×

यूपी में दिखने लगा समायोजन रद्द होने का असर, शिक्षामित्र ने की आत्महत्या

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 13 Aug 2018 3:48 AM GMT

यूपी में दिखने लगा समायोजन रद्द होने का असर, शिक्षामित्र ने की आत्महत्या
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली में शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द होने का असर दिखने लगा है। बरेली के भोजीपुरा थाना क्षेत्र के रहने वाले एक शिक्षामित्र ने इसलिए आत्महत्या कर ली कि वह कम वेतन के चलते अपने परिवार और अपनी जरूरतों को पूरा नही कर पा रहा था।

यह भी पढ़ें: यूपी: मुठभेड़ में 50 हजार का इनामी डकैत गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक भोजीपुरा के रहने वाले महिपाल पुत्र भोलाराम समायोजन रद्द होने के बाद से काफी परेशान चल रहे थे। महिपाल ने घर में उस समय फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली जब परिवार के लोग घर से बाहर थे। मृतक महिपाल के भाई ने बताया कि समायोजन रद्द होने के बाद से ही उनका भाई काफी परेशान था।

जिसके कारण उसने अपनी जान दे दी। शिक्षा मित्र की मौत की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। महिपाल के एक परिजन ने बताया कि भोजीपुरा के गांव अटापट्टी जनूबी के रहने वाले महिपाल अखिलेश सरकार में शिक्षा मित्र से सहायक अध्यापक बने थे और उनकी तैनाती बहेड़ी के भूला भकावा गांव में हुई।

महिपाल का स्कूल उनके गांव से 60 किलोमीटर दूर पर था जिसके वजह से महिपाल ने बहेड़ी में किराए पर कमरा लिया था लेकिन समायोजन रद्द होने के बाद वो अपने गांव में रहने लगा। रोजाना बाइक से स्कूल जाने में काफी खर्च होता था और बचत के नाम पर कुछ नही बचता था। जिससे महिपाल काफी परेशान रहने लगा था और यह महसूस करने लगा की उसके कारण उसका परिवार परेशान हो रहा था। इसी कारण महिपाल ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story