×

सहारनपुर दंगा: मुख्य आरोपी की रासुका अवधि तीन माह और बढ़ी, प्रदर्शन का ऐलान

पिछले दिनों सहारनपुर में हुए जातीय दंगों के मुख्य आरोपी भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण की रासुका अवधि को तीन माह के लिए और बढ़ा दिया गया है।तीन माह पहले जमानत से ऐन वक्त पहले रावण पर रासुका लगाई गई थी। रावण पर लगाई रासुका की अवधि बढ़ाए जाने से भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने नाराज होकर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस आंदोलन में चंद्रशेखर के

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 29 Jan 2018 3:24 PM GMT

सहारनपुर दंगा: मुख्य आरोपी की रासुका अवधि तीन माह और बढ़ी, प्रदर्शन का ऐलान
X
सहारनपुर दंगा : मुख्य आरोपी की रासुका अवधि तीन माह और बढ़ी, प्रदर्शन का ऐलान
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

सहारनपुर: पिछले दिनों सहारनपुर में हुए जातीय दंगों के मुख्य आरोपी भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण की रासुका अवधि को तीन माह के लिए और बढ़ा दिया गया है।तीन माह पहले जमानत से ऐन वक्त पहले रावण पर रासुका लगाई गई थी। रावण पर लगाई रासुका की अवधि बढ़ाए जाने से भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने नाराज होकर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस आंदोलन में चंद्रशेखर के समर्थन में दलित संगठनों द्वारा मेरठ में आयोजित कार्यक्रम में गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी के शामिल होने की उम्मीद जताई है।

सोमवार को जनकपुरी थाना क्षेत्र के दून हाइवे स्थित रविदास छात्रावास में भीम आर्मी भारत एकता मिशन द्वारा प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। इस मौके पर भीम आर्मी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत सिंह नौटियाल ने आरोप लगाया कि दलितों व मुस्लिमों की आवाज उठाने वाले चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण पर पहले शासन प्रशासन द्वारा 27 झूठे केस लगाये गये। आरोप लगाया कि हाईकोर्ट द्वारा जमानत दिये जाने पर शासन प्रशासन ने साजिश के तहत चंद्रशेखर के खिलाफ रासुका की कार्रवाई कर दी। जिसको लेकर दलित व मुस्लिम समाज में आक्रोश पैदा हो गया था। इसके बाद शासन प्रशासन ने चंद्रशेखर के ऊपर लगाई गई रासुका हटाये जाने का आश्वासन दिया था। इसी के चलते दलित व मुस्लिम समाज के लोग चुप थे। आरोप लगाया कि शासन प्रशासन ने षड़यंत्र के तहत रासुका की अवधि तीन माह से बढ़ाकर छह महीने कर दी है।

नौटियाल ने आरोप लगाया कि शासन प्रशासन चंद्रशेखर की हत्या की साजिश रच रहा है। इसीलिए चंद्रशेखर को जिला कारागार सहारनपुर से कहीं ओर स्थानांतरित किये जाने की तैयारियां चल रही हैं। आरोप लगाया इस बात को लेकर दलित व मुस्लिमों का आक्रोश सातवे आसमान पर है। यदि चंद्रशेखर रावण पर लगी रासुका ना हटायी गई और जिला कारागार से किसी अन्य जेल में शिफ्ट किया तो पूरे देश में जेल भरो आंदोलन की तैयारियां हो चुकी हैं। इसी क्रम में 18 फरवरी को सहारनपुर व देश के अन्य जिलों में दलित समाज अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरु करेगा। मुकदमें वापस किये जाने की मांग की। इस दौरान जिलाध्यक्ष कमल सिंह वालिया, जिला प्रवक्ता शन्नी गौतम, रोहित नौटियाल, विनोद गौतम, कुलदीप, विनोद प्रधान, दीपक बौद्ध, रोबिन, रोहित राज गौतम, दीपक प्रवीन गौतम, राजन गौतम, टिंकू कपिल,सन्नी, सचिन, सतीश आदि मौजूद रहे।

12 को मेरठ में होंगे जिग्नेश मेवाणी

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत सिंह नौटियाल ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि गुजरात के बड़गाम विधानसभा से दलित विधायक जिग्नेश मेवाणी 12 फरवरी को रासुका के तहत सहारनपुर जेल में बंद चंद्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई के लिए मेरठ में होने वाले दलित संगठनों के कार्यक्रम में शामिल होंगे। नौटियाल ने बताया कि चंद्रशेखर रावण की रिहाई की मांग को लेकर संवैधानिक तरीके से दिल्ली सहित देश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। नौटियाल ने उम्मीद जताई कि जिग्नेश मेवाणी मेरठ में आयोजित कार्यक्रम में जरूर पहुंचेंगे

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story