Top

सुब्रत रॉय पहुंचे गोरखपुर, कहा- पुराना गौरव हासिल करेगा सहारा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 13 Jun 2016 10:58 PM GMT

सुब्रत रॉय पहुंचे गोरखपुर, कहा- पुराना गौरव हासिल करेगा सहारा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुरः सहारा ग्रुप के प्रमुख सुब्रत रॉय ने उम्मीद जताई है कि आने वाले दिनों में कंपनी एक बार फिर अपना पुराना गौरव हासिल कर लेगी। यहां आभार यात्रा पर पहुंचे सुब्रत ने कहा कि जब भी कोई आगे बढ़ता है तो उसे प्रॉब्लम तो फेस करनी ही होती है।

क्या कहा सुब्रत रॉय ने?

-प्रॉब्लम को फेस करना होता है, लेकिन परेशान होने की बात नहीं है।

-आने वाले दिनों में सबकुछ ठीक और पहले जैसा हो जाएगा।

-गोरखपुर आने पर अपने घर आने जैसा अहसास होता है।

-सहारा के कर्मचारी कठिन वक्त में मेरे साथ डट कर खड़े रहे।

-सहारा फिर पुराना गौरव पाएगा, आप निराश न हों।

सुब्रत रॉय से कौन-कौन मिला?

-डीएम ओएन सिंह और एसएसपी अनंत देव मिले।

-विधायक राधामोहन दास अग्रवाल ने भी मुलाकात की।

-शहर के कई व्यापारी और शुभचिंतक भी मिलने होटल पहुंचे।

पैरोल पर हैं सुब्रत

-जमाकर्ताओं के 24 हजार करोड़ रुपए न चुकाने पर 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय को तिहाड़ जेल भेजा था।

-मां छवि रॉय के निधन पर अदालत ने डेढ़ महीने के लिए सुब्रत को पैरोल पर छोड़ा है।

-सुब्रत रॉय अब आभार यात्रा के जरिए लोगों को सहारा के अच्छे दिन आने का भरोसा दिला रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story