×

Ramlala Pran Pratishtha: राम का अनोखा भक्त, 2 करोड़ बार लिखा राम-राम, अभी कर रहे है अयोध्या में सेवा कार्य

Ramlala Pran Pratishtha: प्रमोद सैनी की पत्नी किरण बाला ने newstrack.com को बताया कि, 'राम मंदिर को लेकर आज भी उत्साह बरक़रार है। लेकिन, परिवार में लोगों ने बिना मुखिया के समय कैसे गुजारा, ये परिवार ही जानता है।'

Pankaj Srivastava
Published on: 16 Jan 2024 1:44 PM GMT (Updated on: 16 Jan 2024 2:07 PM GMT)
X

2 करोड़ बार लिखा राम-राम शब्द (Social Media)

Shamli News: शामली में एक राम भक्त ने राम मंदिर निर्माण को लेकर अनोखा प्रण लिया। भक्त ने एक करोड़ सवा लाख बार राम लेखन पुस्तिका का प्रण लिया था। लेकिन, आस्था में डूबे राम भक्त ने अब तक एक करोड़ 90 लाख बार राम नाम लिखा। करीब 200 से अधिक पुस्तकों में राम नाम दर्ज कर चुका है। जब से अयोध्या राम मंदिर में रामलला प्राण प्रतिष्ठा की तिथि घोषित हुई है, ये परिवार गांव में खुशी मना रहा है। फिलहाल, राम नाम लिखने वाले प्रमोद सैनी अयोध्या में सेवा दे रहे हैं।

शामली जिले के कांधला ब्लॉक के गांव अट्टा निवासी प्रमोद सैनी का जन्म किसान परिवार में हुआ है। उनके कोई संतान नहीं है। उन्होंने प्रण लिया है अब तक का जीवन राम सेवा को समर्पित रहेगा। 1980 से उन्होंने संघ प्रचारक के रूप में कार्य करना प्रारंभ किया था। उनके अतिरिक्त परिवार में तीन भाई हैं। सभी रामसेवक हैं। आज भी गांव में परिवार राम की ज्योति जला रहे हैं। लोगों को 22 जनवरी के लिए जागरूक कर रहे हैं।


राम मंदिर निर्माण पूरा होने तक राम लेखन

प्रमोद सैनी के घर में रोज कीर्तन हो रहा है। सैनी ने राम मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष किया। इनके द्वारा प्रण लिया गया था कि जब तक राम मंदिर निर्माण पूरा नहीं होगा वह लगातार राम-नाम का लेखन करते रहेंगे। उन्होंने सवा करोड़ बार राम लेखन का प्रण लिया था।

राम आंदोलन में बिजनौर जेल में बंद रहे

प्रमोद सैनी मुलायम सिंह यादव सरकार में गोली कांड के दौरान 1990 में बिजनौर जेल में बंद रहे। 1992 में राम जन्मभूमि आंदोलन में जब ढांचा गिराया गया, तो जगह-जगह राम मंदिर निर्माण के लिए आन्दोलनों में शामिल हुए। उस वक़्त जब संतों द्वारा घोषणा की गई कि राम भजन जागरण के बिना यह कार्य संभव नहीं है। प्रत्येक गांव-शहर में राम नाम के जप के लिए अलग-अलग कमेटी बनाकर लोगों ने काम किया। प्रमोद सैनी के द्वारा इसमें अहम भूमिका निभाई गई। जन-जन तक संदेश पहुंचाने के साथ ही उन्होंने प्रण लिया कि, जब तक राम मंदिर का निर्माण नहीं हो जाता वह लगातार राम लेखन करते रहेंगे।


राम नाम 200 से अधिक पुस्तकों में लिखा

प्रमोद सैनी लगातार लोगों को भी जागरूक करते रहेंगे। उन्होंने 2002 में सवा करोड़ बार राम लेखन पुस्तिका लिखे जाने का प्रण लिया था। यह कार्य तब से जारी है। आज तक जब राम मंदिर उद्घाटन होना है तब तक सैनी ने एक करोड़ 90 लाख बार राम नाम 200 से अधिक पुस्तकों में लिखा है।

राम भक्ति में परिवार ने भी दिया साथ

अयोध्या में भगवान श्री राम के मंदिर के उद्घाटन के दिन तक यह कार्य जारी रहेगा। उनकी पत्नी किरण बाला ने newstrack.com को बताया कि, 'राम मंदिर को लेकर आज भी उत्साह बरक़रार है। लेकिन, परिवार में लोगों ने बिना मुखिया के समय कैसे गुजारा, ये परिवार ही जानता है। आज भी प्रमोद सैनी परिवार को छोड़कर राम सेवा में अयोध्या में जुटे हैं। राम मंदिर उद्घाटन तक वहीं रहकर राम नाम का लेखन और जाप करेंगे। साथ ही, उन्हें कई जिम्मेदारी संगठन ने भी दी है। जिसका वह निर्वहन कर रहे हैं।'

aman

aman

Content Writer

अमन कुमार - बिहार से हूं। दिल्ली में पत्रकारिता की पढ़ाई और आकशवाणी से शुरू हुआ सफर जारी है। राजनीति, अर्थव्यवस्था और कोर्ट की ख़बरों में बेहद रुचि। दिल्ली के रास्ते लखनऊ में कदम आज भी बढ़ रहे। बिहार, यूपी, दिल्ली, हरियाणा सहित कई राज्यों के लिए डेस्क का अनुभव। प्रिंट, रेडियो, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया चारों प्लेटफॉर्म पर काम। फिल्म और फीचर लेखन के साथ फोटोग्राफी का शौक।

Next Story