Top

भाजपा से सीधी लड़ाई लड़ेंगे शिवपाल, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व उमा पर हमला

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Nov 2018 3:58 PM GMT

भाजपा से सीधी लड़ाई लड़ेंगे शिवपाल, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व उमा पर हमला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : सपा मुखिया अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव नीत प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) भाजपा से सीधी लड़ाई लड़ेगी। पार्टी के प्रवक्ता दीपक मिश्रा ने बीजेपी को शत्रु नम्बर एक करारते हुए कहा है कि भाजपा की सोच साम्प्रदायिक है। केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का बयान देश की समरस संस्कृति के विपरीत और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का बयान हास्यास्पद है।

दीपक मिश्रा ने कहा है कि सामरिक, वैदेशिक, आर्थिक व वैचारिक मोर्चों पर पूर्णतया असफल होने के बाद भाजपा सामाजिक सद्भाव बिगाड़ने की सियासत करने लगी है। उमा भारती व दिनेश शर्मा के बयान भ्रम फैलाकर स्वार्थ-पूर्ति करने वाले हैं। हर सच्चा भारतीय चाहे वो हिन्दू हो या मुसलमान, सहिष्णुता व समरसता में आस्था रखता है। मंदिर के पास मस्जिद या मस्जिद के पास मंदिर बनने से हिन्दू न कभी असहिष्णु हुआ है न होगा।

उन्होंने कहा कि उमा भारती देश के मुसलमानों को प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से धमकाना बन्द करें। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का बयान कि क्या राम की मूर्ति लंका में बनेगा? उनकी अज्ञानता और षडयंत्रकारी सोच को दर्शाता है। लंका में लगभग 30 लाख हिन्दू हैं जो पूरी आबादी के 12.6 प्रतिशत के बराबर हैं। लंका में भगवान राम की लाखों मूर्तियां स्थापित व पूजित हैं। ऐसा मूर्खतापूर्ण बयान देकर उन्होंने भारत व लंका के बीच भ्रम फैलाने का निंदनीय कार्य किया है। ऐसे बचकाने बयान से भाजपा नेताओं को बचना चाहिए, इससे जनता में राजनेताओं का मजाक बनता है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story