Top

विरोध के बावजूद अमर सिंह को राज्यसभा भेजेगी सपा, ये है पूरी लिस्ट

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 17 May 2016 10:03 AM GMT

विरोध के बावजूद अमर सिंह को राज्यसभा भेजेगी सपा, ये है पूरी लिस्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: आजम खान और रामगोपाल यादव के विरोध को दरकिनार करते हुए सपा ने अमर सिंह को भी राज्यसभा में भेजने का फैसला किया है। पार्टी की संसदीय बोर्ड ने राज्यसभा के साथ ही एमएलसी कैंडिडेट के नाम तय कर लिए हैं।

राज्यसभा में जाएंगे ये कैंडिडेट

-बेनी प्रसाद वर्मा

-अमर सिंह

-संजय सेठ

-सुखराम सिंह यादव

-रेवतीरमण सिंह

-विशमभर प्रसाद निषाद

-अरविंद प्रताप सिंह

एमएलसी कैंडिडेट्स

-बलराम यादव

-शतरूद्र प्रकाश

-जसवंत सिंह

-बुक्कल नवाब

-राम सुंदर दास निषाद

-जगजीवन प्रसाद

-कमलेश पाठक

-रणविजय सिंह, गोंडा

यह भी पढ़ें... SP सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव बोले- अच्छा हुआ मैं प्रधानमंत्री नहीं बना

संजय सेठ नहीं बन सके एमएलसी अब बनेंगे एमपी

-सपा की सूची में शामिल संजय सेठ बिल्डर हैं।

-पहले पार्टी ने यूपी विधान परिषद के लिए उनका नाम भेजा था।

-गवर्नर राम नाईक ने मनोनयन के लिए उनकी योग्यता पर सवाल उठाए थे।

-एमएलसी न बन पाने वाले संजय सेठ अब राज्यसभा एमपी बनेंगे।

सुर्खियों में रहे हैं संजय सेठ

-संजय सेठ की शालीमार ग्रुप नाम से कंपनी है।

-उनका नाम इनकम टैक्स चोरी के आरोप और वित्तीय अनियमितता की वजह से सुर्खियों में रहा है।

-मुलायम के बेटे प्रतीक यादव के नजदीकी दोस्तों में शुमार किए जाते हैं।

-लखनऊ की तमाम बेशकीमती जमीनें संजय सेठ की कंपनी के पास हैं।

-यूपी सरकार के कई बड़े प्रोजेक्ट भी उनके पास हैं।

जया प्रदा और अमर की पार्टी वापसी पर मुलायम लेंगे फैसला

-शिवपाल सिंह यादव ने कहा जया प्रदा को लेकर कोई भी फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव लेंगे। अमर सिंह की सपा में वापसी को लेकर भी उन्होंने यही जवाब दिया। उन्होंने यह भी कहा कि अमर सिंह की वापसी से सपा मजबूत होगी।

अमर सिंह को लेकर सपा में दो फाड़

समाजवादी पार्टी संसदीय बोर्ड की बैठक मंगलवार को विक्रमादित्य मार्ग स्थित सपा मुखिया मुलायम सिंह के आवास पर हुई। बैठक में राज्यसभा और एमएलसी के नामों पर फैसला होना था। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में पूर्व सपा नेता अमर सिंह को राज्यसभा भेजे जाने को लेकर बोर्ड के सदस्य दो गुटों में बंट गए।

यह भी पढ़ें... 20 घंटे बाद खत्म हुआ सस्पेंस, ‘लेडी सिंघम’ ही बनेगी लखनऊ की नई SSP

रामगोपाल और आजम ने किया विरोध

सूत्रों के अनुसार, बैठक में प्रो. रामगोपाल यादव और कैबिनेट मंत्री आजम खान ने अमर सिंह के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोला। हालांकि सीएम ने बैठक में कुछ भी नहीं कहा।

अंतिम फैसला लेने के लिए मुलायम अधिकृत

बैठक में तय हुआ कि राज्यसभा और विधानपरिषद की रिक्त सीटों पर सपा मुखिया ही अंतिम फैसला लेंगे। पार्टी के महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव ने पत्रकारों को बताया कि इस बारे में फैसला लेने के लिए सपा मुखिया को अधिकृत किया गया था।

यह भी पढ़ें... UP के चुनाव में राम मंदिर से तौबा, विकास को मुद्दा बनाएगी बीजेपी

विधानपरिषद की रिक्त सीटों पर यूथ ब्रिगेड को वरीयता!

सूत्रों के अनुसार बैठक में यह भी तक हुआ कि विधानपरिषद की रिक्त सीटों पर यूथ ब्रिगेड के नेताओं को वरीयता दी जाएगी। पार्टी के बड़े नेताओं ने इसके लिए सीएम अखिलेश यादव से प्रत्याशियों के नाम के सुझाव सपा मुखिया को देने को कहा।

राज्य सभा की 7 और विधानपरिषद की 8 सीटें जीतने की​ स्थिति में सपा

वैसे तो राज्यसभा की 11 और विधानपरिषद की 13 सीटों के लिए सपा में दोवदारों की लंबी फेहरस्ति है। पर पार्टी राज्यसभा की 7 और विधानपरिषद की 8 सीटें ही जीतने की​ स्थिति में है।

Newstrack

Newstrack

Next Story