवाओं को जोड़ना चाहता है संघ, क्षेत्रीय प्रचारकों की बैठक में मंथन

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 10 July 2016 1:54 PM GMT

युवाओं को जोड़ना चाहता है संघ, क्षेत्रीय प्रचारकों की बैठक में मंथन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: आरएसएस की क्षेत्रीय प्रचारकों की बैठक आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की अध्यक्षता में शुरू हुई। इस बैठक का मुख्य बिंदु रहा कि संघ से युवाओं को कैसे जोड़ा जाए। युवा पीढ़ी को किस तरह प्रभावित करना है। इस विषय पर विस्तार से चर्चा की गई। सभी प्रांत प्रचारकों की राय ली गई। यह बैठक रात दस बजे तक चेलेगी लंच के दौरान संघ सूत्रों से मिडिया को इसकी जानकारी मिल पाई।

आरएसएस प्रमुख ने हमेशा की तरह इस बार भी मीडिया से दूरी बनाए रखी। कॉलेज परिसर जबरदस्त सुरक्षा घेरे में हैं। सूत्रों की मानें तो आने वाले भविष्य को ध्यान में रख कर युवाओं को संघ से जोड़ने पर फोकस किया गया है। संघ प्रमुख का मानना है कि जब युवा संघ से प्रभावित होंगे तो तो आने समय में उनके बच्चे भी संघ से जुड़ेंगे, जिससे संघठन को मजबूती मिलेगीl अब इस बात पर विचार करने की जरूरत है कि किस तरह युवा पीढ़ी को जोड़ा जाए।

युवाओं को जोड़ने के लिए शहरी क्षेत्रों में संघ वार्ड स्तर पर काम करेगा। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में गांव-गांव से युवाओं को संघ से जोड़ा जाएगा। जितने ज्यादा लोग युवा संघ विचार धारा से जुड़ेंगे तो इसका परिणाम 2017 के विधानसभा और इसके बाद लोकसभा चुनाव में देखने को मिलेगाl

संघ ने भी माना है कि आज की युवा पीढ़ी बहुत फास्ट है जब नई प्रतिभाए संगठन से जुड़ेंगे तो संघ लोगों की संघठन के लिए विचार में बदलाव भी आएगा। संगठन को बनाए रखने के लिए गांव और वार्ड स्तर पर शाखाओं का रोजाना आयोजन किया जाएगा।

Newstrack

Newstrack

Next Story