×

44th Chess Olympiad: मशाल रिले पहुंची लखनऊ, CM योगी बोले- शतरंज का जन्म भारत में हुआ, पहली बार कर रहा मेजबानी

44th Chess Olympiad: पीएम नरेंद्र मोदी ने 44वें शतरंज ओलम्पियाड मशाल रिले-2022 का शुभारंभ किया था। वह हरिद्वार से आगरा-कानपुर होते हुए रविवार को प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंची।

Ashutosh Tripathi
Updated on: 26 Jun 2022 4:50 PM GMT
Chess Olympiad torch relay reached Lucknow, CM Yogi said - Chess was born in India
X

शतरंज ओलम्पियाड मशाल रिले को CM योगी पकड़ते हुए: Photo- Ashutosh Tripathi- Newstrack

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Lucknow: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 44वें शतरंज ओलम्पियाड मशाल रिले-2022 का शुभारंभ किया था। वह हरिद्वार से आगरा-कानपुर होते हुए रविवार को प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंची। जिसके आगमन के कार्यक्रम में ग्रैंड मास्टर विश्वनाथ आनंद (Grand Master Vishwanath Anand) और शतरंज फेडेरेशन (Chess Federation) से जुड़े सभी लोग शामिल थे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने कहा इंटरनेशनल चेस फेडरेशन द्वारा 44वें शतरंज ओलम्पियाड का आयोजन 28 जुलाई से 10 अगस्त तक चेन्नई, तमिलनाडु में होगा। भारत इस प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता की पहली बार मेजबानी कर रहा है।




मशाल रिले आयोजित करने वाला पहला देश 'भारत'

सीएम योगी ने बताया कि शतरंज ओलम्पियाड मशाल रिले (Chess Olympiad Torch Relay) आयोजित करने वाला भारत पहला देश होगा। यह भी तय हुआ है कि प्रत्येक शतरंज ओलम्पियाड के लिए मशाल रिले भारत से ही शुरू होगी। यह भारत के लिए गर्व की बात है।


उन्होंने कहा कि शतरंज की विधा का जन्म भारत में हुआ है। आपने देखा होगा कि पूरी महाभारत इसके इर्द-गिर्द घूमती है, आज उस परम्परा के साथ जुड़ने का एक बार फिर अवसर प्राप्त हो रहा है। यह न केवल भारत का सम्मान है, बल्कि देश की शतरंज की गौरवशाली विरासत का भी सम्मान है।


देश के 75 शहरों में जाएगी मशाल रिले

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि आज जब भारत अपनी आजादी के 75वें वर्ष का अमृत महोत्सव आयोजित कर रहा है, इस अवसर पर शतरंज ओलम्पियाड मशाल 40 दिनों की अवधि में देश के 75 शहरों में जा रही है। शतरंज ओलम्पियाड मशाल रिले 25 जून को हरिद्वार, उत्तराखंड से चलकर आज आगरा-कानपुर होते हुए प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंची है। यह रिले 27 जून को अयोध्या, गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज होते हुए 05 जुलाई को झांसी से गुजरेगी।


दुनिया के 150 से अधिक देशों के खिलाड़ी कर रहें प्रतिभाग

बता दें कि शतरंज ओलम्पियाड-2022 की इस 14 दिवसीय प्रतियोगिता में दुनिया के 150 से अधिक देशों के खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे हैं। भारत के मेजबान होने के नाते महिला एवं पुरुष दोनों वर्गों में 20 भारतीय खिलाड़ियों को प्रतिभाग करने का अवसर प्राप्त हो रहा है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story